• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'मां बीमार थी तो नहीं पढ़ पाया नोटिस, 30 दिन का दीजिए मौका', चुनाव आयोग में सीएम हेमंत सोरेन

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 10 मई। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने खनन पट्टा मामले में चुनाव आयोग की नोटिस का जवाब देने के लिए 30 दिन के समय की मांग की है। भरतीय निर्वाचन आयोग (Election Commission) को भेजे अपने जवाब में सीएम सोरेन ने मां की लंबी बीमारी का जिक्र किया है। मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा है कि वे लगातार मां उपचार के सिलसिले में हैदराबाद में थे। इस वजह से भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा भेजी गई नोटिस को पढ़ने का मौका ही नहीं मिला पाया।

Hemant Soren

सीएम सोरेन ने अपने पत्र में लिखा है कि पारिवारिक जिम्मेदारी का निर्वहन करने के कारण उनको निर्वाचन आयोग की नोटिस का अध्ययन के लिए वक्त नहीं मिल पाया है। इसके लिए उन्हें समय चाहिए। माना जा रहा है कि सीएम ने आयोग से इसलिए भी भारतीय निर्वाचन आयोग से समय की मांग कि है ताकि कानूनी विशेषज्ञों सलाह ली जा सके।

 'मेरे धैर्य का इम्तिहान न लें, सत्ता हमेशा के लिए नहीं', उद्धव ठाकरे को मनसे चीफ की खुली चुनौती 'मेरे धैर्य का इम्तिहान न लें, सत्ता हमेशा के लिए नहीं', उद्धव ठाकरे को मनसे चीफ की खुली चुनौती

निर्वाचन आयोग ने विशेष प्रतिनिधि भेजकर खनन पट्टा मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का उनका पक्ष रखने की बात कही थी। जिसके लिए आयोग ने 10 मई तक की समय सीमा तय की गई थी। इससे पहल ही मुख्यमंत्री सोरेन की ओर से जवाब के लिए अतिरिक्त समय की मांग के साथ निर्वाचन आयोग को पत्र भेज दिया गया है।

Comments
English summary
Jharkhand CM Hemant Soren seeks 30 days time to reply to ECI notice
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X