• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

देश के युवाओं में नया उत्साह भरेगा मेड इन इंडिया शॉर्ट वीडियो ऐप जोश, ऑफीशियली लॉन्च

|

नई दिल्ली। सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक कई विदेशी वीडियो ऐप पर देश में बैन लगने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत के अपने अभियान के तहत लोकल फॉर वोकल का आवह्न किया था। उन्होंने हर एक क्षेत्र में देश के उद्यमियों से कुछ नया और बेहतर करने को कहा था। पीएम मोदी की इसी बात से प्रेरित होकर देश के सबसे बड़े न्यूज एग्रीगेटर डेलीहंट ने देश के युवाओं के एंटरटेनमेंट के लिए बिल्कुल देसी और भारत में बने नए शॉर्ट वीडियो ऐप josh (जोश) को आज ऑफीशियली लॉन्च कर दिया।

josh app india made app launch today

जोश के जरिये अब युवा अपने हुनर का जादू दिखा कर अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं. हर भारतीय के लिए सबसे बड़ी गर्व की बात यह है कि यह पूरी तरह से मेड-इन-इंडिया ऐप है जिसे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वोकल फॉर लोकल और आत्मनिर्भर भारत के तर्ज पर विकसित किया गया है।

ऑफीशियली लॉन्च कार्यक्रम में डेली हंट के फाउंडर वीरेंद्र गुप्ता ने कहा कि हम गर्व के साथ नई शुरूआत कर रहे हैं. हमारे सभी प्रोजेक्ट मेड इन इंडिया, फॉर इंडिया और भारत की सेवा के लिए हैं. मौजूदा वक्त में डेलीहंट के 40 भाषाओं में 30 करोड़ यूजर्स हैं. हम भारत के इंजीनियर्स द्वार विकसित टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे हैं. ये यात्रा आसान नहीं थी. कई विदेशी कंपनियां भारत आईं जिनसे मुकाबला करना आसान नहीं था लेकिन देसी टैलेंट और देसी संसाधनों के दम पर हम सबकी उम्मीदों पर खरे उतरे।

उन्होंने आगे कहा, पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत का सपना देखा है। हम इस दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं। हमारे ऐप भारत की संस्कृति, कल्चर, कला को आगे बढ़ा रहे हैं. आज हमने जोश एप लान्च किया है. आज से किसी को शार्ट वीडियो के लिए विदेशी एप का इस्तेमाल नहीं करना पड़ेगा. यह ऐप पूरी तरह से भारत में विकसित हुआ है. हम इसके लिए भारत के कल्चर को प्रोमोट करेंगे।

वहीं डेली हंट के को फाउंडर उमंग बेनी ने कहा कि जोश हमारा शार्ट वीडियो ऐप है। इसे हमने गर्व से भारत में ही विकसित किया है. ये भारत का सबसे तेजी से विकसित और इंगेज होने वाला एप है. यह भारत की 12 भाषाओं में है. जिसमें टी-सीरीज, सोनी जैसी बड़ी कंपनियों की बड़ी लाइब्रेरी से गाने शामिल किए गए हैं।

बेनी ने आगे कहा, जोश ऐप भारत को एक सेफ स्पेस देगा, ताकी हमारे लोग अपनी क्रिएटिविटी को दिखा सकें. 45 दिनों में ही यह प्ले स्टोर में टाप डाउनलोड की लिस्ट में आ गया. 50 मिलियन डाउनलोड और 23 मिलियन डेली एक्टिव यूजर हैं. साथ ही 1 बिलियन वीडियोज हर रोज प्ले हो रहे हैं।

जोश ऐप है क्या?

जोश ऐप कम समय में अपना टैलेंट दिखाने का माध्यम है जिसे शॉर्ट वीडियो क्रिएशन भी कहा जाता है. जोश ऐप में बहुत सारी रीजनल और लोकल भाषाओं जैसे हिंदी, तमिल, कन्नडा, इंग्लिश और मलयालम का सपोर्ट दिया गया है। आप इसके इस्तेमाल से जान पाएंगे कि जोश ऐप में कई ऐसे शानदार फीचर्स हैं जो इसे काफी अनूठा बनाते हैं।

ये भी पढ़े- सुब्रमण्यम स्वामी का भाजपा को अल्टीमेटम, कल तक अमित मालवीय को हटाएं

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
josh app india made app launch today
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X