• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Robots की मदद से डॉक्टरों को कोविड से बचाने वाले राजीव करवाल का कोरोना के चलते हुआ निधन

|

नई दिल्ली, 12 मई। वर्तमान में भारत कोरोना वायरस महामारी का सबसे बुरा प्रकोप झेल रहा है, कोविड के चलते अब तक लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके है। इस मुश्किल समय में हर तरफ से बुरी खबरें ही सुनने को मिल रही हैं, बुधवार को कोरोना ने देश की एक और बड़ी हस्ती को हमसे छीन लिया। लगभग एक हफ्ते तक वेंटिलेटर सपोर्ट पर रहने के बाद मिलग्रो रोबोट्स के संस्थापक और चेयरमैन राजीव करवाल ने आज (12 मई) अंतिम सांस ली।

दिल्ली के एम्स अस्पताल में थे भर्ती

दिल्ली के एम्स अस्पताल में थे भर्ती

कोरोना वायरस की चपेट में आए राजीव करवाल को तीबयत बिगड़ने के बाद दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह एलजी, ओनिडा, फिलिप्स और इलेक्ट्रोलक्स में अपने ब्रांड-बिल्डिंग प्रयासों के लिए जाने जाते थे। करवाल इंडियन इलेक्ट्रॉनिक्स जगत में अपने योगदान के लिए जाने जाते थे। आपको बता दें कि साल 1997 में एलजी कॉर्प को भारत लाने वाले राजीव करवाल ही थी।

2007 में मिलग्रो की स्थापना की

2007 में मिलग्रो की स्थापना की

उन्होंने 2007 में मिलग्रो की स्थापना की इससे पहले उन्होंने एक साल के लिए रिलायंस डीजिटल के अध्यक्ष और सीईओ के रूप में भी काम किया। राजीव करवाल ने मिलग्रो रोबोट्स की स्थापना मैनेजमेंट कंसल्टेंसी के लिए की थी लेकिन साल 2012 तक कंपनी ने रेसिडेंशियल और इंडस्ट्रियल इस्तेमाल के लिए रोबोट बनाना भी शुरू कर दिया था। कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भी राजीव करवाल के बनाए रोबोट्स काफी मददगार साबित हुए हैं। इस रोबोट्स का इस्तेमाल अस्पतालों में डॉक्टरों की मदद के लिए किया जाने लगा है।

कोरोना के खिलाफ तैयार की रोबोट की सेना

कोरोना के खिलाफ तैयार की रोबोट की सेना

आपको बता दें कि दिल्ली एम्स के डॉक्टरों और हेल्थ केयर वर्कर्स को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए कोविड वार्ड में पहला हॉस्पिटल ह्यूमनॉइड ईएलएफ तैनात किया गया था। आईएमटी गाजियाबाद से पढ़ाई पूरी करने वाले राजीव करवाल अपने शानदार करियर के दौरान कई कंपनियों में काम किया। उन्होंने ओनिडा इलेक्ट्रॉनिक्स में मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव के तौर पर करियर की शुरुआत की थी, बाद में उन्हें डिप्टी जनरल मैनेजर बना दिया गया।

मोस्ट पावरफुल सीईओ में बनाई जगह

मोस्ट पावरफुल सीईओ में बनाई जगह

इसके बाद राजीव करवाल ने किशनचंद चेलाराम ग्रुप के लिए स्पेन में काम किया, यहां से वह फिर सूर्या रोशनी लिमिटेड में आ गए। साल 2004 में उन्होंने ईटी मोस्ट पावरफुल सीईओ की लिस्ट में भी जगह बनाई। इतना ही नहीं भारत के टॉप 25 यंग राइजिंग स्टार्स की अपनी पहली लिस्टिंग में राजीव बिजनेस टुडे के कवर पेज पर भी थे। राजीव करवाल के निधन से उद्योग जगत को बड़ा झटका लगा है। बड़ी-बड़ी हस्तियां उन्हें भावुक श्रद्धांजलि दे रही हैं।

यह भी पढ़ें: एक्ट्रेस संभावना सेठ का छलका दर्द- बच सकती थी मेरे पापा की जान, उनको सिर्फ कोरोना ने नहीं मारा

English summary
Milagrow Robots founder Rajeev Karwal dies due to Coronavirus
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X