• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अनुच्छेद 370 को निरस्त करने से जम्मू-कश्मीर में अभूतपूर्व प्रगति और शांति हुई : पीएम मोदी

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली, 5 जुलाई। जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए 5 अगस्‍त 2021 को पूरे दो वर्ष हो चुके है। बुधवार को दूसरी वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार ने कहा कि अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद से जम्मू और कश्मीर में अत्‍यधिक शांत और प्रगति हुई है। पीएम मोदी ने कहा कि दो साल पहले इस दिन एक नए जम्मू और कश्मीर की दिशा में पहला बड़ा कदम उठाया गया था।

    India में विलय से Article 370 के हटने तक.. ऐसी है Kashmir की कहानी ! | वनइंडिया हिंदी
    pmmodi

    बता दें जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले और तत्कालीन राज्य को 2 केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने वाले अनुच्छेद 370 के निरस्त कर दिया था। भारत सरकार ने पांच अगस्त 2019 को अनुच्छेद 370 के अंतर्गत जम्मू और कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त कर दिया था। पीएम मोदी ने दोहराया कि अनुच्छेद 370 को निरस्त करने से जम्मू-कश्मीर में अभूतपूर्व प्रगति हुई, शांति मिली है और तेजी से प्रगति हो रही है।प्रधानमंत्री ने कहा आज से ठीक दो साल पहल नए जम्मू-कश्मीर की दिशा में हमारी सरकार ने पहला बड़ा कदम उठाया गया था। जिसकी बदौलत आज शांति और अमन है।

    पीएम मोदी ने किया ये ट्वीट

    नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर भी एक पोस्‍ट शेयर किया और लिखा ऐतिहासिक दिन। दो साल पहले #NewJammuKashmir की दिशा में पहला बड़ा कदम उठाया गया था। जिसके बाद इस क्षेत्र में अभूतपूर्व शांति और प्रगति हुई है।' ट्वीट में आगे बताया गया है कि धारा 370 पर अधिकर जानकारी के लिए, ग्राफिक्स और बहुत कुछ जानने के लिए नमो ऐप पर अपने वॉयस सेक्शन पर जाएं।

    5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को समाप्‍त कर दिया गया था तब जिसके बाद जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा हो गया। केंद्र सरकार के इस फैसले से जम्मू कश्‍मीर के नेताओं को गहरा सदमा लगा। अनुच्‍छेद हटाए जाने के बाद स्थिति सामान्‍य रहे इसके लिए कश्मीर जन सुरक्षा अधिनियम 1978 (पीएसए) के तहत जम्‍मू कश्‍मीर के 444 लोगों को नजरबंद किया गया था। इसमें कई बड़े नेता भी शामिल थे।

    अरेस्‍ट किए गए लोगों में नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला भी थे जिन्‍हें 234 दिनों तक नजरबंद रखा गया था।। आज अनुच्छेद 370 हटने की दूसरी वर्षगांठ र उमर अब्दुल्ला ने कहा "शुरुआत में इसको लेकर वह बहुत ज्यादा परेशान थे और निराथ भी थे। लेकिन उन्होंने महसूस किया कि एक राजनेता के रूप में उन्हें शोक मनाने का कोई अधिकार नहीं है।"

    अनुच्छेद 370 हटाए जाने के 2 साल पूरे: उमर अब्दुल्ला बोले-'निराश था पर नेता को शोक मनाने का अधिकार नहीं है'अनुच्छेद 370 हटाए जाने के 2 साल पूरे: उमर अब्दुल्ला बोले-'निराश था पर नेता को शोक मनाने का अधिकार नहीं है'

    दो सालों में आतंकी हिंसा में पहले की तुलना में कमी आई

    बता दें पिछले दिनों संसद में केंद्र सरकार ने जानकारी दी थी कि जम्मू और कश्मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने के बाद पिछले दो सालों में आतंकी हिंसा में पहले की तुलना में कमी आई है। सरकार ने राज्यसभा में किए गए एक लिखित प्रश्‍न का जवाब देते हुए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि वर्ष 2020 के दौरान उसके पिछले साल के मुकाबले 59 प्रतिशत आतंकी घटनाएं कम हुई हैं। वहीं गुरुवार को दो वर्ष पूरे होने पर पीएम मोदी ने ये ही कहा कि अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने की बदौलत आज जम्‍मू-कश्‍मीर में शांति और अमन है।

    https://hindi.oneindia.com/photos/read-all-breaking-news-of-5-august-one-click-oi65795.html

    English summary
    Jammu Kashmir Article 370 Abrogation brought unprecedented progress and peace in J&K: PM Modi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X