• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भाव खा रहे प्‍याज ने निकाले लोगों के आंसू, जानिए कब कम हो रहे दाम ?

|
    Onion price 200 रुपये के पार, अब हो रही छापेमारी । वनइंडिया हिंदी

    बेंगलुरु। प्याज के चढ़ते दाम उतरने का नाम ही नहीं ले रहा। नयी प्याज की आमद शुरू भी हो चुकी है इसके बावजूद प्‍याज के दाम कम होने के बजाय और बढ़ते जा रहे हैं। अभी तक 100 रुपये किलो तक बिक रहे प्याज के दाम में एक बार फिर से तेजी आ चुकी है। प्रति किलो कीमत 180 रुपये पार पहुंच चुकी है। ऐसे में प्‍याज के दाम सुनकर ही प्‍याज बिना छीले ही लोगों को रुंला रही है। प्‍याज के साथ लहसुन के दाम भी 200 रुपये किलो तक पहुंच चुका है। यही कारण है कि प्‍याज के साथ लहसुन भी लोगों की रसोईं से दूर हो चुका है।

    onion

    बता दें सिंतबर माह से लेकर अब तक प्‍याज के दाम में लगभग छह गुना तक बढ़ोत्तरी हो चुकी है। सितंबर की शुरुआत में 25से 30 रुपये किलो बिकने वाली प्‍याज देश में 165 रुपये प्रतिकिलो बिक रही हैं। अनुमान था कि नयी प्‍याज की आमद शुरु होने के बाद प्‍याज की कीमत में गिरावट आएगी लेकिन दाम घटने के बजाय लगातार बढ़ते जा रहे है। ऐसे में खाने की थाली से प्‍याज गायब हो चुकी है। अब यह सवाल उठता है कि नयी प्‍याज की आमद आने के बाद भी अगर प्‍याज के दाम कम नहीं हुए तो आखिर फिर कब तक कम होगे ?

    विदेश से इस तारीख को पहुंचेगी प्‍याज की पहली खेप

    विदेश से इस तारीख को पहुंचेगी प्‍याज की पहली खेप

    बता दें बाजार में प्‍याज की किल्लत के कारण प्‍याज के दाम आसमान छू रहे हैं। इस किल्लत की खास वजह यह थी कि पिछले दो मौसम में खराब मौसम के चलते प्‍याज की फसल को काफी नुकसान हुआ। जिस कारण सितंबर से दामों में प्‍याज के दाम बढ़ने शुरु हो गए। प्‍याज की बढ़ी कीमतों से राहत देने के लिए केन्‍द्र सरकार प्‍याज विदेश से आयात की जाने की बात सामने आयी। इसके बावजूद फिलहाल प्‍याज के बढ़े दाम कम होने की दिसंबर माह में संभावना कम ही नजर आ रही है।क्योंकि भारत में विदेशों से आने वाली प्‍याज की पहली खेप जनवरी तक पहुंचने की उम्‍मीद है।

    ऐसे में देखा जाए तो नए साल के जनवरी माह में ही प्‍याज के दाम कम होने की संभावना है। विदेश से आने वाली पहली खेप के बारे में यह खुलासा शुक्रवार को राज्यसभा में सरकार ने किया। जिसमें उसने बताया कि देश में प्‍याज की अतिरिक्त मांग को पूरा करने के लिए सरकार व्‍यापार उपक्रम एमएमटीसी प्‍याज का आयाज कर रही है और इसकी पहली खेप 20 जनवरी2020 तक पहुंचने की उम्मीद है।

    क्यों बढ़े प्‍याज के दाम

    क्यों बढ़े प्‍याज के दाम

    राज्यसभा में शुक्रवार को खाद्य आपूर्ति राज्यमंत्री दानवे रावसाहेब दादाराव ने बताया कि देश में इस साल पहले बरसात की देर से शुरुआत होने और उसके बाद लगातार बारिश जारी रहने के कारण प्याज की फसल पर बहुत खराबअसर हुआ। इसकी वजह से देश में इस समय प्याज की कमी के कारण इसकी ऊंची कीमतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि इस स्थिति से निपटने के लिये सरकार ने बफर स्टॉक का भी इस्तेमाल किया है। गौरतलब है कि प्याज खरीद कर बफर स्टॉक बनाया था जिसमें से 26,735 टन प्याज का वितरण विभिन्न राज्यों व विक्रय करने वाली एजेंसियों को किया गया। इसके अलावा, 11,408 टन प्याज और निम्न कैटिगरी का था जिसे स्थानीय बाजारों में बेचा गया। बाकी प्याज या तो खराब हो गया या सूख गया।

    भारत में मंगाई जा रही मिस्र और तुर्की से प्‍याज

    भारत में मंगाई जा रही मिस्र और तुर्की से प्‍याज

    दादाराव ने बताया कि ''बफर स्टॉक के जरिये प्याज की आपूर्ति किये जाने के बाद एमएमटीसी ने तमाम देशों से प्याज का आयात किया है। मंत्री ने कहा कि मांग की तुलना में आपूर्ति नहीं हो पाने की स्थिति में उत्पादन में बढ़ोतरी और आयात करना ही विकल्प है। इसके 20 जनवरी तक भारत आ जाने की उम्मीद है। गौरतलब है कि एमएमटीसी ने मिस्र से 6,090 टन और तुर्की से 11,000 टन प्याज मंगाने का अनुबंध किया है।

    बता दें दिल्ली में बृहस्पतिवार को प्याज की कीमत 109 रुपये प्रति किग्रा बिकी लेकिन शुक्रवार को थोड़ी गिरावट दर्ज की गई। वहीं बेंगलुरु में शनिवार को प्‍याज का दाम 180 रुपये पहुंच चुका है, इसके अलावा देश की अन्‍य स्‍थानों में शुक्रवार को प्याज का दाम 165 रुपये प्रति किलो रहा।

    नयी फसल की आवक कम हो सकते हैं दाम

    नयी फसल की आवक कम हो सकते हैं दाम

    हालांकि भारत में सरकार द्वारा मंगाई जा रही प्‍याज आने में भले ही समय लगेगा लेकिन व्‍यापारियों के अनुसार बाजार में नयी प्‍याज आमन बढ़ी तो अपने आप प्‍याज के दाम गिर जाएंगे। व्‍यापारियों के अनुसार देश के प्रमुख प्याज उत्पादक प्रदेशों से नई फसलकी आवक जोर पकड़ने के कारण अगले सप्ताह से प्याज के बढ़ते दाम पर लगाम लग सकता है। दिल्ली मंडी के व्‍यापारियों के अनुसार ने अगले सप्ताह से गुजरात और महाराष्ट्र से प्याज की नई फसल की आवक शुरू होने वाली है जिसके बाद कीमतों में गिरावट आ सकती है। देशभर में प्याज की नई फसल की आवक अगले सप्ताह से जोर पकड़ेगी।

    उन्‍नाव केस: बचपन से एक दूसरे को जानते थे पीड़िता और आरोपी, रेप के बाद शादी के लिए राजी थे दोनों परिवार लेकिन...

    दिल्ली में भी क्या लगने वाला हैं भाजपा को ये झटका !

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    According to the government, onion prices will come down only after the onion imported from abroad. At the same time, but traders said this thing,
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more
    X