• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

15000 सैलरी पर भर्ती किए बेरोजगार युवक, टारगेट दिया- रोज एक डकैती

|
Google Oneindia News

Robbery

जयपुर। कंपनी में काम कराने के लिए नौकरी पर रखने की बात तो आपने खूब सुनी होगी, लेकिन जयपुर में एक शख्स ने चोरी करने के लिए लोगों को नौकरी पर रखा। 21 साल के एक शख्स ने 6 बेरोजगार लोगों चोरी-डकैती के लिए 15-15,000 की सैलरी पर रखा और रोजाना 1 डकैती का टारगेट दिया। पुलिस ने गैंग के लीडर समेत सभी 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनके पास से भारी मात्रा में लूट का सामान बरामद हुआ है।

बेरोजगार लोगों को चोरी करने के लिए नौकरी पर रखा

बेरोजगार लोगों को चोरी करने के लिए नौकरी पर रखा

जयपुर पुलिस ने डकैती करने वाले एक गैंग को पकड़ा है। हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक जयपुर पूर्व के डिप्टी कमिश्नर गौरव यादव ने बताया कि 21 वर्षीय आशीष मीणा ने 6 बेरोजगार लोगों को चोरी-डकैती के लिए नौकरी पर रखा था। इसके लिए उसने इन सभी को 15-15,000 सैलरी देने का वादा किया था और रोजाना एक चोरी करने का टारगेट रखा था। पुलिस ने मंगलवार को मोबाइल फोन, गोल्ड चेन और मोटरसाइकिल चोरी के आरोप में सभी को गिरफ्तार किया।

VIDEO: अगर आप भी मंगाते हैं ऑनलाइन खाना, तो जरूर देखें ये वीडियोVIDEO: अगर आप भी मंगाते हैं ऑनलाइन खाना, तो जरूर देखें ये वीडियो

इस तरह आए पुलिस की पकड़ में

इस तरह आए पुलिस की पकड़ में

ये गैंग जवाहर सर्किल एरिया, शिवदासपुरा, खो नागोरियां, सनागनेर में काफी सक्रिय था। इन जगहों में लगे सीसीटीवी फुटेज और चोरी हुए मोबाइल फोन की मदद से पुलिस ने गैंग की लोकेशन ट्रेस की। रविवार को पुलिस को सूचना मिली की पूरा गैंग प्रताप नगर में छिपा बैठा है, जहां रेड मारकर पुलिस ने सभी को गिरफ्तार किया। पुलिस को आरोपियों के पास से 33 मोबाइल फोन, 1 लैपटॉप, 2 सोने की चेन, 4 मोटरसाइकिल बरामद हुई है। गैंग के मेंबर लूट का सारा सामान लीडर आशीष को जमा कराते थे, जो इन्हें बेचकर पैसा कमाता था।

हर महीने मिलती थी 15 हजार सैलरी

हर महीने मिलती थी 15 हजार सैलरी

डिसीपी ने बताया कि गैंग के सभी लोग अनपढ़ और बेरोजगार हैं। आशीष ने इन्हें अपराध करने के लिए प्रतिमाह सैलरी पर रखा था। अगर गैंग के लोग किसी दिन वारदात को अंजाम देने में असफल रहते थे, तो लीडर उनकी एक दिन की सैलरी काट लेता था। इन सभी को जुलाई में काम पर रखा गया था और तब से लेकर अब तक ये 36 वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। इनकी पहचान नंदराम मीणा (20), इंदराज बैरवा (19), खलिल (24), लखन मीणा (22), कपिल मीणा (20) और सलमान खान (23) के रूप में हुई है।

महिला के होठों के इशारे से पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय ने भांप लिया खतरा और उसके बाद...महिला के होठों के इशारे से पिज्जा डिलीवरी ब्वॉय ने भांप लिया खतरा और उसके बाद...

English summary
Man In Jaipur Recruited Jobless Men For Robbing Mobile Phones And Gold Chains On Monthly Salaries.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X