• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

हाईकोर्ट में वकील ने उतार दिया मास्क, जज ने सुनवाई से ही कर दिया इनकार

|

मुंबई: पूरा देश कोरोना महामारी के खिलाफ जंग लड़ रहा है। जिसमें महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है। मौजूदा वक्त में वहां पर रोजाना के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं, जिस वजह से सरकार ने सभी से कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की अपील की थी। इस मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट भी काफी सख्त है, जहां एक वकील ने सुनवाई के दौरान कोर्ट में मास्क उतार दिया। जिस पर कोर्ट इतना नाराज हुआ कि उसने सुनवाई करने से ही इनकार कर दिया।

corona

जानकारी के मुताबिक 22 फरवरी को जस्टिस पृथ्वीराज चव्हाण की एक पीठ में एक मामले की सुनवाई हो रही थी। इस दौरान याचिकाकर्ता के वकील ने मुंह पर से मास्क हटा दिया। जिस पर कोर्ट ने तुरंत इसे कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन माना और सुनवाई वहीं पर रोक दी। जस्टिस चव्हाण ने कोर्ट की ओर से तय गाइडलाइन का हवाला देते हुए कहा कि सुनवाई के दौरान पूरे वक्त मास्क लगाना अनिवार्य है। याचिकाकर्ता के वकील ने इस नियम को तोड़ा है, जिस वजह से अब सुनवाई अगली तारीख को होगी। कोर्ट के आदेश में कहा गया कि इस मामले को बोर्ड से हटा दिया जाए।

कोरोना टीकाकरण: दूसरे चरण की तैयारी पूरी, इन 20 बीमारी वाले लोगों को मिलेगी प्राथमिकता

आपको बता दें कि महाराष्ट्र कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित है। अभी पुणे को छोड़कर हाईकोर्ट और अन्य निचली अदालतों में कामकाम पहले की तरह बहाल हो गया है। वहीं दूसरी ओर राज्य में मामले फिर तेजी से बढ़ने लगे हैं। पिछले तीन दिनों की बात करें तो वहां पर रोजाना 8000 से ज्यादा मामले रिकॉर्ड किए गए हैं। इसके साथ ही महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 21,46,777 हो गई है, जिसमें 52,092 की मौत हुई है, जबकि 20,20,951 ठीक हो चुके हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Lawyer removed mask in Bombay High Court, judge refuses hearing
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X