• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

हाथरस की पीड़िता को भी इंसाफ दिलाएंगीं निर्भया की चर्चित वकील सीमा, जानिए 10 बातें

|

नई दिल्ली। निर्भया का केस लड़ने वाली वकील सीमा समृद्धि हाथरस पहुंची हैं। हाथरस की पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सीमा ने उसका केस फ्री ऑफ कॉस्ट लड़ने का फैसला किया है। आपको दिसंबर 2012 की वो दिल दहला देने वाली घटना तो याद ही होगी, जब चलती बस में युवती के साथ गैंगरेप किया गया और फिर सड़क पर फेंक दिया गया था। इस घटना के बाद देश में बड़ा आक्रोश देखने को मिला था। इस केस के आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने में वकील सीमा समृद्धि की अहम भूमिका थी। वह निर्भया की ना तो रिश्तेदार थीं, न उनकी सहेली और न ही उनकी पड़ोसी। उन्होंने निर्भया के माता-पिता के साथ सात सालों तक एक लंबी और कड़ी लड़ाई लड़ी थी। आईए हम बताते कौन है सीमा समृद्धि....

यूपी के इटावा की रहने वाली हैं सीमा

यूपी के इटावा की रहने वाली हैं सीमा

1-वकील सीमा समृद्धि का असली नाम सीमा कुशवाहा है। वे उत्तर प्रदेश के इटावा जिले की लखना के पास के एक गांव की रहने वाली हैं। गरीब परिवार की सीमा कुशवाहा ने अभावों के बीच पढ़ाई की। शुरू की शिक्षा गांव और आसपास ही हुई। इसके बाद वह लखना कस्बे के कलावती रामप्यारी स्कूल में पढ़ने गईं और वहां से इंटर की पढ़ाई पूरी की।

2-सात-भाई बहनों में सीमा सबसे छोटी हैं। सीमा ने दिल्ली विश्वविद्यालय की स्नातक किया। उन्होंने 2014 में अपनी कानून की डिग्री पूरी की।

3- सीमा के निजी करियर की बात है, वह वकालत को प्राथमिकता नहीं देती थीं। वे आईएएस बनना चाहती थीं। इसके लिए उन्‍होंने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी भी की थी। लेकिन हालात ऐसे बदले कि उन्‍होंने वकालत के रूप में करियर की शुरुआत की।

सीमा के करियर का पहला केस था निर्भया का मामला

सीमा के करियर का पहला केस था निर्भया का मामला

4- लॉ इंटर्न सीमा ने निर्भया का मामला प्रकाश में आने के बाद राष्ट्रपति भवन के बाहर आयोजित विरोध प्रदर्शन में भाग लिया था। उसके बाद उन्होंने फैसला किया कि वह दोषियों को न्याय दिलाएगी।

5- उन्होंने 2014 में आधिकारिक तौर पर निर्भया के मामले को संभाला और फास्ट ट्रैक कोर्ट लेकर गईं।

6- यह उनका पहला मामला था और उन्होंने इसे मुफ्त में लड़ने का फैसला किया। उन्होंने निचली अदालत से लेकर सर्वोच्च अदालत तक दोषियों के खिलाफ लड़ाई लड़ी। सीमा कुशवाहा ने निर्भया केस के दरिंदों को सजा दिलाने के लिए एड़ी-चोटी की ताकत लगा दी। कानून के क्षेत्र में तमाम तिकड़मबाजी और तर्क-वितर्क से भरा यह केस आखिरी रात तक चला।

सुप्रीम कोर्ट में एक प्रैक्टिसिंग वकील हैं सीमा

सुप्रीम कोर्ट में एक प्रैक्टिसिंग वकील हैं सीमा

7-उसी वर्ष, वह 24 जनवरी को एक कानूनी सलाहकार के रूप में निर्भया ज्योति ट्रस्ट में शामिल हुईं।

8- फिलहाल वह दिल्ली में भारतीय सुप्रीम कोर्ट में एक प्रैक्टिसिंग वकील के रूप में काम करती हैं।

9-फिलहाल वह एक 11 वर्षीय लड़की के मामले को लड़ने की योजना बना रही है। बिहार के पूर्णिया में छह पुरुषों द्वारा सामूहिक बलात्कार और हत्या कर दी गई थी।

10-सीमा ने कुछ समय इलाहाबाद हाई कोर्ट में बिताया है। आर्थिक तंगी के चलते प्रौढ़ शिक्षा विभाग में अनौपचारिक शिक्षक के रूप में संविदा पर नौकरी भी की। सीमा ने मास कम्युनिकेशन की भी पढ़ाई की।

राहुल गांधी और प्रियंका को यूपी पुलिस ने हिरासत में लिया, जीप में बिठाकर ले जाया गया

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
know About Nirbhaya’s Lawyer Seema Kushwaha hathras incident
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X