• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

क्या भारत में आएगी कोरोना वायरस की चौथी लहर, IIT कानपुर रिसर्च ने दी ये बड़ी जानकारी

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 10 मई: भारत में कोरोना वायरस के घटते और बढ़ते केस के बीच हर किसी के दिमाग में महामारी की चौथी लहर का ख्याल आ रहा है। ऐसे में । भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) कानपुर के रिसर्च विभाग ने इसपर बड़ा अपडेट दिया है। क्या भारत में आएगी कोरोना वायरस की चौथी लहर, इस बारे में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) कानपुर के प्रोफेसर मनिंदर अग्रवाल ने अपने नवीनतम शोध में दावा किया है कि देश में चौथी कोविड-19 महामारी नहीं आएगी। बता दें कि आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मनिंदर अग्रवाल ने पहले कोविड -19 महामारी के प्रक्षेपवक्र की भविष्यवाणी करने के लिए सूत्र गणितीय मॉडल तैयार किया था। ये संस्थान के कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर हैं।

Corona virus Update: IIT Madras में Corona 'विस्फोट', मिले इतने Case | वनइंडिया हिंदी
भारत में क्यों नहीं आएगी कोरोना की चौथी लहर

भारत में क्यों नहीं आएगी कोरोना की चौथी लहर

आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मनिंदर अग्रवाल ने कहा कि भारत में कोरोना की चौथी लहर नहीं आने के दो प्रमुख कारण हैं। दो प्रमुख कारणों का हवाला देते हुए प्रोफेसर का दावा है कि लोगों के बीच देश में हाई इम्यूनिटी विकसित हो गई है। वहीं जीनोम अनुक्रमण के कोई महत्वपूर्ण उत्परिवर्तन का मतलब एक और राष्ट्रव्यापी लहर की कम संभावना है।

'भारत में 90 फीसदी लोगों ने नेचुरल इम्यूनिटी डेवलेप कर ली है...'

'भारत में 90 फीसदी लोगों ने नेचुरल इम्यूनिटी डेवलेप कर ली है...'

आईआईटी कानपुर के रिसर्च के अनुसार बड़ी संख्या में लोगों ने पिछले संक्रमण से इम्यूनिटी हासिल कर ली है। सूत्र अध्ययन के अनुसार, भारत की 90 प्रतिशत से अधिक आबादी ने चुरल इम्यूनिटी हासिल कर ली है। यह संक्रमण के खिलाफ एक मजबूत सुरक्षा के रूप में कार्य करता है। इसने यह भी कहा कि आईसीएमआर के सर्वेक्षणों के अनुसार, यह लगातार पाया गया है कि संक्रमित लोगों की वास्तविक संख्या रिपोर्ट की गई संख्या के 30 गुना से अधिक है।

जानिए क्या है दूसरा कारण?

जानिए क्या है दूसरा कारण?

कोविड-19 की चौथी लहर नहीं होने का दूसरा कारण यह है कि जीनोम अनुक्रमण ने दिल्ली-एनसीआर में भी कोई नए वैरिएंट को जन्म नहीं दिया। ओमिक्रॉन से संबंधित वैरिएंट जिन्हें बीए-2, बीए. 2. 9, बीए. 2. 10, और बीए 2. 12 के नाम से जाना जाता है। इसका मतलब है कि ओमिक्रॉन के खिलाफ हासिल की गई प्रतिरक्षा इसके सभी प्रकारों के खिलाफ लड़ेगी। इसलिए, भारत में 90 प्रतिशत से अधिक लोग पहले से ही इम्यूनिटी हासिल कर चुके हैं, इसलिए चौथी लहर होने की संभावना नहीं है।

ये भी पढ़ें-48 हजार में ये फटे-पुराने जैसे जूते बेच रही है कंपनी, यूजर बोले- 'दिमाग खराब है जो इसे खरीदेंगे...'ये भी पढ़ें-48 हजार में ये फटे-पुराने जैसे जूते बेच रही है कंपनी, यूजर बोले- 'दिमाग खराब है जो इसे खरीदेंगे...'

Comments
English summary
Is coronavirus 4th Wave hit in india, IIT Kanpur Research give Research on that
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X