• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कठुआ रेप केस: कोर्ट के फैसले पर मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला ने कही ये बड़ी बात

|

पठानकोट। जम्मू-कश्मीर के कठुआ में पिछले साल आठ साल की मासूम से बलात्कार और हत्या के मामले में दोषी ठहराए गए सात आरोपियों में से छह को पठानकोट की एक विशेष अदालत ने आज सजा सुनाई। इस मामले के सातवें आरोपी विशाल को कोर्ट ने बरी कर दिया है। इस मामले में आरोपियों को दोषी करार दिए जाने के बाद जम्‍मू-कश्‍मीर की पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कोर्ट के फैसले का स्‍वागत करते हुए कहा कि उम्‍मीद है दोषियों को कड़ी सजा दी जाएगी।

Kathua rape case Verdict Mehbooba Mufti, Omar Abdullah Welcome the judgement

महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्वीट में लिखा, 'इस फैसले का स्वागत करती हूं। यह समय ऐसे घिनौने अपराधों पर राजनीति करने का नहीं है जहां एक 8 साल की बच्चों को नशीले पदार्थ दिए गए, उसका रेप किया गया और फिर मौत की नींद सुला दिया गया। उम्मीद है कि हमारी न्यायिक व्यवस्था की खामियों का फायदा नहीं उठाया जाएगा और दोषियों को ऐसी सजा दी जाएगी जो मिसाल बनेगी। महबूबा ने इस मामले में दूसरा ट्वीट भी किया। महबूबा ने दूसरे ट्वीट में लिखा कि, कठुआ मामले को लेकर राहत मिली, इस पूरा श्रेय क्राइम ब्रांच की टीम का नेतृत्व IGP मुजतबा, एसएसपी जाला, एडिशनल SP नावेद, डिप्टी एसपी श्वेताम्बरी, दीपिका राजावत और तालिब को जाता है। यहीं देश के उन सभी लोगों को भी इस श्रेय जाता है जो बच्ची के समर्थन में खड़े रहे।

वहीं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने इस फैसले को स्वागत करते लिए हुए लिखा कि, दोषियों को कानून के तहत कठोरत्तम सजा मिलनी चाहिए, और उन नेताओं ने जिन्होंने आरोपियों का बचाव किया, पीड़ितों को ही कठघरे में खड़ा किया, और लीगल सिस्टम को चुनौती दी उनके लिए आलोचना के कोई शब्द काफी नहीं हैं। बता दें कि, कोर्ट ने स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया, पुलिस ऑफिसर सुरेंद्र कुमार, रसाना गांव का परवेश कुमार, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर आनंद दत्ता, हेड कांस्टेबल तिलक राज और सांझी राम का भतीजा (जिसे नाबालिग बताया गया) को दोषी करार दिया गया है। जबकि सांझी राम के बेटे विशाल को बरी कर दिया गया।

बता दें कि, कठुआ में आठ साल की नृशंस बलात्कार और हत्या ने पिछले साल देश को झंकझोर कर रख दिया था। देश को स्तब्ध कर देने वाले इस मामले में बंद कमरे में सुनवाई 3 जून को पूरी हो गई थी। तब जिला और सत्र न्यायाधीश तेजविंदर सिंह ने घोषणा की थी कि 10 जून को फैसला आ जाएगा। पन्द्रह पन्नों के आरोपपत्र के अनुसार पिछले साल 10 जनवरी को अगवा की गयी आठ साल की बच्ची को कठुआ जिले के एक छोटे से गांव के मंदिर में कथित तौर पर बंधक बनाकर उसके साथ बलात्कार किया गया।

आरोपपत्र में कहा गया है कि, उसे चार दिन तक बेहोश रखा गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गयी। इस मामले का मास्टरमाइंड ग्राम प्रधान सांजी राम था। उसके अलावा स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजूरिया, सुरेंद्र वर्मा, हेड कॉन्स्टेबल, आनंद दत्ता और प्रवेश भी दोषी करार दिए गए हैं। दोषियों को कम से कम उम्रकैद और अधिकतम मौत की सजा सुनाई जा सकती है।

Kathua Rape-Muarder Case: कौन है विशाल जंगोत्रा,जिसे कोर्ट ने बरी किया?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kathua rape case Verdict Mehbooba Mufti, Omar Abdullah Welcome the judgement
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X