• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

राणा अयूब की आपबीती: 'पूरा देश वो क्लिप देख रहा था, लोग मुझसे पूछ रहे थे- एक रात की कीमत'

|

नई दिल्‍ली। 'भारतीय जनता पार्टी में मेरे एक सूत्र ने मुझे एक वीडियो भेजा। उसने वीडियो भेजने से पहले मुझसे कहा- प्रॉमिस करो तुम परेशान नहीं होगी। इतना भरोसा लेने के बाद उसने मुझे एक वीडियो क्लिप भेजी। मैंने उसे देखा तो पता चला कि वह एक पोर्न क्लिप थी और उसमें जो महिला नजर आ रही थी, वो मैं थी। जब मैंने पहली बार उस क्लिप को देखा तो मैं हैरान थी, क्‍योंकि उसमें मेरा चेहरा था। हां, उस लड़की के बाल मेरे जैसे नहीं थे, मेरे बाल कर्ली हैं, जबकि उस लड़की के बाल स्‍ट्रेट दिख रहे थे। उस लड़की उम्र भी 17-18 साल लग रही थी।' यह कहानी सुनाई है पत्रकार राणा अयूब ने। उन्‍होंने huffington post के साथ बातचीत में बताया कि कठुआ रेप केस की पीडि़ता के पक्ष में आवाज उठाने की कीमत उन्‍हें इस तरह चुकानी पड़ी। राणा अयूब के साथ जो हुआ उसे 'डीपफेकिंग पोर्न' कहा जाता है, कुछ लोग इसे रिवेंज पोर्न भी कहते हैं। मतलब किसी सेलेब्रेटी को बदनाम करने के लिए उस व्‍यक्ति का चेहरा पोर्न क्लिप में किसी और की बॉडी पर लगा दिया जाता है। वह इंसान तो अलग होता है, लेकिन उसके चेहरे पर उसी हस्‍ती के एक्‍सप्रेशन डाल दिए जाते हैं, जिसे बदनाम करना होता है।

'लड़की के शरीर पर मेरा चेहरा था, वो कपड़े उतार रही थी मैं रो रही थी'

'लड़की के शरीर पर मेरा चेहरा था, वो कपड़े उतार रही थी मैं रो रही थी'

राणा अयूब ने आगे बताया, 'मैंने वीडियो क्लिप देखी तो उस लड़की के शरीर पर मेरा चेहरा था। उसने जैसे ही कपड़े उतारना शुरू किया, मैंने रोना शुरू कर दिया। इससे पहले कि मैं खुद को संभाल पाती, मेरे फोन में बीप की आवाज आने लगी। मैंने देखा कि मेरे पास ट्विटर पर करीब 100 नोटिफिकेशन आ चुके थे और ये सभी उसी वीडियो क्लिप को शेयर कर रहे थे। मुझे मेरे दोस्‍तों ने कहा कि मैं ट्विटर अकाउंट को डिलीट कर दूं, लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया, क्‍योंकि मैं नहीं चाहती थी कि लोग ऐसा समझें कि उस वीडियो क्लिप में सचमुच मैं ही हूं, क्‍योंकि वो मैं नहीं थी।'

40,000 बार शेयर किया गया वह वीडियो

40,000 बार शेयर किया गया वह वीडियो

राणा अयूब ने टि्वटर उस वीडियो को शेयर होता देखने के बाद फेसबुक पर लॉग-इन किया। यहां पर भी मैसेज की भरमार थी।... 'मुझे नहीं पता था कि तुम्‍हारी बॉडी इतनी स्‍टनिंग है।' इस तरह के मैसेज लोग भेज रहे थे। राणा अयूब ने बताया कि उन्‍होंने अपना फेसबुक अकाउंट डिलीट कर दिया, लेकिन उत्‍पीड़न का सिलसिला इंस्‍टाग्राम तक पहुंच गया। इंस्‍टाग्राम पर लोग वीडियो क्लिप के स्‍क्रीन शॉट शेयर करके कमेंट कर रहे थे। एक बीजेपी लीडर के फैन पेज से भी वीडियो शेयर किया गया। वीडियो को करीब 40,000 बार शेयर किया गया।

नंबर शेयर होते ही लोग वॉट्सऐप पर पूछने लगे एक रात की कीमत

नंबर शेयर होते ही लोग वॉट्सऐप पर पूछने लगे एक रात की कीमत

राणा अयूब ने बताया कि उन पर हो रहा अत्‍याचार यहीं पर खत्‍म नहीं हुआ। एक और ट्वीट सर्कुलेट किया गया। इसमें वीडियो का स्‍क्रीन शॉट लगा था और मेरा नंबर भी लिखा था। उस स्‍क्रीनशॉट में लिखा था, 'Hi यह मेरा नंबर है, मैं यहां उपलब्‍ध हूं।' इसके स्‍क्रीन शॉट के सर्कुलेट होते ही वॉट्सऐप पर लोग मुझे मैसेज भेजकर सेक्‍स करने के लिए रेट पूछने लगे।

राणा अयूब ने कहा- मैं भाई को फेस नहीं कर पाई, पूरा देश वो क्लिप देख रहा था, जिसमें कहा गया कि 'ये मैं हूं'

राणा अयूब ने कहा- मैं भाई को फेस नहीं कर पाई, पूरा देश वो क्लिप देख रहा था, जिसमें कहा गया कि 'ये मैं हूं'

राणा अयूब ने बताया, 'इतना सब झेलने के बाद मेरी हालत खराब हो गई। मुझे अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्‍टर ने मुझे दवा दी, पर मैं उल्टियां कर रही थी। मैं बुरी तरह तनावग्रस्‍त थी। मेरा भाई मुंबई से दिल्‍ली आया, मैं परिवार में से किसी को फेस नहीं कर पाई, मैं बेहद शर्मसार थी। पूरा देश एक पॉर्न क्लिप देखा रहा था, जिसमें यह दावा किया गया था कि यह मेरी क्लिप है और मैं कुछ न कर पाने की स्थिति में थी।'

कठुआ रेप केस में आवाज उठाने की मिली सजा

कठुआ रेप केस में आवाज उठाने की मिली सजा

राणा अयूब ने बताया कि कठुआ में 8 साल की बच्‍ची के साथ लगातार रेप किया गया। बाद में उसकी हत्‍या कर दी गई। इस मामले में जम्‍मू के लोकल बीजेपी नेता आरोपी का समर्थन कर रहे थे। वे दावा कर रहे थे कि आरोपी बेकसूर है और क्‍योंकि वह हिंदू है, इसलिए उसे गलत तरीके से फंसाया गया। राणा अयूब आगे कहती हैं, 'जब मैंने इसके खिलाफ आवाज उठाई तो मेरे नाम से फेक ट्वीट्स और फर्जी स्‍क्रीन शॉट्स की बाढ़ आ गई।'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Journalist Rana Ayyub revealed in a terrifying post how she became the victim of deepfake porn after she took a stand on the Kathua gang rape.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X