• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'किसान विरोधी हैं केंद्र के कृषि विधेयक', शिरोमणि अकाली दल ने राष्ट्रपति से लगाई गुहार

|

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के कृषि विधेयकों को लेकर शिरोमणि अकाली दल के नेताओं ने सोमवार को दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के नेतृत्व में दिल्ली पहुंचे नेताओं ने राष्ट्रपति से अनुरोध किया कि वो राज्यसभा में पास हुए कृषि विधेयकों पर हस्ताक्षर ना करें। आपको बता दें कि दो प्रमुख कृषि विधेयकों को भारी हंगामे के बीच रविवार को राज्यसभा में पास किया गया था। ये विधेयक लोकसभा में पहले ही पास किए जा चुके हैं और राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद ये कानून बन जाएंगे।

'किसान विरोधी हैं केंद्र के कृषि विधेयक'

'किसान विरोधी हैं केंद्र के कृषि विधेयक'

राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद सुखबीर सिंह बादल ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'केंद्र सरकार के कृषि विधेयक पूरी तरह से किसान विरोधी हैं और इन्हें जबरन राज्यसभा में पास कराया गया है। हमारी पार्टी के नेताओं ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर निवेदन किया है कि वो इन विधेयकों पर हस्ताक्षर ना करें और इन्हें वापस संसद में भेज दें।' इससे पहले शनिवार को सुखबीर सिंह बादल ने कहा था कि जब तक केंद्र इन विधेयकों को वापस नहीं लेता, तब तक सरकार से कोई बात नहीं की जाएगी।

'लोकतंत्र का अर्थ आम सहमति है, नाकि बहुमत के साथ उत्पीड़न'

'लोकतंत्र का अर्थ आम सहमति है, नाकि बहुमत के साथ उत्पीड़न'

गौरतलब है कि दो कृषि विधेयकों को राज्यसभा में रविवार को पास किया गया था। इन विधेयकों के पास होने के बाद सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि आज देश के करोड़ों लोगों और लोकतंत्र के लिए एक दुखद दिन है। इस मुद्दे पर सुखबीर सिंह बादल ने रविवार को ट्वीट करते हुए कहा, 'हम राष्ट्रपति से आग्रह करते हैं कि वो देश के किसानों, मजदूरों, आढ़तियों, मंडी में काम करने वाले गरीब लोगों और दलितों की ओर से इस मामले में हस्तक्षेप करें, अन्यथा ये लोग हमें कभी माफ नहीं करेंगे। लोकतंत्र का अर्थ आम सहमति है, नाकि बहुमत के साथ उत्पीड़न करना।'

    Agriculture Bill 2020: सड़कों पर किसान तो विपक्ष का 25 September को बंद का ऐलान | वनइंडिया हिंदी
    हरसिमरत कौर दे चुकी हैं कैबिनेट से इस्तीफा

    हरसिमरत कौर दे चुकी हैं कैबिनेट से इस्तीफा

    आपको बता दें कि केंद्र के कृषि विधेयकों के विरोध में शिरोमणि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर पहले ही केंद्रीय कैबिनेट से इस्तीफा दे चुकी हैं। शिरोमणि अकाली दल के अलावा 12 अन्य विपक्षी पार्टियों ने भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात के लिए समय मांगा है। वहीं, इन विधेयकों के समर्थन में सरकार का कहना है कि कृषि में सुधार से जुड़े ये बिल किसान को मंडी के अलावा अपनी उपज बाहर भी बेचने की आजादी देंगे और इससे किसानों की आय बढ़ेगी।

    ये भी पढ़ें- कृषि विधेयकों के खिलाफ दिल्ली में कांग्रेस का 'हल्ला बोल', हिरासत में लिए गए कई नेता

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Leaders Of Shiromani Akali Dal Met With President, Requested Not To Sign Agricultural Bills.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X