• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मल्टी बैरल रॉकेट लांचर 'पिनाका' का निर्माण करेंगे L&T और टाटा, 5000 करोड़ रुपए की डील साइन

|

नई दिल्ली। रक्षा मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए मल्टी बैरल रॉकेट लांचर पिनाका की मैन्युफैक्चरिंग के लिए निजी क्षेत्र की कंपनी एलएंडटी और टाटा के साथ 5000 करोड़ रुपए के अनुमानित रक्षा सौदे पर सोमवार को हस्ताक्षर किए है। स्वदेशी पिनाका मल्टी बैरल रॉकेट लांचर का निर्माण के लिए हुए इस सौदे पर हस्ताक्षर निजी उद्योग के लिए बड़ा बढ़ावा देता है। यह सौदा आने वाले महीनों में कई सौ रोजगार पैदा करेगा।

pinaka

मुकेश अंबानी ने फ्यूचर ग्रुप की डील से सील किया रिटेल क्षेत्र का बिग बाजार, क्या पारंपरिक व्यापार को अलविदा कहेगी RIL?मुकेश अंबानी ने फ्यूचर ग्रुप की डील से सील किया रिटेल क्षेत्र का बिग बाजार, क्या पारंपरिक व्यापार को अलविदा कहेगी RIL?

एलएंडटी और टाटा एयरोस्पेस एंड डिफेंस करेगा पिनाका का निर्माण

एलएंडटी और टाटा एयरोस्पेस एंड डिफेंस करेगा पिनाका का निर्माण

निजी क्षेत्र की कंपनियों मसलन एलएंडटी और टाटा एयरोस्पेस एंड डिफेंस के पास जाएगा, जो कि 2017 से बन रहा था। हालांकि काम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई बीईएमएल के हिस्से भी गया है, जो रॉकेट लॉन्चरों के लिए ट्रकों की आपूर्ति करता है।

छह नई रेजिमेंटों में से 4 के निर्माण का ठेका एलएंडटी को दिया गया है

छह नई रेजिमेंटों में से 4 के निर्माण का ठेका एलएंडटी को दिया गया है

अनुबंध के मुताबिक छह नई रेजिमेंटों में से 4 के निर्माण का ठेका एलएंडटी को दिया गया है, जबकि शेष दो टाटा एयरोस्पेस एंड डिफेंस द्वारा बनाए जाएंगे। यह भारतीय सेना द्वारा निजी क्षेत्र की कंपनी को दिया गया अब तक का सबसे बड़ा रक्षा सौदों में से एक होगा।

स्वदेशी मल्टी बैरल रॉकेट लांचर पिनाका प्रोग्राम एक घरेलू रॉकेट लांचर है

स्वदेशी मल्टी बैरल रॉकेट लांचर पिनाका प्रोग्राम एक घरेलू रॉकेट लांचर है

स्वदेशी मल्टी बैरल रॉकेट लांचर पिनाका प्रोग्राम एक घरेलू रॉकेट लांचर है, जिसके दो रेजीमेंट्स पहले से ही सेवा में हैं और डीआरडीओ द्वारा निजी क्षेत्र को पिनाका की प्रणालियों के निर्माण के लिए प्रौद्योगिकी का हस्तांतरण सफलतापूर्वक कर दिया गया है।

निजी क्षेत्र द्वारा निर्मित रॉकेट इसी महीने सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया

निजी क्षेत्र द्वारा निर्मित रॉकेट इसी महीने सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया

निजी क्षेत्र द्वारा पूरी तरह से निर्मित पहले रॉकेट्स इसी महीने सेना द्वारा सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया है। पोकरण में एक फायरिंग रेंज में पिनाका रॉकेटों का परीक्षण किया गया और सटीक निशाने लगाकर वांछित परिणाम हासिल किए गए। रॉकेट का निर्माण इकोनॉमिक एक्सप्लोसिव्स लिमिटेड (ईईएल) द्वारा किया गया है और यह भारत में निजी क्षेत्र द्वारा बनाई गई अपनी तरह का पहला युद्ध सामग्री है।

DRDO द्वारा विकसित पिनाका पहले ही सेवाओं में प्रवेश कर चुकी है।

DRDO द्वारा विकसित पिनाका पहले ही सेवाओं में प्रवेश कर चुकी है।

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा एकीकृत निर्देशित मिसाइल विकास कार्यक्रम के हिस्से के रूप में विकसित पिनाका एक सभी मौसम, अप्रत्यक्ष आग, फ्री फ्लाइट, एरिया सैचुरेटेड हथियार प्रणाली है। पिनाका मल्टी-बैरल रॉकेट लॉन्चर वाहन में 12 ट्यूब, थ्री रिपिलेंशीमेंट व्हीकिल, एक लोडर-कम-रिपिलेंशीमेंट व्हीकिल और एक अग्नि नियंत्रण प्रणाली शामिल है। हथियार प्रणाली पहले ही सेवाओं में प्रवेश कर चुकी है।

विस्तारित रेंज गाइडेड पिनाका रॉकेट का भी सफलतापूर्वक परीक्षण किया

विस्तारित रेंज गाइडेड पिनाका रॉकेट का भी सफलतापूर्वक परीक्षण किया

DRDO ने विस्तारित रेंज गाइडेड पिनाका रॉकेट का भी सफलतापूर्वक परीक्षण किया है, जो 75 किमी की दूरी पर लक्ष्य को मार सकता है, जो कि 40 किमी की वर्तमान सीमा से 35 किमी अधिक रेंज है।

English summary
The Defense Ministry on Monday signed a defense deal estimated at Rs 5000 crore with private sector companies L&T and Tata for manufacturing the multi-barrel rocket launcher Pinaka for the Indian Army. The signing of the deal to manufacture the indigenous Pinaka multi-barrel rocket launcher gives a big boost to private industry. The deal would create several hundred jobs in the coming months.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X