• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल: भाजपा नेता ने बताया, कोरोना के दौरान लोगों ने कैसे दिखाई क्रिएटिविटी

|

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर में इस समय लिटरेचल फेस्टिवल चल रहा है। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल को 'धरती का सबसे बड़ा साहित्यिक शो' कहा जाता है। 19 फरवरी से शुरू हुआ ये शो 28 फरवरी तक चलेगा। देश और दुनिया के बड़े लेखक, विचारक, राजनेता, बिजनेस लीडर्स, खेल और मनोरंजन जगत की हस्तियां अपने विचार रख रही हैं। इस साल डेलीहंट और वनइंडिया जयपुर लिटरेचर फेस्‍टिवल 2021 का इव स्ट्रीमिंग पार्टनर और डिजिटल मीडिया पार्टनर है।

Jaipur Literature Fest, jaipur lit fest, Indian Literature, jaipur, rajasthan, जयपुर, साहित्य, bjp, coronavirus, lockdown

लॉकडाउन के दौरान कैसे लोगों को परेशानी हुई, इस पर लिखी अपनी किताब पर हर्ष मंदर ने लिट फेस्ट में अपनी बात रखी थी। बुधवार के सत्र में 'इनोवेशन, इमेजिनेशन एंड क्रिएटिविटी' पर विनय सहस्रबुद्धे, मुग्धा सिन्हा, शुभेन्द्र राव और रोजर हाईफील्ड से संजोय रॉय ने बातचीत की है। इस दौरान भाजपा नेता और सांसद विनय सहस्रबुद्धे ने कोरोना महामारी और लॉकडाउन के दौरान क्रिएटिविटी कैसे बढ़ी, इस पर बात की।

विनय सहस्रबुद्धे ने कहा, महामारी ने हमें यह जानने के लिए कई अवसर दिए कि हम उन तीन चीजों को कैसे जोड़ते और सीखते हैं जिनकी हम आज चर्चा कर रहे हैं यानी इनोवेशन, इमेजिनेशन और क्रिएटिविटी। उन्होंने कहा कि ऐसे बहुत लोग होते हैं, जो किसी मुश्किल वक्त में अक्सर नया कर जाते हैं लेकिन मुझे पता है, कई छोटे थियेटर ग्रुप हैं जो महामारी के दौरान काम करते रहे। कई जगह ऐसी थीं जो स्टेज में बदल गईं।

सहस्रबुद्धे ने कहा, मेरा मानना ​​है कि लोगों ने महामारी के दौरान प्रैक्टिकल और थ्योरी, दोनों में ये सीखा कि संकट की स्थिति का सामना कैसे किया जाए और कैसे इससे निकला जाए। फेस्टिवल के इस सत्र इस में इसी पर बात की गई कि लोग किस तरह से मुश्किल स्थिति और दिए गए समय अवधि में अधिक नवीन और रचनात्मकता दिखाते हैं।

अपने अगले सत्र में, 26 फरवरी को, लेखक और कांग्रेस सांसद शशि थरूर अपनी नई किताब, द बैटल ऑफ बिलॉन्गिंग: ऑन नेशनलिज्म, पैट्रियटिज़्म, एंड व्हाट इट मीन्स टू बी इंडियन के बारे में बात करेंगे, जो 'आइडिया ऑफ इंडिया' पर बात करती है। पत्रकार, फेय डिसूजा के साथ वह राष्ट्रवाद और देशभक्ति के प्रसंगों पर बात करेंगे। बता दें कि कोरोना महामारी और उसके प्रोटोकॉल को देखते हुए जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल इस बार ऑनलाइन प्रोग्राम का आयोजन कर रहा है और इसे महीने के दो वीकेंड पर प्रसारित किया जाएगा। लिटरेचर फेस्टिवल 19 से 21 और फरवरी 26-28 फरवरी तक चलेगा। फेस्टिवल के लाइव वर्चुअल सेशन में कई थीम और लेख प्रसारित होंगे, जो दुनियाभर के दर्शकों को आकर्षित करेगा।

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल: लेखक और राजनेता पवन वर्मा ने बताया इस समय क्या है देश में साहित्य का मिजाज

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Jaipur Lit Fest BJP leader explains how people got creative during coronavirus pandemic
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X