• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लोकसभा में जमकर बरसे शशि थरुर, बोले- कोरोना की वजह से सरकार को मुंह छिपाने का बहाना मिल गया है

|

नई दिल्‍ली। लोकसभा में विपक्ष ने भारत में कोविड -19 संकट के प्रबंधन पर चर्चा करते हुए मोदी सरकार को जमकर घेरा। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने रविवार को कहा, "मैंने अपना मास्‍क उतारकर इस सरकार का मुखौटा उतारने का अब जिम्मा ले लिया है।

इस बीमारी की वजह से सरकार को मुंह छिपाने का बहाना मिल गया है

इस बीमारी की वजह से सरकार को मुंह छिपाने का बहाना मिल गया है

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा, "वैसे इस बीमारी की वजह से सरकार को मुंह छिपाने का बहाना मिल गया है"। शशि थरूर ने लोकसभा में कहा, "सरकार देश को अनलॉक भी कर रही है, क्योंकि मामले सामने आ रहे हैं। लॉकडाउन तब उठाया जा रहा है जब हम 54 लाख मामलों की ओर बढ़ रहे हैं और तब लॉकडाउन लगाया था जब हमारे पास 564 मामले थे।"

सदन में बोले सभापति वैंकेया नायडू ‘‘मेरी मानो नहीं तो दफा हो'' वाला रवैया मैं स्वीकार नहीं करूंगा

सरकार की मध्यप्रदेश में सरकार की दिलचस्पी ज्यादा थी

सरकार की मध्यप्रदेश में सरकार की दिलचस्पी ज्यादा थी

कांग्रेस नेता ने बताया कि भारत अब किस तरह से डेली कोरोना मामालों और सबसे अधिक मौतों की संख्या वाला देश बन गया है। "डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों के आधार पर, 19 सितंबर को भारत में अमेरिका में 42,000 की तुलना में 93,331 मामले दर्ज किए गए, अमेरिका में 800 की तुलना में 2,247 की अतिरिक्त मौतें हुईं। थरुर ने कहा सरकार ने जनता को धोखा दिया कि जिसने इन्‍हें चुना। "जनवरी की शुरुआत में वायरस वुहान में उत्पन्न हुआ था और जितना हमने सोचा था उससे कहीं अधिक जटिल और संभावित विनाशकारी था।" उन्होंने कहा, "राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के बजाए मध्यप्रदेश में सरकार की दिलचस्पी ज्यादा थी। वर्तमान में, सत्तारूढ़ डिस्पेंस ने वायरस के प्रसार पर रोक लगाने के लिए एक राष्ट्रीय रणनीति के कार्यान्वयन में देरी करना जारी रखा।

शशि थरुर का तंज- सरकार ने पूरी तरह से NDA का नया अर्थ दे दिया है "No data available"

 जब 564 मामले थे तब लॉकडाउन लगाया गया और अब 55 लाख केस में अनलॉक कर दिया गया

जब 564 मामले थे तब लॉकडाउन लगाया गया और अब 55 लाख केस में अनलॉक कर दिया गया

"पीएम ने देश में फैली आपदा की तुलना महाभारत के कुरुक्षेत्र से की। उन्होंने कहा कि जीत से पहले 18 दिन लग गए, जीत हासिल करने से पहले कोविड वायरस से निपटने में 21 दिन लगेंगे, 108 दिन बीत चुके हैं। थरूर ने अपने 20 मिनट के भाषण में कहा, "सरकार देश को तब भी अनलॉक कर रही है जब मामले सामने आ रहे हैं। लॉकडाउन, जब हमारे पास 564 मामले थे, तब उठाया जा रहा है जब हम 54 लाख मामलों की ओर बढ़ रहे हैं।"

हम न तो वायरस को रोकने में कामयाब रहे हैं और न ही ....

हम न तो वायरस को रोकने में कामयाब रहे हैं और न ही ....

आर्थिक मंदी पर बोलते हुए, थरूर ने कहा, "जून में, श्रम आयोग ने अनुमान लगाया कि 26 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिक देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए हैं। अन्य लोगों ने मार्च के बाद से तीन करोड़ से अधिक श्रमिकों के रिवर्स प्रवास का अनुमान लगाया है।"लॉकडाउन ने हमारी अर्थव्यवस्था ध्वस्त हो गई। हम न तो वायरस को रोकने में कामयाब रहे हैं, न ही अर्थव्यवस्था को बचाए रखने में कामयाब रहे।

अधीर रंजन चौधरी ने स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री से पूछा ये सवाल

अधीर रंजन चौधरी ने स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री से पूछा ये सवाल

इस बीच, कांग्रेस नेता और लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, "यह सरकार अभी भी यह नहीं मानती है कि भारत सामुदायिक प्रसारण देख रहा है। सोचें कि हमारे देश में मौतों की रिपोर्टिंग के तहत गंभीर है। चौधरी ने कहा, "अगर सरकार के पास यह अनुमान नहीं है कि कोविड महामारी में कितने डॉक्टरों या स्वास्थ्यकर्मियों की जान चली गई, तो यह महामारी अधिनियम 1897 और आपदा प्रबंधन अधिनियम को लागू करने का नैतिक अधिकार खो देता है।" इसके अलावा, उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से पूछा "कोविड -19 के खिलाफ लड़ने के लिए कब वैक्सीन तैयार होने की संभावना है?"

इस जगह पर मास्‍क न पहनने वाले लोगों से खुदवाई जा रही कोरोना मृतकों के लिए कब्र

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In the Lok Sabha, the NDA has surrounded the opposition, Shashi Tharoor said - because of Corona, the government has got an excuse to hide
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X