• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पीड़िता की जांघों के बीच सेक्सुअल एक्ट भी बलात्कार: केरल हाईकोर्ट

|
Google Oneindia News

कोच्चि, 5 अगस्त: केरल हाईकोर्ट ने यौन शोषण से जुड़े मामले में एक अहम फैसला देते हुए कहा है कि पीड़िता की जांघों के बीच सेक्सुअल एक्ट करना भी बलात्कार ही है। केरल हाईकोर्ट की जस्टिस के विनोद चंद्रन और जस्टिस जियाद रहमान एए की खंडपीठ ने कहा कि जब पी‌ड़ित के शरीर को एक सनसनी पैदा करने के लिए छेड़ा जाता है, पीड़िता के पैरों को जोड़कर, जांघों में पेनेट्रेशन किया जाता है तो यह निश्चित रूप से बलात्कार के समान होगा। इसे आईपीसी की धारा 375(c) के तहत बलात्‍कार के बराबर माना जाएगा।

    Kerala High Court का आदेश- Victim Thighs के बीच की गई गलत हरकत भी बलात्कार के समान | वनइंडिया हिंदी
    kerala

    केरल हाईकोर्ट ने ये फैसला 2015 के एक मामले में दिया है। इस व्यक्ति पर अपनी 11 साल की पड़ोसी के रेप का आरोप था। सजा के खिलाफ आरोपी शख्स ने हाईकोर्ट में नई अर्जी डाली और सवाल किया कि थाइज के गैप के बीच पेनेट्रेशन रेप कैसे हो सकता है। अर्जी में कहा गया था कि धारा 375 में बलात्कार तभी माना गया है कि जब योनि, यूरेथ्रा, एनस और मुंह में पिनाइल पेनेट्रेशन हो। जांघों में की गई हरकत को बलात्कार नहीं कहा जा सकता है, क्योंकि वो छिद्र नहीं है। जिस पर बेंच ने माना कि जांघों में हरकत को भी बलात्कार ही कहा जाएगा।

    बच्ची को दर्द के बाद खुला था मामला

    2015 में ये मामला तब सामने आया था, जब पेट में लगातार दर्द के बाद बच्ची को उसकी मां डॉक्टर के पास लेकर गई तो जांच में सामने आया कि उसका पड़ोसी यौन शोषण कर रहा था। नाबालिग के साथ आरोपी ने बार-बार विभिन्न डिग्र‌ियों का यौन उत्पीड़न किया था। आरोपी शख्स को गिरफ्तार किया गया। निचली अदालत ने उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। सजा के खिलाफ आरोपी शख्स ने हाईकोर्ट में नई अर्जी डाली और सवाल किया कि थाइज के गैप के बीच पेनेट्रेशन रेप कैसे हो सकता है। कोर्ट ने सुनवाई के बाद निचली अदालत के फैसले को सही माना।

    हनी सिंह की पत्‍नी का दावा- शराब के नशे में कमरे में घुस आए ससुर, मेरे ब्रेस्‍ट को टच करने लगेहनी सिंह की पत्‍नी का दावा- शराब के नशे में कमरे में घुस आए ससुर, मेरे ब्रेस्‍ट को टच करने लगे

    English summary
    Kerala HighCourt big judgment Sexual Assault Between Thighs of Victim Amounts to Rape
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X