• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

विश्व योग दिवस: योग केवल आसन ही नहीं और भी बहुत कुछ है

By BBC News हिन्दी
Google Oneindia News
योग
BBC
योग

योग का अर्थ है जुड़ना. मन को वश में करना और वृत्तियों से मुक्त होना योग है.

सदियों पहले महर्षि पतंजलि ने मुक्ति के आठ द्वार बताए, जिन्हें हम 'अष्टांग योग' कहते हैं.

मौजूदा दौर में हम अष्टांग योग के कुछ अंगों जैसे आसन, प्राणायाम और ध्यान को ही जान पाए हैं.

आज हम आपको पतंजलि योग के आठों अंगों के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं.

1. यम

योग
BBC
योग

यम शब्द से ही बना है संयम यानी मर्यादित आचरण-व्यवहार, यम के पांच अंग हैं.

अहिंसा- मन, वचन और कर्म से किसी को कष्ट न पहुंचाना

सत्य - भ्रम से परे सच का ज्ञान

अस्तेय- नकल या चोरी का अभाव

ब्रह्मचर्य- चेतना को ब्रह्म तत्व से एकाकार रखना

अपरिग्रह- संग्रह या संचय का अभाव

2. नियम

योग
BBC
योग

नियम के भी पाँच अंग हैं.

शौच- आंतरिक और बाहरी सफ़ाई

संतोष- जो है उसे ही पर्याप्त मानना

तप- स्वयं को तपाकर असत को जलाना

स्वाध्याय- आत्मा-परमात्मा को समझने के लिए अध्ययन

ईश्वर प्रणिधान- ईश्वर के प्रति समर्पण, अहं का त्याग

3. आसन

योग
BBC
योग

योग का वो अंग जो मौजूदा दौर में सबसे ज्यादा मुखरता से प्रकट है, वो है आसन.

आसन महज शारीरिक कसरत या लचीलापन नहीं है.

महर्षि पतंजलि इसकी अवस्था को बताते हुए कहा था- स्थिरं सुखम् आसन. म्यानी शरीर की स्थिरता और मन के तल पर आनंद और सहजता ही आसन है. अगर आप इन दो स्थिति को नहीं पाते, तो आप आसन में नहीं हैं.

4. प्राणायाम

योग
BBC
योग

शरीर में सूक्ष्म प्राण शक्ति को विस्तार देने की साधना है- प्राणायाम.

योग याज्ञवल्क्य संहिता में प्राण (आती साँस) और अपान (जाती साँस) के प्रति सजगता के संयोग को प्राणायाम बताया है.

साँस की डोर से हम तन-मन दोनों को साध सकते हैं.

हठयोग ग्रंथ कहता है 'चले वाते, चलं चित्तं'यानी तेज़ साँस होने से हमारा चित्त-मन तेज़ होता है और साँस को लयबद्ध करने से चित्त में शांति आती है.

साँस के प्रति सजगता से सिद्धार्थ गौतम ने बुद्धत्व को साधा. वहीं, गुरु नानक ने एक-एक साँस की पहरेदारी को परमात्मा से जुड़ने की कुंजी बताया.

5. प्रत्याहार

योग
BBC
योग

हमारी 11 इंद्रियां हैं- यानी पाँच ज्ञानेंद्रियाँ, पाँच कर्मेन्द्रियाँ और एक मन.

प्रत्याहार शब्द प्रति और आहार से बना है यानी इंद्रियां जिन विषयों को भोग रही हैं यानी उनका आहार कर रही हैं, वहां से उसे मूल स्रोत (स्व) की तरफ़ मोड़ना.

ज्ञानीजन कहते हैं हर चीज़ जो सक्रिय है वो ऊर्जा की खपत करती है.

इंद्रियों की निरंतर दौड़ हमें ऊर्जाहीन करती है. इंद्रियों की दौड़ को त्याग कर मगन रहना प्रत्याहार है.

6. धारणा

योग
BBC
योग

'देश बन्ध: चितस्य धारणा'यानी चित्त का एक जगह टिक जाना धारणा है.

इन दिनों अक्सर धारणा अभ्यास को हम ध्यान समझ लेते हैं. धारणा मन को एकाग्र करने की साधना है.

इसके कई स्वरुप हैं जैसे प्राण-धारणा यानी साँस पर फ़ोकस, ज्योति या बिंदु त्राटक आदि.

धारणा दरअसल ध्यान से पहले की स्थिति है. धारणा मन के विचारों की बाढ़ को नियंत्रित कर हमें शांति देती है.

7. ध्यान

योग
BBC
योग

योगसूत्र कहता है कि जब धारणा लगातर बनी रह जाती है तो ध्यान घटित होता है.

साफ़ है कि ध्यान हम कर नहीं सकते बल्कि यह घटित होता है.

ध्यान के नाम पर जो भी विधि या प्रक्रिया हम अपनाते हैं वो महज हमें धारणा यानी एकाग्रता की ओर ले जा सकती है.

ध्यान वो अवस्था है जहां कर्ता, विधि या प्रक्रिया सब कुछ समाप्त हो जाती है, बस एक शून्यता होती है.

जैसे-नींद से पहले हम तैयारी करते हैं लेकिन यह तैयारी नींद की गारंटी नहीं है, वो अचानक आती है यानी घटित होती है.

8. समाधि

योग
BBC
योग

समाधि शब्द सम यानी समता से आया है. योग याज्ञवल्क्य संहिता में जीवात्मा और परमात्मा की समता की अवस्था को समाधि कहा गया है.

महर्षि पतंजलि कहते हैं कि जब योगी स्वयं के वास्तविक स्वरुप (सत चित् आनंद स्वरुप) में लीन हो जाता है तब साधक की वह अवस्था समाधि कहलाती है.

समाधि पूर्ण योगस्थ स्थिति का प्रकटीकरण है.

कबीर इस अवस्था को व्यक्त करते हुए कहते हैं -जब-जब डोलूं तब तब परिक्रमा, जो-जो करुं सो-सो पूजा.

बु्द्ध ने इसे ही निर्वाण और महावीर ने कैवल्य कहा.

(आलेख: योगगुरू धीरज, 'योग संजीवनी' के लेखक. चित्रांकन: पुनीत गौर बरनाला)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
international yoga day yoga not only asan many more
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X