Kathua rape Case: पीड़िता की वकील दीपिका सिंह राजावत को सता रहा है रेप और मर्डर का खतरा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
    Kathua case में Victim की Lawyer ने जताई अपने साथ कुछ गलत होने की आशंका । वनइंडिया हिंदी

    श्रीनगर। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक पूरे देश को झकझोर देने वाले कठुआ गैंग रेप और मर्डर केस में अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है,पीड़ित परिवार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में कहा गया कि इस केस की सुनवाई जम्मू-कश्मीर से बाहर हो. कोर्ट ने याचिका स्वीकार कर ली है लेकिन इससे पहले पीड़िता की वकील दीपिका सिंह राजावत ने ये कहकर सबको चौंका दिया था कि उन्हें अपने साथ रेप और हत्या का डर सता रहा है।

    मेरा रेप हो सकता है, मेरी हत्या हो सकती है...

    दीपिका सिंह ने कहा कि मेरा रेप हो सकता है, मेरी हत्या हो सकती है। शायद मुझे कोर्ट में प्रैक्टिस न करने दी जाए। उन्होंने मुझे एकदम अलग कर दिया है और मैं नहीं जानती कि अब मैं यहां कैसे रहूंगी।

    मुझे हिंदू विरोधी कहते हुए सभी ने मेरा बहिष्कार कर दिया...

    मुझे हिंदू विरोधी कहते हुए सभी ने मेरा बहिष्कार कर दिया...

    मुझे हिंदू विरोधी कहते हुए सभी ने मेरा बहिष्कार कर दिया है। इसलिए मैंने जम्मू-कश्मीर से बाहर केस ट्रांसफर करने की मांग की है, इस मामले में मैं आज सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दी है।

    आठ आरोपियों के खिलाफ आज से सुनवाई

    आठ आरोपियों के खिलाफ आज से सुनवाई

    आपको बता दें कि कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची से गैंगरेप और उसके बाद उसकी निर्दयतापूर्वक हत्या कर देने के मामले में आज से कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई।कठुआ में 8 साल की बच्ची के रेप और मर्डर केस को राज्य से बाहर चंडीगढ़ की कोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू और कश्मीर सरकार से जवाब मांगा है। कोर्ट ने राज्य सरकार से 27 अप्रैल तक अपना जवाब देने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से पीड़ित परिवार और उनके वकील को भी सुरक्षा देने को कहा है।

    क्या है आरोप

    क्या है आरोप

    यह सुनवाई आठ आरोपियों के खिलाफ है, जिन पर एक बच्ची को इस साल के जनवरी में एक सप्ताह तक मंदिर में बंधक बनाकर गैंगरेप करने और फिर उसकी हत्या करने का आरोप है। इन 8 आरोपियों में एक नाबालिग भी है, आरोप है कि कठुआ के एक छोटे गांव के एक मंदिर का रखरखाव करने वाले शख्स सांजी राम ने विशेष पुलिस अधिकारी दीपक खजूरिया और सुरेंद्र वर्मा के साथ मिलकर बकरवाल समुदाय की 8 साल की लड़की को पहले किडनैप किया, फिर उसे मंदिर में बंधक बनाया और उसके बाद उसका रेप करके उसकी हत्या कर दी। ये सभी बकरवाल समुदाय को डराना चाह रहे थे और इसलिए इन्होंने इस काम को अंजाम दिया।

    यह भी पढ़ें: कठुआ गैंगरेप: जानिए कौन हैं 8 साल की मासूम का केस लड़ रहीं दीपिका राजावत

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    I don’t know till when I will be alive. I can be raped, my modesty can be outraged, I can be killed, I can be damaged. I am in danger said Deepika Rajawat

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.