• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जानिए राम मंदिर के शिलान्यास से एक दिन पहले क्या बोले TV के 'राम', अरुण गोविल ने किया ये ट्वीट

|

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में कल यानी 5 अगस्त, 2020 को दिवाली जैसा उत्सव मनाने की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। लंबी कानूनी लड़ाई के बाद आखिरकार वह दिन आ ही गया है जब भारत के करोड़ों हिंदुओं का सपना पूरा होने को है। कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में बनाए जा रहे सबसे भव्य राम मंदिर का शिलन्यास करेंगे। इस बीच भूमि पूजन से ठीक एक दिन पहले टेलीवीजन के फेमस शो 'रामायण' में राम का किरदार निभाने वाले एक्टर अरुण गोविल की प्रतिक्रिया सामने आई है।

5 अगस्त के लिए अयोध्या तैयार

5 अगस्त के लिए अयोध्या तैयार

गौरतलब है कि पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन के लिए अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया गया है। उस दौरान देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई दिग्गज नेता वहां मौजूद होगी। भूमि पूजन की तैयारियों के बीच देशभर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है और कई स्थानों पर धारा-144 भी लागू कर दी गई है। कल होने वाले कार्यक्रम पर सिर्फ भारत की ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की नजरें टिकी हुई हैं।

एक्टर अरुण गोविल ने कही ये बात

एक्टर अरुण गोविल ने कही ये बात

राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर देश के कोने-कोने से रिएक्शन सामने आ रहे हैं इस बीच ट्विटर पर टीवी के 'राम' एक्टर अरुण गोविल का भी रिएक्शन देखने को मिला है। उन्होंने लिखा, 'अयोध्या में राममंदिर के लिए वर्षों तक लगातार संघर्ष करने वाले वरिष्ठजन और आगे उस लड़ाई को भूमिपूजन तक लेकर आने वाले सभी रामभक्तों को मेरा कोटि कोटि नमन। आप सबके महान प्रयासों से ही हमें ये दिन देखने का‌ सौभाग्य मिल रहा है। जय श्रीराम।'

अरुण गोविल के ट्वीट पर आए रिएक्शन

अरुण गोविल के ट्वीट पर आए रिएक्शन

अरुण गोविल के इस ट्वीट पर भर-भरकर लोग कमेंट कर रहे हैं, बता दें कि कोरोना लॉकडाउन में रामायण के फिर से प्रसारण के बाद दर्शकों ने इसे खूब प्यार दिया। इस बीच रामायण के कई किरदार, जो सोशल मीडिया से दूरी बनाकर रखते थे उन्होंने भी अपना ट्विटर अकाउंट बना लिया। एक्टर अरुण गोविल भी इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। अरुण को अक्सर समसामयिक मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय जनता के सामने पेश करते देखा जा सकता है।

पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने दिया था एतिहासिक फैसला

पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने दिया था एतिहासिक फैसला

बता दें कि बीते साल 9 नवंबर को देश के सर्वोच न्यायालय ने राम जन्म भूमि और बाबरी मस्जिद विवाद पर ऐतिहासिक फैसला सुनाया था। कोर्ट ने 100 साल से अधिक समय से चले आ रहे इस विवाद मामले में जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में संवैधानिक पीठ ने हिंदुओं के हक में फैसला दिया था। साथ ही कोर्ट ने सरकार को यह आदेश दिया था कि वह मुस्लिमों को मस्जिद के लिए अयोध्या में ही पांच एकड़ जमीन की व्यवस्था करे। हालांकि इस फैसले के बाद भी कई पुनर्विचार याचिकाएं दाखिल की गईं लेकिन सुप्रीम कोर्ट में सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया गया।

कार्यक्रम में कोरोना गाइडलाइन का रखा जाएगा ख्याल

कार्यक्रम में कोरोना गाइडलाइन का रखा जाएगा ख्याल

भूमि पूजन के भव्य कार्यक्रम को देखते हुए शहर की सुरक्षा व्यवस्था को काफी पुख्ता कर दिया गया है और किसी भी व्यक्ति को बिना निमंत्रण अयोध्या नहीं आने को कहा गया है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को तैयारियों का जायजा लिया। कोरोना महामारी को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भूमि पूजन का कार्यक्रम संपन्न होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई गणमान्य हस्तियां इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगी। जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी तकरीबन तीन घंटे तक अयोध्या में रहेंगे और इस दौरान मंदिर दर्शन, पूजा अर्चना आदि करेंगे।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में और आगे निकली दिल्ली, एक्टिव और पॉजिटिव दर में दिखी बड़ी गिरावट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Know what Arun Govil said a day before the foundation stone of Ram temple in ayodhya
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X