• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

महबूबा मुफ्ती ने कहा- जमात-ए-इस्लामी पर बैन लगाने के हो सकते हैं गंभीर परिणाम

|

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को जमात-ए-इस्लामी पर बैन लगाने के फैसले पर कहा कि इसके बेहद गंभीर परिणाम होंगे। महबूबा मुफ्ती ने रिपोर्टरों से बातचीत करते हुए कहा कि आप किसी विचारधारा या विचार को कैद कर नहीं रह सकते। कश्मीर के गांवों व शहरों में रहने वाले ऐसे हजारों कश्मीरी हैं, जो जमात से जुड़े हुए हैं। यह एक सामाजिक-धार्मिक संगठन है।

Mehbooba Mufti says banning the Jamaat-e-Islami will have dangerous ramifications

भाजपा पर साधा निशाना

उन्होंने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि जमात-ए-इस्लामी पर बैन के खतरनाक प्रभाव होंगे। बीजेपी ऐसा करके जम्मू-कश्मीर को खुली जेल में तब्दील कर रही है। जमात द्वारा संचालित स्कूलों में पढ़कर बच्चे परीक्षाओं में अच्छा स्थान लेकर आते हैं। क्या होगा जब आप उनके स्कूल बंद कर दोगे? उन्होंने कहा कि जब हम जम्मू-कश्मीर में उनके साथ सत्ता में थे, तो हमने ऐसे कदम का विरोध किया था। मुफ्ती ने आगे कहा कि भाजपा-पीडीपी गठबंधन के दौरान राज्य की मुख्यमंत्री और गृहमंत्री रहते हुए उन्हें कभी भी आतंकवादियों के साथ जमात के संबंध के बारे में कोई भी विश्वसनीय खुफिया जानकारी नहीं मिली। देश में ऐसा माहौल बनाया जा रहा है जिसमें कश्मीरियों को पीटने और उनका शोषण करने करने पर जश्न मनाया जाता है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है और ऐसा लगता है कि इस पर नियंत्रण करने वाला कोई नहीं है। महबूबा ने आगे कहा कि भारतीय वायु सेना के पायलट अभिनंदन वर्तमान के भारत वापस आने के बाद लगा कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत शुरू हो जाएगी। लेकिन भारत में अभी भी युद्ध को भड़काया जा रहा है। गौरतलब है कि जम्‍मू एवं कश्‍मीर में जमात-ए-इस्लामी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है।

जमात-ए-इस्लामी पर कार्रवाई

गुरुवार को इस संगठन पर -ए-इस्लामी पर कार्रवाई बैन लगाए जाने के बाद सरकार ने जमात-ए-इस्लामी करते हुए उसके 70 खाते सील कर दिए थे। इस कार्रवाई में हजार से ज्यादा धार्मिक संस्थान भी सील कर दिए गए थे और जमात-ए-इस्लामी के 200 मेंबर हिरासत में ले लिए गए थे। बता दें कि हाल ही में गृह मंत्रालय को पता चला कि जमात-ए-इस्लामी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकियों को कश्मीर घाटी में बड़े स्तर पर फंडिंग करता था। वहीं शुक्रवार को 350 से ज्यादा सदस्यों को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया था। जमाती का संगठन घाटी में 400 स्कूल, 350 मस्जिदें और 1000 सेमिनरी चलाता है। संगठन पर बैन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा पर एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद गृह मंत्रालय द्वारा प्रतिबंध को लेकर अधिसूचना जारी की गई।

जम्मू-कश्मीर में जमात-ए-इस्लामी पर बड़ी कार्रवाई, हजार से ज्यादा धार्मिक संस्थान सील

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mehbooba Mufti says banning the Jamaat-e-Islami will have dangerous ramifications
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X