• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

झारखण्ड और बिहार में बन रहा है 'झड़प' का महूर्त

|

bihar-jharkhand
रांची। बिहार का पड़ोसी राज्य के साथ तालमेल बेहतर नहीं है, इसके मजबूत संकेत इस खबर से मिलने लगे हैं। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राजस्व विभाग से अपने रिकार्ड दुरुस्त करने के लिए हर हाल में बिहार से अपने हिस्से के राजस्व नक्शे हासिल करने को कहा।

इसके साथ ही सोरेन ने निर्देश दिया कि यदि पूरी कोशिश के बावजूद बिहार सरकार झारखंड के हिस्से के ये नक्शे नहीं देती है तो उसके खिलाफ झारखंड उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की जानी चाहिए।

सोरेन ने आज राजस्व समेत अनेक विभागों के कामकाज की उच्चस्तरीय बैठक में समीक्षा की और इस दौरान बिहार से झारखंड के हिस्से वाले राजस्व क्षेत्र के नक्शे न प्राप्त होने का मामला उठने पर उक्त निर्देश दिये।

ज्ञातव्य है कि वर्ष 2000 में बिहार के बंटवारे के बाद अलग बने झारखंड राज्य को अपने भौगोलिक क्षेत्र का राजस्व नक्शा प्राप्त होना था जो उसे बिहार से अब तक कई बार स्मरण दिलाने पर भी प्राप्त नहीं हो सका है।

सोरेन ने राज्य में ग्रामीण हाट बाजारों को विकसित करने और इसके लिए विभिन्न स्थानों पर उंचे प्लेटफार्म और शेड बनाने के भी निर्देश संबद्ध विभागों को दिये. उन्होंने सिर्फ ग्रेटर रांची के लिए ही नहीं बल्कि पूरे झारखंड राज्य के लिए मास्टर प्लान तैयार किये जाने के भी निर्देश दिये और कहा कि विकास कार्यों के दौरान आदिवासियों की जमीन हडपने का काम बंद होना चाहिए।

मुख्यमंत्री पिछले कई दिनों से राज्य सरकार के विभिन्न विभागों के कामकाज की उच्चस्तरीय समीक्षा कर रहे हैं। इसी क्रम में उन्होंने बिहार नेतृत्व को निशाने पर लेते हुए यह मामला उठाया है।

English summary
Jharkhand leadership targets Bihar for revenue issue strictly
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X