• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नाबालिग के साथ 7 लोगों ने किया यौन शोषण, पीड़िता ने दी जान, पिता की आत्महत्या की कोशिश के बाद दर्ज हुआ केस

|

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के कोंडगांव जिले में नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। आरोप है कि लड़की के साथ 20 जुलाई को सात लोगों ने गैंगरेप किया था, जिसके बाद लड़की ने आत्महत्या कर ली। घटना के दो महीने बाद भी मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की। पीड़िता के पिता ने जब इस घटना से आहत होकर आत्महत्या की कोशिश की तब जाकर मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि पीड़िता पड़ोस के गांव में शादी में गई थी, इसी दौरान उसके साथ पास के जंगल में कई घंटो तक रेप किया गया।

rape

बस्तर रेंज के आईजी पी सुंदरराज शुरुआती जानकारी के अनुसार लड़की अपने रिश्तेदार के घर शादी में गई थी, इसी दौरान दो नशे में धुत्त लोगों ने लड़की के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया। जिसके बाद पांच और लोग वहां आए और उन्होंने भी लड़की के साथ कई घंटों तक रेप किया। पुलिस ने बताया की पीड़िता ने ने अपने दोस्त से बताया था कि अगर वह इस घटना के बारे में किसी को बताती है तो आरोपियों ने उसे जान से मारने की धमकी थी। आईजी ने बताया कि जब आरोपी पीड़िता को वापस शादी में लेकर आए तो वह शांत थी, वह अपने गांव जल्दी आ गई और किसी से कुछ नहीं बताया। जिसके बाद 20 जुलाई को लड़की ने आत्महत्या कर ली।

आईजी ने बताया कि स्थानीय पुलिस ने आत्महत्या के मामले की जांच नहीं की और उन्होंने घरवालों से कहा कि वह अगर आप जानते हैं कि लड़की ने यह कदम क्यों उठाया तो इस बारे में हमसे संपर्क करें। कई दिन बाद लड़की के दोस्त ने परिवार को गैंगरेप के बारे में बताया। जिसे सुनकर परिवार वाले दंग रह गए। लेकिन उन्हें यह नहीं पता था कि अब केस किया जा सकता है या नहीं जब लड़की की मौत हो गई है। कानून की जानकारी नहीं होने की वजह से परिवार ने पुलिस से संपर्क नहीं किया। दो महीने के बाद लड़की के पिता ने आत्महत्या की कोशिश की, लेकिन उनकी जान बच गई।

वहीं पुलिस का कहना है कि उन्हें इस बाबत जानकारी नहीं थी कि लड़की के साथ गैंगरेप किया गया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस ने पिता से वादा किया था कि वह इस मामले में केस दर्ज करेंगे लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। अब लड़की के शव को वापस कब्र से निकालकर उसे अटॉप्सी के लिए भेजा गया है। राष्ट्रीय बाल अधिकार सुरक्षा कमीशन के चेयरपर्सन यशवंत जैन ने इस घटना के बाद कोंडगांव के एसपी को पत्र लिखा है और स्थानीय पुलिस इंस्पेक्टर के खिलाफ एफआईआर नहीं दर्ज करने के मामले में कार्रवाई करने की मांग की है। इस मामले में कमीशन ने 10 दिन के भीतर विस्तृत जांच रिपोर्ट तलब की है।

इसे भी पढ़ें- TikTok स्टार और सोशल मीडिया पर मशहूर प्रतीक खतरी की सड़क हादसे में मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Minor girl physically assaulted by 7 men in Chhattisgarh police file case after father tried to end his life.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X