• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत-रूस ने 28 समझौतों पर किए हस्ताक्षर, आतंकवाद और लद्दाख समेत कई मुद्दों पर चर्चा

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 07 दिसंबर: 21वें भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन के दौरान भारत और रूस ने सोमवार को आपसी साझेदारी और बढ़ाने के लिए 28 समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के शिखर सम्मेलन के बाद विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने इस बात की जानकारी दी। दोनों देशों ने आतंकवाद से खतरा एवं अफगानिस्तान में उभरती स्थिति जैसी बड़ी चुनौतियों से निपटने में सहयोग व समन्वय बढ़ाने का संकल्प लिया। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच शिखर वार्ता को 'काफी सफल' करार दिया।

List of 28 agreements MoUs signed during the 21st India Russia Annual Summit in Delhi

दोनों देशों के बीच व्यापार, ऊर्जा, संकृति, बौद्धिक संपदा और शिक्षा समेत कई क्षेत्रों में समझौते हुए हैं। पीएम मोदी और राष्ट्रपति पुतिन की मुलाकात के बाद हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच बेहतरीन चर्चा हुई है। उन्होंने बताया कि समझौता ज्ञापनों के अलावा 10 सालों के लिए रक्षा क्षेत्र में सहयोग पर भी दोनों देशों के बीच सहमति बनी है, जो कि 2021 से 2031 तक के लिए होगी।

विदेश सचिव ने कहा कि वार्ता के दौरान ऊर्जा के क्षेत्र में रणनीतिक सहयोग के बारे में भी विस्तार से चर्चा हुई। उन्होंने यह भी कहा कि आतंकवाद से निपटने पर भी जोर दिया गया और दोनों पक्षों ने इसे साझा हितों वाला क्षेत्र करार दिया। श्रृंगला ने कहा कि दोनों पक्षों ने सीमा-पार आतंकवाद से लड़ने की आवश्यकता पर भी बल दिया। यह पूछे जाने पर कि क्या भारत ने पूर्वी लद्दाख गतिरोध का मुद्दा उठाया या नहीं? इस पर विदेश सचिव ने कहा कि भारत की सुरक्षा संबंधी सभी चिंताओं पर चर्चा हुई।

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि दोनों पक्षों के बीच कई क्षेत्रों में संधि समेत 28 समझौते किए गए। यह पूछे जाने पर कि क्या भारत ने पूर्वी लद्दाख गतिरोध का मुद्दा उठाया या नहीं? इस पर विदेश सचिव ने कहा कि भारत की सुरक्षा संबंधी सभी चिंताओं पर चर्चा हुई। विदेश सचिव ने कहा कि वार्ता के दौरान ऊर्जा के क्षेत्र में रणनीतिक सहयोग के बारे में भी विस्तार से चर्चा हुई। उन्होंने यह भी कहा कि आतंकवाद से निपटने पर भी जोर दिया गया और दोनों पक्षों ने इसे साझा हितों वाला क्षेत्र करार दिया। श्रृंगला ने कहा कि दोनों पक्षों ने सीमा-पार आतंकवाद से लड़ने की आवश्यकता पर भी बल दिया। भारत और रूस ने अगले 10 वर्षों के लिए रक्षा क्षेत्र में सहयोग के एक कार्यक्रम पर भी हस्ताक्षर किए है।

India Russia Summit 2021: पीएम मोदी-व्लादिमीर पुतिन के बीच चर्चा की सभी प्रमुख बातेंIndia Russia Summit 2021: पीएम मोदी-व्लादिमीर पुतिन के बीच चर्चा की सभी प्रमुख बातें

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि हम रूस के साथ अपनी बौद्ध से सबंधित मुद्दों पर संबंध गहन करने पर विचार कर रहे हैं। रूस में 15 मिलियन बौद्ध हैं। यह समुदाय तीर्थयात्रा और अन्य कारणों से भारत आने का इच्छुक है। इसलिए दोनों देशों बीच सांस्कृतिक सहयोग महत्वपूर्ण है। दोनों नेताओं की शिखर वार्ता से पहले दिन में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उनके रूसी समकक्ष सर्गेई शोयगु के बीच वार्ता हुई थी। इससे अलग, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव के साथ वार्ता की। इसके बाद दोनों देशों के रक्षा और विदेश मंत्रियों ने 'टू प्लस टू' वार्ता की।

English summary
List of 28 agreements MoUs signed during the 21st India Russia Annual Summit in Delhi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X