• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कंगना रनौत का BMC पर तंज- "इतने तो पुलवामा में पाकिस्तान ने नहीं मरवाए जितने मासूमों को आपकी लापरवाही मार गयी"

|

मुंबई। अभिनेत्री कंगना रनौत और महाराष्‍ट्र सरकार के बीच जुबानी जंग अभी भी जारी है। सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले को लेकर कंगना रनौत और शिवसेना के बीच जुबानी बहस के ज्यादा आक्रामक हो जाने के बाद BMC ने 9 सितंबर को कंगना के दफ्तर पर बुलडोजर चला दिया था। जिसके बाद अभिनेत्री और मुंबई की शिवसेना सरकार के बीच ये विवाद और बढ़ गया यहां तक कि ये मामला अब कोर्ट पहुंच चुका है। वहीं महाराष्‍ट्र में 'भिवंडी में इमारत ढहने के कारण कई लोगों की जान चली गई इस मामले को लेकर कंगना रनौत ने महाराष्‍ट्र सरकार और बीएमसी पर तंज कसा है।

उस वक्त उतना ध्यान इस बिल्डिंग पर दिया होता तो आज वो 50 लोग जिंदा होते

उस वक्त उतना ध्यान इस बिल्डिंग पर दिया होता तो आज वो 50 लोग जिंदा होते

कंगना रनौत ने ट्वीट करते हुए लिखा- जब मेरा घर ग़ैर क़ानूनी तरीक़े से तोड़ रहे थे, उस वक्त उतना ध्यान इस बिल्डिंग पे दिया होता तो आज वो लगभग पचास लोग जीवित होते, इतने जवान तो पुलवामा में पाकिस्तान में नहीं मरवाए जितने मासूमों को आपकी लापरवाही मार गयी, भगवान जाने क्या होगा मुंबई का।

भाजपा नेता बोले- कंगना रनौत ने "ड्रग एडिक्ट" होने की बात स्वीकारी थी, NCB को ये भी जांच करनी चाहिए

तीन दिन पहले हुई थी ये घटना

तीन दिन पहले हुई थी ये घटना

गौरतलब है कि तीन दिन पहले महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के भिवंडी के पॉवरलूम कस्बे में हुआ था। सोमवार सुबह 3 बजे हुए हादसे में लगभग 41 लोगों की जान चली गई। महाराष्ट्र के ठाणे जिले के भिवंडी में इमारत ढहने की घटना को बॉम्बे हाई कोर्ट ने स्वतः संज्ञान लिया । इस घटना पर हाई कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए हादसे को बहुत गंभीर बताया है। मुख्य न्यायाधीश दत्त ने कहा कि भिवंडी की घटना में 41 लोग मारे गए थे और यह 'बेहद गंभीर' मसला है। इसी मामले को लेकर कंगना रनौत ने सरकार पर हमला बोला है।

निर्माण गिराने में देर नही की तो जवाब देने में देरी क्‍यों?

निर्माण गिराने में देर नही की तो जवाब देने में देरी क्‍यों?

वहीं कंगना रनौत के दफ्तर की तोड़फोड़ संबंधित मामले पर बुधवार को भी हाई कोर्ट ने सुनवाई कोर्ट ने टाल दी थी। बुधवार को कोर्ट ने भीषण बारिश के चलते सुनवाई नहीं करने का फैसला किया था। वहीं गुरुवार को कंगना के मुंबई स्थित बंगले में बीएमसी द्वारा अवैध निर्माण ढहाए जाने के मामले की सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी को जमकर फटकार लगाई । हाईकोर्ट ने बीएमसी से कहा ​है कि मानसून में आप टूटी इमारत को इस तरह से नहीं छोड़ सकते हैं। कोर्ट ने बीएमसी से कहा कि जब बंगला तोड़ने की बात आई थी तो आपने बहुत तेजी दिखाई थी लेकिन जब जवाब देने की बात आई तो आप लोग इतना सुस्त क्यों पड़ गए?

कंगना रनौत ने कोर्ट में सुनवाई के बाद किया ये ट्वीट

कंगना रनौत ने कोर्ट में सुनवाई के बाद किया ये ट्वीट

कंगना ने कोर्ट की सुनवाई के बाद अपने ट्वीट में कहा, "माननीय हाई कोर्ट जज, इसने मेरी आंखों में आंसू ला दिए, मुंबई की बरसात में मेरा घर सचमुच टूटा पड़ा है, आपने बहुत दिल से मेरे टूटे हुए घर के बारे में सोचा और आपकी फिक्र मेरे लिए बहुत मायने रखती है। मेरे जख्म भर गए हैं। शुक्रिया मुझे वो देने के लिए जो मैंने खो दिया था।

कंगना मामले में हाई कोर्ट की बीएमसी को फटकार, पूछा- निर्माण गिराने में देर नही की तो जवाब देने में देरी क्‍यों?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kangana Ranaut's taunt on BMC - did not kill so many innocent people in Pulwama in Pakistan, your carelessness was killed in Bhiwandi
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X