• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अर्थव्यवस्था पर अब कांग्रेस को दोष नहीं दे पाएंगे मोदी

By Bbc Hindi
लोकसभा सत्र
Getty Images
लोकसभा सत्र

हिंदुस्तान टाइम्स के संपादकीय में सत्रहवीं लोकसभा के पहले सत्र को लेकर लिखा है कि ये लोकसभा कई वजहों से ख़ास है. इस बार दोनों सदनों में सत्ताधारी पार्टी के स्पीकर और डिप्टी स्पीकर होंगे. एक बार फिर नेता विपक्ष नहीं होंगे. लेकिन फिर भी आम सहमति बनाना एक चुनौती होगी.

इतने बड़े जनमत को सरकार दो तरह से इस्तेमाल कर सकती है. या तो वो विपक्ष को साइडलाइन कर अपना एजेंडा लागू करे या जहां सहमति नहीं है वहां जनता को मनाने की कोशिश करे. महिला आरक्षण बिल और प्रदूषण ऐसे मुद्दे हैं. इस बार मोदी सरकार से प्रदूषण पर कोई नीति-कानून लाने की अपेक्षा है.

साथ ही इस बार अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर नरेंद्र मोदी के पास कांग्रेस को दोषी ठहराने की गुंजाइश नहीं होगी.

ऐसे बहुत से मुद्दे होंगे जहां सरकार को विरोध झेलना पड़ेगा जैसे एनआरसी बिल, आर्टिकल 370 और 35ए को हटाने की कोशिश. इस बार अयोध्या पर जो सुप्रीम कोर्ट का जो फैसला आएगा, उसके नतीजे को भी सरकार को झेलना होगा.

उद्धव ठाकरे
Getty Images
उद्धव ठाकरे

इंडियन एक्सप्रेस ने छापा है कि शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने रविवार को दोबारा अपने 18 सांसदों के साथ रामलला के दर्शन किए. उन्होंने कहा, "सरकार को कानून लाना चाहिए और मंदिर बनाना चाहिए. सभी को पता है कि शिव सेना और बीजेपी दोनों हिंदूत्ववादी हैं. ये सरकार हिंदुओं को और मज़बूत करेगी."

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में लोगों की इच्छा का सम्मान करना चाहिए और देश के लोग यहां मंदिर चाहते हैं तो यहां मंदिर ज़रूर बनेगा.

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक अयोध्या के संत समाज कि प्रतिक्रिया है कि अगर उद्धव दर्शन के लिए आए हैं तो ठीक है, मगर इसे राजनीतिक अखाड़ा न बनाएं. वहीं, मुस्लिम समाज ने इसे क़ानून का 'मजाक उड़ाना' बताया है.

पति को पेड़ से बांधकर महिला से गैंगरेप

महिलाएं
BBC
महिलाएं

उत्तर प्रदेश के रामपुर में पति के साथ जा रही एक महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है. 11 जून की इस घटना का वीडियो भी वायरल हो गया है. अमर उजाला की एक रिपोर्ट के मुताबिक अभियुक्तों ने पति को पेड़ से बांध दिया और उसके सामने ही पत्नी से गैंगरेप किया.

सहमे हुए दंपती ने घटना की जानकारी पुलिस को नहीं दी. इसी बीच वीडियो वायरल होने के बाद वो पुलिस अधीक्षक से मिले और मामला दर्ज कराया. अभी तक इस मामले में कोई अभियुक्त गिरफ़्तार नहीं हो सका है. हालांकि पुलिस का कहना है कि गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई है.

स्विस बैंक
Getty Images
स्विस बैंक

अमर उजाला की ख़बर के मुताबिक़ कालेधन के खिलाफ कार्रवाई की दिशा में स्विस बैंक खाताधारकों पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है.

स्विस बैंक ने 50 भारतीय के नाम सार्वजनिक किए हैं जिनका धन वहां जमा है. स्विस अधिकारियों ने कहा कि कुछ सालों से वह कालेधन की पनाहगाह वाली छवि को सुधारने के लिए काम कर रहे हैं.

स्विस सरकार ने कुछ लोगों के पूरे नाम की जगह केवल शुरुआती अक्षर बताए हैं, साथ ही कुछ लोगों के पूरे नाम भी.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Modi can not blame Congress on economy now
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X