• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लड़कियों की इंस्टाग्राम तस्वीर से छेड़छाड़ करने वाले कई गिरफ्तार, रेप को प्रोत्साहन देने का आरोप

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। सोशल नेटवर्किंग साइट्स इंस्टाग्राम पर मौजूद 'Bois Locker Room' नामक एक इंस्टाग्राम ग्रुप पर इंस्टाग्राम पर अपलोड किए जा रहे महिलाओं और नाबालिग लड़कियों की फोटो और वीडियो के दुरूपयोग करने के मामले सामने आए हैं। मामले में साइबर सेल आरोपी ग्रुप के कई सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

girls

दक्षिण दिल्ली के तीन युवा लड़कों द्वारा चलाए जा रहा इंस्टाग्राम ग्रुप बिना अनुमति के महिलाओं और उनमें से कई नाबालिग लड़कियों की छवियों को साझा करता है और उन तस्वीरों को और भद्दे कमेंट्स, स्लट-शेडिंग और बॉडी शेमिंग के साथ शेयर किया जाता है।

girls

एक Tweet से कार निर्माता कंपनी टेस्ला को हुआ 14 अरब डॉलर का नुकसान, घंटों में गिरा बाजार भावएक Tweet से कार निर्माता कंपनी टेस्ला को हुआ 14 अरब डॉलर का नुकसान, घंटों में गिरा बाजार भाव

दरअसल, इस समूह के खिलाफ की हरकतों को इंस्टाग्राम पर मौजूद कुछ महिलाओं द्वारा उजागर किया गया था। उन्होंने उक्त मुद्दे को पिछले दो दिनों में समूह के सदस्यों, वकीलों और सुरक्षा एजेंसियों के सामने भी उठाया। निस्का नागपाल के नामक एक इंस्टाग्राम उपयोगकर्ता ने इंस्टाग्राम पर समूह को उजागर करने वाले लोगों में से एक थी।

girls

30 साल का हो गया हबल स्पेस टेलीस्कोप, देखिए अंतरिक्ष से जारी शानदार तस्वीरें30 साल का हो गया हबल स्पेस टेलीस्कोप, देखिए अंतरिक्ष से जारी शानदार तस्वीरें

नागपाल ने बताया कि समूह काफी समय से सक्रिय है और उसके इंस्टाग्रेम पेज कम उम्र की महिलाओं की छवियों से भरा हुआ था, जिनमें से कई को यह पता नहीं था कि उनकी छवियों का उपयोग किया जा रहा है। जब महिलाओं ने समूह के सदस्यों को कार्रवाई के लिए धमकाना शुरू किया, तो कुछ ने कथित तौर पर उनकी नग्न तस्वीरों को लीक करने की धमकी दी। समूह के कब्जे में मौजूद कोई भी तस्वीर या चित्र उन्हें सहमति से हासिल नहीं किया गया था।

girls

क्या भारत भी गूगल और फेसबुक को पारंपरिक मीडिया से अपने प्रॉफिट शेयर करने को कहेगा?क्या भारत भी गूगल और फेसबुक को पारंपरिक मीडिया से अपने प्रॉफिट शेयर करने को कहेगा?

'बोइस लॉकर रूम' में महिला सदस्यों के साथ ही एक दूसरा सहायता समूह भी था, जिन्होंने बाद में कई अपराधियों को बचाने के प्रयास भी किए। अपराधियों के खिलाफ किए पोस्ट वायरल होने के बाद जब मामले ने तूल पकड़ा तो कई और समूह के खिलाफ आक्रोश में शामिल हो गए, जिन्होंने बलात्कार की संस्कृति को सामान्य बनाने के लिए समूह की आलोचना की। उनके कृत्य को गैर कानूनी बताते हुए उन्होंने कहा कि चूंकि यह चाइल्ड पोर्नोग्राफी उपक्रम के तहत आता है, जो किसी की गोपनीयिता पर एक हमला है।

क्या आपके Gmail एकाउंट में भी आए हैं ऐसे दावों वाले मेल? गूगल ने 18 मिलियन मैलवेयर का पता लगायाक्या आपके Gmail एकाउंट में भी आए हैं ऐसे दावों वाले मेल? गूगल ने 18 मिलियन मैलवेयर का पता लगाया

इंस्टाग्राम पर मौजूद साइबर सेल के जांचकर्ता सुभम सिंह ने शुरू की जांच

इंस्टाग्राम पर मौजूद साइबर सेल के जांचकर्ता सुभम सिंह ने शुरू की जांच

मामले की तूल पकड़ने के बाद बाद इंस्टाग्राम पर मौजूद साइबर सेल के जांचकर्ता सुभम सिंह ( @Shubhamcybercop) ने जांच शुरू की और आरोपित समूह के कुछ सदस्यों की संपर्क जानकारी को तलाशने में कामयाब रहे।

आईटी अधिनियम की धारा 66 ए के तहत कई आरोपी गिरफ्तार किए गए

आईटी अधिनियम की धारा 66 ए के तहत कई आरोपी गिरफ्तार किए गए

ताजा अपडेट के अनुसार, समूह के कुछ सदस्यों को साइबर टीम द्वारा धमकाने के लिए आईटी अधिनियम की धारा 66 ए के तहत गिरफ्तार किया गया है। हालांकि ग्रुप के खिलाफ महिलाओं ने बलात्कार संस्कृति को प्रोत्साहन देने का भी आरोप लगाया था

यह पहली बार नहीं है जब बलात्कार की संस्कृति पर चर्चा हो रहीहै

यह पहली बार नहीं है जब बलात्कार की संस्कृति पर चर्चा हो रहीहै

यह पहली बार नहीं है जब भारत में बलात्कार की संस्कृति व्यापक रूप से चर्चा का विषय रही है। वास्तव में, सोशल मीडिया पर कई महिलाएं और नारीवादी अक्सर सोशल मीडिया पर विभिन्न रूपों में विषाक्त मर्दानगी और मिथ्याचार प्रदर्शन के बारे में शिकायत करती हैं। लोगों ने फिल्मों, गानों और पॉप संस्कृति के खिलाफ भी शिकायत की है जो ऐसे ऑनलाइन समुदायों के लिए महिलाओं के ऑब्जेक्ट ब्लॉक के रूप में प्रचारित करती है।

एक इंस्टाग्राम यूजर ने ग्रुप के काले कारनामों को सबसे पहले उजागर किया

एक इंस्टाग्राम यूजर ने ग्रुप के काले कारनामों को सबसे पहले उजागर किया

निस्का नागपाल के नामक एक इंस्टाग्राम उपयोगकर्ता ने इंस्टाग्राम पर समूह को उजागर करने वाले लोगों में से एक थी। नागपाल ने बताया कि समूह काफी समय से सक्रिय है और उसके इंस्टाग्रेम पेज कम उम्र की महिलाओं की छवियों से भरा हुआ था, जिनमें से कई को यह पता नहीं था कि उनकी छवियों का उपयोग किया जा रहा है।

English summary
The Instagram group run by three young boys from South Delhi shares images of women and many of them minor girls without permission, and those photos are shared with more lewd comments, slut-shedding and body shaming. The antics against the group were exposed by some women on Instagram. He also raised the above issue with the group members, lawyers and security agencies in the last two days.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X