• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इरफान की पत्नी सुतापा ने बेटे के लिए लिखी दिल छू लेने वाली कविता, कहा- मेरा बेटा रात भर रोता है

|

मुंबई, अप्रैल 15: इरफान खान की मौत उनके प्रशंसकों के लिए एक इमोशनल झटका था, लेकिन उनके परिवार के सदस्यों के लिए यह एक तरह का नुकसान है, जिसने उनके जीवन में एक अंतर पैदा कर दिया है। उनकी पत्नी सुतापा सिकदार तो सोशल मीडिया के जरिए इरफान से जुड़ी यादें अक्सर साझा करती दिखाई दे जाती हैं। वहीं हाल ही में उन्होंने अपने बेटे बाबिल खान को लेकर एक बेहद इमोशन पोस्ट किया है।

सुतापा ने लिखा है कि बाबिल अक्सर अपने पिता इरफान को याद....

सुतापा ने लिखा है कि बाबिल अक्सर अपने पिता इरफान को याद....

सुतापा ने बेटे बाबिल की इस तस्वीर के साथ एक बेहद इमोशनल कविता लिखी है। सुतापा ने लिखा है कि बाबिल अक्सर अपने पिता इरफान को याद करते हुए देर रात रोने लगते हैं। सुतापा सिकदार ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम एकाउंट से बेटे बाबिल के साथ फोटो शेयर की है। इस फोटो में सुतापा ने बेटे की तारीफ करते हुए एक कविता लिखी है। जिसमें बेटे को 'कड़क लौंड़ा' कहा है।

'मेरा बेटा, बड़ा कड़क लौंडा है वो..'

'मेरा बेटा, बड़ा कड़क लौंडा है वो..'

सुतापा ने जो कविता लिखी है वो कुछ यूं है- 'मेरा बेटा, बड़ा कड़क लौंडा है वो.. चुप चुप के नही सबके सामने ज़ार ज़ार रोता है वो। बड़ा कड़क लौंडा है, बाप के यादों को समेटता है। नाज़ुक उंगलियों से बिखेरता है उन्हें ख़ुशबू कि तरह, सहेजता है उन्हें बंद डायरी में... बड़ा सख्त लौंडा है वो। अपनी मां को गले लगाके कह पाता है... 'पूरी ज़िंदगी तू घना पेड़ थी हम सब के लिए। अब उड़ मां पंख फैलाए होश गवाएं'। शर्माता है गालों पर उसके गिरते हैं डिम्पल मुस्कुराकर... जब कहता है अपनी ही मां को 'अब तो जा जीले अपनी ज़िंदगी सिमरन'

''अपनी मरदानगी के ख़ातिर की सोया नहीं रात भर''

''अपनी मरदानगी के ख़ातिर की सोया नहीं रात भर''

उन्होंने आगे लिखा- 'बड़ा शख़्त लौंडा है यह... रात भर रोता है बाबा की याद में... जब आंख सूज जाती है तो पूछने पर यह नही कहता- अपनी मरदानगी के ख़ातिर की सोया नहीं रात भर। कह देता है रोया हूं मां...अहससात को जज़्बात को नौ मन बोझ बनाके नही रखता क्यूंकि मर्द है वो... अल्लाह का लाख-लाख शुक्र है बड़ा सख़्त लौंडा है मेरा बेटा। क्यूंकि जज़्बात छिपाने के लिए नहीं दिखाने के लिए जिगर चाहिए होता है। पुराने रिवायतों को तोडकर नए आयाम बनाने के लिए जिगर चाहिए होता है। बहुत बहुत सख्त होना पढ़ता है नरम दिखने के लिए। बड़ा शख़्त लौंडा है यह।

कोहली ने खोला विराट राज, कहा- 'बाप बनने के बाद बदल गई मेरी दुनिया, खुशनसीब हूं...'कोहली ने खोला विराट राज, कहा- 'बाप बनने के बाद बदल गई मेरी दुनिया, खुशनसीब हूं...'

English summary
Irrfan's wife Sutapa writes emotional poem for son Babil: ‘He cries all night
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X