• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

MEA प्रवक्ता ने कहा एलएसी पर शांति को लेकर जल्द ही भारत-चीन के बीच वार्ता आयोजित कर हल निकालेंगे

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने बताय कि भातर और चीन के बीच हुई वार्ता में भारत ने अपनी बात स्पष्टता से रखी थी, उस बैठक में दोनों देशों के भीच तनाव कम करने के लिए गहन चर्चा भी हुई, हालांकि अभी ये वार्ता किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है यही कारण है कि दोनों देश जल्‍द ही एक बार और वार्ता करेंगे। वहीं पाकिस्‍तान की जेल में बंद कुलभूषण को लेकर भी विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने बयान जारी किया ।

MEA

अनुराग श्रीवास्‍तव ने बताया कि गुरुवार को बताया कि 8 नवंबर को अंतिम भारत-चीन वार्ता दोनों पक्षों के बीच एक स्पष्ट और एक गहन चर्चा हुई थी। हमने एक दूसरे को जल्द ही एक और वार्ता करने और मुद्दों को हल करने के लिए प्रतिबद्ध किया है।

इसके अलावा पाकिस्‍तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव के बारे में प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव ने बताया कि पाकिस्‍तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव पर इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस के 2019 के फैसले पर अब तक पाकिस्तान ने कार्रवाई नहीं की है। हमारा मानना है कि आईसीजे के फैसले को अच्छी भावना से लागू किया जाना चाहिए। बता दें पाकिस्तान दावा करता आया है कि कुलभूषण जाधव को पाकिस्‍तानी सुरक्षाबलों ने 2016 में ईरान से प्रवेश करने के बाद बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया था वहीं भारत पाकिस्‍तान के इस दावे को लगातार खारिज करता आ रहा है भारत के अनुसार कुलभूषण जाधव का ईरान से अपहरण किया गया था जहां वो नौसेना से रिटायर होने के बाद अपने निजी कार्य से चहां रुके थे।

वहीं अनुराग श्रीवास्तव ने आगे कहा भारत का एक सिख जत्था गुरु नानक देव जी की 551 वीं जयंती के अवसर पर 27 नवंबर से 1 दिसंबर तक ननकाना साहिब का दौरा करेगा।

पाकिस्‍तान द्वारा लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर नियंत्रण रेखा के पार घुसपैठियों को पाकिस्तानी सेना को समर्थन देने के लिए भारत के विदेश मंत्रालय (एमईए) ने पड़ोसी देश को 2003 के संघर्ष विराम समझौते की याद दिलाई। गुरुवार की सुबह जम्मू में नाकाम किए गए आतंकवादी हमले पर टिप्पणी करते हुए, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने दावा किया कि पाकिस्तान घुसपैठियों को समर्थन प्रदान करना जारी रखता है और पाकिस्तानी बलों के समर्थन के बिना सीमा पार हथियारों की आपूर्ति आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देना संभव नहीं है। जम्मू और कश्मीर में सुरक्षा बलों ने गुरुवार सुबह चार आतंकवादियों को निष्प्रभावी कर दिया, जो IJ जम्मू के अनुसार, डीडीसी चुनावों से पहले एक बड़े हमले की योजना बना रहे थे।

MEA के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, "पाकिस्तान की सेना घुसपैठियों को समर्थन कवर फायर प्रदान करने में लगी रहती है। आतंकवादियों की लगातार घुसपैठ, हथियारों को आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए जारी रहती है। एलओसी पर तैनात पाकिस्तानी बलों का समर्थन के बिना यह गतिविधियां बिना नियंत्रण के संभव नहीं हैं।"

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने यह भी उल्लेख किया कि मंत्रालय ने 14 नवंबर को पाकिस्तानी दूत को तलब किया था और उसने युद्धविराम उल्लंघन का कड़ा विरोध दर्ज कराया था। "हमने भारत में सीमा पार आतंकवादी घुसपैठ के लिए पाकिस्तान के निरंतर समर्थन का भी विरोध किया था और हमने फिर से पाकिस्तान को अपनी द्विपक्षीय प्रतिबद्धता को याद दिलाया था कि वह किसी भी क्षेत्र को भारत के खिलाफ आतंकवाद के लिए किसी भी मामले में इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देगा।"

अमिताभ बच्‍चन से शख्‍स ने पूछा- आप दान क्यों नहीं करते, तो बिग बी ने दिया ये करारा जवाबअमिताभ बच्‍चन से शख्‍स ने पूछा- आप दान क्यों नहीं करते, तो बिग बी ने दिया ये करारा जवाब

English summary
Foreign Ministry Spokesperson spoke about India-China talks and Kulbhushan Jadhav
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X