• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ईरान के विदेश मंत्री बोले-चाबहार पर तेजी से काम करना होगा, अमेरिका की वजह से भारत का भी नुकसान

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली। ईरान के विदेश मंत्री जावेदी जारीफ ने कहा है कि अमेरिका की वजह से भारत को भी चाबहार बंदरगाह वर नुकसान उठाना पड़ रहा है। विदेश मंत्री जारीफ ने शुक्रवार को मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान यह बात कही है। गौरतलब है कि अमेरिका के साथ जारी तनाव के बीच ही ईरान के विदेश मंत्री भारत की यात्रा पर आए थे।

iran-us-india.jpg

रेलवे के जरिए जोड़ने की वकालत

एक सवाल के जवाब में जारीफ ने कहा कि चाबहार बंदरगाह जल्द पूरा करने के लिए भारत-ईरान को साथ काम करना होगा। उनके मुताबिक चाबहार के निर्माण के लिए जल्द से जल्द उपकरण जुटाने होंगे। साथ ही ईरान के पोर्ट सिटी जाहेदन को रेल नेटवर्क से जोड़ने के लिए काम में भी तेजी लानी होगी। जारीफ ने कहा कि भारत को अमेरिका की वजह से चाबहार के डेवलपमेंट में खासी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा है उसे उपकरण जुटाने में मुश्किलें हो रही हैं। चाबहार को अफगानिस्तान और मध्य एशिया से रेलवे के जरिए जोड़ने में भी परेशानी हो रही है। जारीफ की मानें तो भारत और ईरान को अब रेल की जरूरत है और इसलिए जाहेदन प्रोजेक्‍ट की अहमियत और बढ़ जाती है। ईरान और भारत ने 2018 में 85 बिलियन डॉलर्स के साथ चाबहार पोर्ट को डेवलप करने का समझौता किया था। ईरान के दक्षिणपूर्व में स्थित यह बंदरगाह सीधा ओमान की खाड़ी से जुड़ता है। यह पोर्ट भारत और अफगानिस्तान को व्यापार के लिए वैकल्पिक रास्‍ता मुहैया कराता है।

English summary
Iran's Foreign Minister says India is suffering because of US on the issue of Chabahar port.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X