• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ISRO की नजर से नहीं बच पाएगा दुश्मन, लॉन्च होने जा रहा सबसे बेहतरीन सैटेलाइट

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 01 अगस्त: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) जल्द ही ऐसी सैटेलाइट लॉन्च करेगा, जिसकी नजरों से ना तो कई दुश्मन छिप सकेगा, बल्कि आपदा के बाद होने वाले खतरे का लेकर भी बड़ी मदद मिलेगी। इसरो की ओर से लॉन्च होने वाली यह सैटेलाइट भारत की सीमा की सुरक्षा के लिए बेहद बड़ा कदम है। यह एक अर्थ ऑब्जरवेशन सैटेलाइट है, जो सिर्फ भारत की धरती और उसकी सीमाओं पर अंतरिक्ष से पैनी निगरानी रखेगा।

    Ranbankure: Geo-Imaging Satellite EOS की नजरों से नहीं बच पाएंगे दुश्मन ! | वनइंडिया हिंदी
    जियो इमेजिंग सैटेलाइट का नाम EOS-3

    जियो इमेजिंग सैटेलाइट का नाम EOS-3

    जानकारी के मुताबिक इसरो इस साल की तीसरी तिमाही में इस सैटेलाइट को लॉन्च करने की तैयारी में है। इस जियो इमेजिंग सैटेलाइट का नाम EOS-3 है। हाल ही में विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी मंत्रालय के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. जितेंद्र सिंह ने बताया था कि जियो-इमेजिंग उपग्रह EOS-3, 2021 की तीसरी तिमाही में लॉन्च होने वाला है। वहीं उन्होंने यह भी बताया कि उपग्रह बाढ़ और चक्रवात जैसी प्राकृतिक आपदाओं की वास्तविक समय (रियल टाइम) में निगरानी में मदद करेगा।

    12 अगस्त को लॉन्चिंग संभव

    12 अगस्त को लॉन्चिंग संभव

    इसके अलावा बताया गया कि देशभर से यह सैटेलाइट दिनभर में 4 से 5 बार फोटो लेने में सक्षम है। वहीं EOS-3 जल निकायों, फसलों, वनस्पति की स्थिति, वन आवरण परिवर्तन आदि की निगरानी में भी सक्षम होगा। सूत्रों की मानें तो इस सैटेलाइट की लॉन्चिंग 12 अगस्त या इस तारीख के आसपास की जा सकती है। EOS-3 की लॉन्चिंग आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से की जाएगी। लॉन्चिंग के लिए GSLV-MK2 रॉकेट का इस्तेमाल किया जाएगा।

    दमदार कैमरे सैटेलाइट की सबसे खास बात

    दमदार कैमरे सैटेलाइट की सबसे खास बात

    बता दें कि सैटेलाइट को जियोस्टेशनरी ऑर्बिट में स्थापित किया जाएगा, जहां पर यह 36 हजार किमी ऊंचाई पर धरती का चक्कर लगाना शुरू करेगा। हालांकि अगर 12 अगस्त को मौसम या फिर तकनीक संबंधित कुछ परेशानी आती है तो इस लॉन्चिंग को टाला भी जा सकता है। वहीं लॉन्चिंग के 19 मिनट के अंदर सैटेलाइट अपने निर्धारित ऑर्बिट में तैनात कर दिया जाएगा। इस सैटेलाइट की सबसे खास बात इसके तीन कैमरे हैं, जो आसानी से धरती से साफ तस्वीरें कैद करने में सक्षम हैं।

    अब हर मौसम में होगी रियल टाइम निगरानी

    अब हर मौसम में होगी रियल टाइम निगरानी

    सैटेलाइट के पहले विजिबल एंड नीयर-इंफ्रारेड कैमरे का रेजोल्यूशन 42 मीटर, दूसरे की 318 मीटर और तीसरे का 191 मीटर है, जो दिन के साथ-साथ रात में भी साफ तस्वीरें कैद कर लेगा, यहीं नहीं यह किसी भी मौसम में साफ तस्वीर ले सकता हैं, जिसके बाद भारत की बॉर्डर पर किसी भी तरह की हरकत हुई तो EOS-3 सैटेलाइट के तीन दमदार कैमरों की नजर से बचना नामुमकिन होगा। वहीं आपदा प्रबंधन, अचानक हुई कोई घटना पर भी रियल टाइम निगरानी की जा सकेगी।

    प्राइवेट कंपनियों के लिए 'मक्का' बनेगा ISRO, नासा की तर्ज पर अंतरिक्ष में छलांग लगाने की तैयारीप्राइवेट कंपनियों के लिए 'मक्का' बनेगा ISRO, नासा की तर्ज पर अंतरिक्ष में छलांग लगाने की तैयारी

    English summary
    isro will launch earth observation satellite EOS-3 GISAT-1 on August 12 see details
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X