• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भरे मंच पर लिंगायत स्वामी वाचानंद पर भड़के येदियुरप्पा, बोले-छोड़ दूंगा CM पद, लालची नहीं हूं मैं

|
Google Oneindia News

बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा है कि वो सीएम पद के लोभी नहीं हैं और वो कभी भी इस्तीफा दे सकते हैं, दरअसल मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान लिंगायतों के पंचमाली संप्रदाय के संत स्वामी वचनानंद ने मांग कि भाजपा के विधायक मुरुगेश निरानी को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाए, नहीं तो वे समुदाय के क्रोध का सामना करेंगे। इस बात पर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा भरे मंच पर स्वामी पर भड़क गए और उन्होंने मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ने की बात कह दी।

'छोड़ दूंगा CM पद, लालची नहीं मैं'

दरअसल येदियुरप्पा लिंगायत समाज के एक कार्यक्रम में मंगलवार को हरिहर पहुंचे थे, मंच पर लिंगायत समाज के संत स्वामी वचनानंद भी मौजूद थे, स्वामी वचनानंद ने सीएम के साथ हजारों लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मुरुगेश निरानी चट्टान की तरह आपके साथ खड़े हैं। उसे मंत्रिमंडल में शामिल करें, अन्यथा पंचमाली लिंगायत आपको समर्थन नहीं करेगा।

यह पढ़ें: Nirbhaya: दोषी मुकेश ने डेथ वारंट को दिल्ली HC में दी चुनौती, सुनवाई आजयह पढ़ें: Nirbhaya: दोषी मुकेश ने डेथ वारंट को दिल्ली HC में दी चुनौती, सुनवाई आज

'पंचमाली लिंगायत की धमकी'

दरअसल येदियुरप्पा लिंगायत समाज के एक कार्यक्रम हरिहर पहुंचे थे, मंच पर लिंगायत समाज के संत स्वामी वचनानंद भी मौजूद थे, स्वामी वचनानंद ने सीएम के साथ हजारों लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मुरुगेश निरानी चट्टान की तरह आपके साथ खड़े हैं। उसे मंत्रिमंडल में शामिल करें, अन्यथा पंचमाली लिंगायत आपको समर्थन नहीं करेगा।

येदियुरप्पा को आया गुस्सा

जिसे सुनते ही येदियुरप्पा को गुस्सा आ गया और वो अपनी सीट से तुरंत उठे और स्वामी को कहा कि उन्हें कोई खतरा नहीं है, आप सलाह दे सकते हैं लेकिन धमकी नहीं दे सकते, मैं सत्ता का लोभी नहीं और इसलिए मैं इस्तीफा दे सकता हूं, सीएम के गुस्से के देखकर स्वामी ने उन्हें शांत कराने की कोशिश की, हालांकि, लोगों और स्वामी जी के समझाने पर येदियुरप्पा मान गए।

येदियुरप्पा ने कहा-मैं सत्ता का आदी नहीं

येदियुरप्पा ने कहा-मैं सत्ता का आदी नहीं

बाद में लोगों को संबोधित करते हुए, येदियुरप्पा ने कहा कि कुछ मंत्रियों सहित 17 विधायकों ने बलिदान दिया है और वो वनवास में हैं या तो मेरे कार्यकाल के शेष तीन वर्षों को सफलतापूर्वक पूरा करने में मेरी सहायता करें, अन्यथा मैं इस्तीफा दे दूंगा क्योंकि मैं सत्ता का आदी नहीं हूं।

भाजपा के पासविधानसभा में 117 सीटों का पूर्ण बहुमत

मालूम हो कि भाजपा के पास 225 सदस्यीय विधानसभा में 117 सीटों का पूर्ण बहुमत है, पार्टी को उपचुनावों में 15 में से 12 सीटें अपने नाम की है। बीजेपी हाईकमान को येदियुरप्पा के सभी 11 बागी विधायकों को शामिल करना मजबूरी है।

येदियुरप्पा हमारे लिए पिता के समान हैं: मुरुगेश निरानी

येदियुरप्पा हमारे लिए पिता के समान हैं: मुरुगेश निरानी

बाद में, मुरुगेश निरानी ने मीडिया से कहा कि येदियुरप्पा हमारे लिए पिता के समान हैं। अगर वह कुछ कहते हैं तो भी यह हमारे हित में होगा, उन्होंने यह विश्वास भी जताया कि भाजपा सरकार अपना पूरा कार्यकाल पूरा करेगी, फिलहाल इस पूरे प्रकरण पर बाद में सीएम येदियुरप्पा ने कहा कि मंत्री पद को लेकर किसी भी तरह का कोई भी मतभेद कहीं नहीं है।

यह पढ़ें: Jamia Violence: कुलपति अख्तर ने खटखटाया HRD मंत्रालय का दरवाजा, 'उच्च स्तरीय जांच' की मांग कीयह पढ़ें: Jamia Violence: कुलपति अख्तर ने खटखटाया HRD मंत्रालय का दरवाजा, 'उच्च स्तरीय जांच' की मांग की

English summary
Losing his temper at a public event on Tuesday, Karnataka Chief Minister BS Yediyurappa got up and almost walked off the stage until he was persuaded to stay by the Lingayat seer, Vachanananda Swami.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X