• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पुणे में कोरोना से हुई पत्रकार की मौत, परिवार का आरोप- एडवांस रुपए जमा ना करने पर अस्पताल ने की लापरवाही

|

पुणे। कोरोनावायरस के कारण हर दिन बड़ी संख्‍या में लोगों की मौत हो रही है। अस्‍पतालों में मरीजों के इलाज में बरती जा रही लापरवाही के कारण मरीज की मौत होने के कई मामले सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक नया मामला महाराष्‍ट्र के पुणे का है। यहां के एक निजी अस्‍पताल में एक पत्रकार की मौत समय पर इलाज न किए जाने के कारण हो गई। परिवार का आरोप है कि अस्पताल ने एडवांस पेमेन्‍ट के कारण मरीज का इलाज देर से शुरु किया जिसके कारण मौत हो गई।

एडवांस पेमेन्‍ट में देरी की वजह से देर से हुआ मरीज का इलाज

एडवांस पेमेन्‍ट में देरी की वजह से देर से हुआ मरीज का इलाज

कोरोना से मरने वाले पत्रकार का नाम पांडुरंग रायकर हैं। उनकी कोरोना से मौत के बाद परिवार और दोस्तों ने आरोप लगाया कि अस्पताल ने उन्हें भर्ती करने में देरी की जब तक कि उन्होंने 40,000 रुपये का अग्रिम भुगतान नहीं किया।बताया जा रहा है कि टीवी 9 चैनल के 42 वर्षीय रिपोर्टर पांडुरंग रायकर को मंगलवार शाम पुणे के जंबो अस्पताल से कोमेप में अहमदगर लाया गया। अहमदनगर के इस निजी अस्‍पताल ने कथित तौर पर एडवांस पेमेन्‍ट को लेकर उनके इलाज में देरी के कारण दम तोड़ दिया। मृतक रिपोर्टर के परिवार में उनकी पत्नी और दो बच्चें हैं। हालांकि महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने पत्रकार की मौत की जांच के आदेश दिए हैं।

रिश्‍तेदार ने बताई ये बात

रिश्‍तेदार ने बताई ये बात

पत्रकार पांडुरंग रायकर के एक करीबी रिश्तेदार कुणाल रायकर ने बताया कि 22 अगस्त को गणेश स्थापना के दो दिन बाद, पत्रकार ने अपना कोरोना टेस्‍ट करवाया था, रिपोर्ट निगेटिव आई थी लेकिन उन्होंने आराम करने के लिए अपने अहमदनगर स्थित घर लौटने का फैसला किया। लेकिन शनिवार और रविवार (29-30 अगस्त) को वो अस्‍वस्‍थ महसूस करने लगे। सोमवार को वह अहमदनगर के एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए गए जहां उन्‍हें फिर से कोरोना टेस्‍ट करवाने क लिए कहा गया। उस अस्पताल ने कहा कि उनके पास टेस्‍ट किट उपलब्ध नहीं हैं इसलिए वो कोरोना टेस्‍ट नहीं कर सकते। इसके बाद पत्रकार ने कोपर गाँव शहर से कुछ किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक COVID केयर सेंटर पहुंच कर एक रैपिड एंटीजन टेस्ट किया, जिसमें उनकी कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई।

मरीज की खराब हालत होने के बावजूद अस्‍पताल करता एडवांस पैसे जमा करने का इंतजार

मरीज की खराब हालत होने के बावजूद अस्‍पताल करता एडवांस पैसे जमा करने का इंतजार

पत्रकार और उनकी पत्नी फिर अहमदनगर के निजी अस्पताल गए। "यह सब करते हुए, पांडुरंग की हालत बिगड़ती जा रही थी उनकी सांस फूल रही थी और उन्‍हें तत्‍काल अस्‍पताल में भर्ती किए जाने की आवश्‍यकता थी लेकिन अस्पताल ने उन्हें भर्ती करने से इनकार कर दिया। उन्होंने उसे एडवांस के तौर पर पहले 40,000 रुपये देने को कहा। उन्होंने उनसे कहा कि भुगतान करने में समय लगेगा क्योंकि अन्य मरीज कतार में थे लेकिन अस्‍पताल वालों ने उनकी नहीं सुनी।

एक्‍ट्रेस जेनेलिया देशमुख ने कोरोना को दी मात, लिखा ये इमोशनल पोस्‍ट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Journalist dies of corona in Pune, family charges - hospital negligence for not depositing advance money
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X