• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पाकिस्तान में नाबालिग हिंदू लड़की का जबरन धर्मांतरण, निकाह के बाद महिला संरक्षण केंद्र भेजा

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली- पाकिस्तान में 15 साल की एक हिंदू लड़की को जबरन इस्लाम धर्म कबूल कराकर एक मुस्लिम के साथ जबर्दस्ती निकाह कराए जाने का मामला सामने आया है। घटना पाकिस्तान के सिंध प्रांत की है। पाकिस्तानी अधिकारियों के मुताबिक फिलहाल उस नाबालिग लड़की को वहां की एक अदालत ने महिला संरक्षण केंद्र में भेज दिया है। गौरतलब है कि सिंध प्रांत में ही सबसे ज्यादा हिंदुओं की आबादी है, जहां से आए दिन ऐसी वारदातों की खबरें आती रहती हैं।

Minor Hindu girl in Pakistan sent to Womens Protection Center after forced conversion - marriage

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में महक कुमारी नाम की एक हिंदू लड़की को जकोबाबाद जिले से अली रजा सोलंगी नाम के एक मुस्लिम आदमी ने जबरन अगवा कर लिया। महक नौवीं क्लास की छात्रा है। बाद में अली ने उसके साथ जबर्दस्ती निकाह कर लिया। महक के पिता विजय कुमार की ओर से दर्ज एफआईआर के मुताबिक उनकी बेटी सिर्फ 15 साल की है और उसे सोलंगी ने अगवा करके जबरन निकाह किया है। पाकिस्तान की एक अदालत के अधिकारियों के मुताबिक मंगलवार को महक और सोलंगी को अदालत में पेश किया गया जहां से उस बच्ची को पुलिस सुरक्षा में महिला संरक्षण केंद्र में भेज दिया गया है। यानि उसके परिजनों के हवाले नहीं किया गया है। वैसे कोर्ट ने चंडका मेडिकल कॉलेज अस्पताल को उस लड़की की उम्र के संबंध में अगले 3 फरवरी तक एक रिपोर्ट दर्ज करने को भी कहा है।

पाकिस्तानी एक्प्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक सिंध के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री हरी राम किशोरी लाल ने महक के परिवार वालों को पूरी सहायता का भरोसा दिया है। लाल ने ये भी कहा है कि नाबालिग हिंदू लड़कियों का जबरन धर्मांतरण अब एक सामान्य घटना हो गई है। उन्होंने ये भी कहा है कि हिंदू ही सिंध प्रांत के सबसे पुराने निवासी हैं और यहां की मिट्टी से उनकी जिंदगी और मौत जुड़ी रही है। उन्होंने अधिकारियों से हिंदू लड़कियों पर होने वाली ज्यादतियों के खिलाफ कदम उठाने की भी गुहार लगाई है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी कानून के मुताबिक महक 18 साल की नहीं हुई है, इसलिए उसका निकाह गैरकानूनी है। मतलब साफ है कि पाकिस्तान के मंत्री भी हिंदुओं पर होने वाली ज्यादतियों को रोकने में खुद को कमजोर पा रहे हैं।

बता दें कि सिंध प्रांत में ही अधिकतर पाकिस्तानी हिंदू रहते हैं, जिनकी लड़कियों को अगवा करना और उनका धर्मांतरण करना वहां की एक बड़ी समस्या बन चुकी है।

इसे भी पढ़ें- दोषियों को फांसी की सजा में देरी पर CJI बोबडे की बड़ी टिप्पणी, सिर्फ अभियुक्तों का ही अधिकार नहीं....इसे भी पढ़ें- दोषियों को फांसी की सजा में देरी पर CJI बोबडे की बड़ी टिप्पणी, सिर्फ अभियुक्तों का ही अधिकार नहीं....

English summary
Minor Hindu girl in Pakistan sent to Women's Protection Center after forced conversion - marriage
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X