कठुआ रेप केस: सुनवाई पर आया मुख्य आरोपी सांझीराम बोला- ऊपर वाला सब देख रहा है

Subscribe to Oneindia Hindi

श्रीनगर। जम्मू और कश्मीर स्थित कठुआ में हुए रेप और फिर नृशंस हत्या के मामले की सुनवाई आज से CJM कोर्ट में शुरू हो गई है। इस दौरान सभी आरोपी अदालत लाए गए। बता दें कि कठुआ में एक 8 वर्षीय बच्ची का मंदिर में रेप किया गया था। अदालत में सुनवाई के दौरान पहुंचे एक आरोपी सांझी राम ने कहा कि ऊपर वाला सब देख रहा है। उसने कहा है कि अगर नार्को टेस्ट हो तो सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा। आरोपियों के वकील अंकुर शर्मा ने कहा कि कोर्ट ने इस बात का निर्देश दिया है कि चार्जशीट की कॉपी सभी आरोपियों को मुहैया कराया जाए। हम नार्को टेस्ट के लिए तैयार हैं। अब इस मामले की अगली सुनवाई 28 अप्रैल को होगी। वहीं दूसरी ओर कठुआ पीड़ित के परिजन सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं। वहां उन्होंने गुहार लगाई है कि मामले की सुनवाई राज्य के बाहर की जाए। परिजनों ने अपनी जान को खतरा बताया है। 

20 मार्च को क्राइम ब्रांच के समक्ष समर्पण किया था

20 मार्च को क्राइम ब्रांच के समक्ष समर्पण किया था

सांझी राम ने 20 मार्च को क्राइम ब्रांच के समक्ष समर्पण कर दिया था। वहीं उसके बेटे विशाल को उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने विशेष पुलिस अधिकरी दीपक खजूरिया ,हेड कांस्टेबल तिलक राज, सुरिंदर कुमार और सहायक पुलिस इंस्पेक्टर प्रवेश कुमार, को सबूत नष्ट करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। चार्जशीट के अनुसार पीड़िता के पिता ने 12 जनवरी को हीरानगर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें कहा गया था कि बेटी 10 जनवरी को जानवरों के लिए जंगल से घास लाने गई थी, जिसके बाद वो लौट कर नहीं आई।

चार्जशीट में कहा गया है कि...

चार्जशीट में कहा गया है कि...

चार्जशीट में कहा गया है कि जब सांझी राम ने कहा कि अब लड़की की हत्या कर उसे ठिकाने लगाना होगा तो विशेष पुलिस अधिकारी खजुरिया ने कहा कि इंतजार करो, मैं भी रेप करुंगा। सभी ने 8 वर्षीय बच्ची का रेप किया। इसके बाद उसकी हत्या कर दी। आरोपियों ने पीड़िता के सिर पर हमला कर उसकी हत्या की। इसके बाद उसका शव जंगल में फेंक दिया। चार्जशीट के अनुसार मामले की जांच कर रही पुलिस टीम ने रेप के आरोपी नाबालिग की मां से डेढ़ लाख रुपए उस बचाने के नाम पर घूस लिए।

सांझी राम ने कहा था कि

सांझी राम ने कहा था कि

इससे पहले सांझी राम ने कहा था कि अगर मैं इस मामले में दोषी पाया जाउं तो मुझे सामूहिक रूप से फांसी दे दी जाए। सांजी राम के परिवार के सदस्यों ने मीडिया की आलोचना करते हुए कहा कि पत्रकार बिना जांच के ही अपना फैसला दे रहे हैं। आरोपी सांजी राम के परिवार के सदस्य कठुआ जिले में एक पेड़ के नीचे इकट्ठा होकर इस मामले में निष्पक्ष एजेंसी से जांच की मांग कर रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kathua Rape case Jammu and kashmir cjm court hearing supreme court

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.