• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

International Yoga Day 2021: योग एक्‍सपर्ट से जानें गर्भवती महिलाओं के लिए सरल आसन, Video

|
Google Oneindia News

बेंगलुरू, 21 जून। 21 जून को 7वां अंतराष्‍ट्रीय योग दिवस विश्‍व भर में मनाया जा रहा है। प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को कौन से योग आसन और प्रणायाम करने चाहिए। नॉरमल डिलेवरी के लिए कौन से आसन सपोर्ट करते हैं और उनको करने से गर्भवती महिलाओं को क्‍या लाभ मिलते हैं आइए जानते हैं बेंगलुरु रेनबो हॉस्पिटल की प्रीनेटल योगा ट्रेनर एंड चाइल्‍ड बर्थ एजुकेटर अर्पिता अंजन से।

    yoga day: गर्भवती महिलाओं के लिए सरल आसन और प्रणायाम
    गर्भवती महिलाओं को प्राणायाम किन बातों के लिए सहयोग करता है

    गर्भवती महिलाओं को प्राणायाम किन बातों के लिए सहयोग करता है

    इंटरनेशनल योगा डे पर वन इंडिया को दिए एक्‍सक्‍लूसिव इंटरव्‍यू में अर्पिता अंजन ने बताया कि कोरोना काल में चूंकि घरेलू ही नहीं वर्किंग वूमेन भी घर में कैद हैं, ऐसे में महिलाओं का स्‍ट्रेस खासकर प्रेगनेंट वूमेन का स्‍ट्रेस काफी बढ़ गया हैं। जिसे प्राणायाम से घटाया जा सकता है। इसके साथ ही प्राणायाम महिला का ऑक्‍सीजन लेवल भी ठीक रहता है, शरीर की इम्युनिटी बढ़ाता है और प्राणायाम लग्‍स को भी स्‍वस्‍थ रखता है। सामान्‍य दिनों के अलावा कोरोना में प्रेगनेंट महिलाओं में योग के प्रति रूचि बढ़ी है। प्रेंगनेंसी के दौरान ओम का उच्‍चारण और प्राणायाम की दो तीन मुद्राएं बहुत सहयोगी होती हैं। महिला को नाड़ीसुद्धि, अनलोम विलोम, कपाल भारती समेत अन्‍य सभी प्राणायाम बहुत सहयोग रहता है।

    गर्भवती महिलाओं को कौन से आसन करने चाहिए

    गर्भवती महिलाओं को कौन से आसन करने चाहिए

    गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी के थ्री ट्राइमेस्‍टर के अनुसार योग आसन और प्राणायाम करवाते हैं। प्रेगनेंसी के शुरूआती तीन महीनों तक प्रणायाम करवाते हैं। उसके बाद आसान से आसन महिलाओं को करवाए जाते हैं और थर्ड ट्राइमेस्‍टर में महिलाओं को स्‍ट्रेचिंग करवाने संबंधी योगा आसन करवाते हैं। जिससे न केवल नॉरमल डिलेवरी में सपोर्ट करेगा साथ ही आसन करने से गर्भवती महिला को थकान नहीं लगती है और अन्‍य शारीरिक समस्‍याएं नहीं होती है, पेलविस बोन को मजबूत रखता है और साथ ही गर्भ में पल रहे बच्‍चे की ग्रोथ अच्‍छी होती है। अगर प्रेगनेंसी की शुरूआती दौर से कुछ चुनिंदा योग आसन किए जाएं तो प्रेगनेंसी आसान रहती है और नॉरमल डिलीवरी की संभावना कई फीसदी बढ़ जाती है इसके साथ ही डिलेवरी के बाद महिला की रिकवरी भी जल्‍दी और अच्‍छी होती है।

    क्‍या आसन करने से गर्भावस्‍था में कोई नुकसान होने का रिस्‍क है?

    गर्भावस्‍था में प्रणायाम करने से कोई भी नुकसान नहीं आसान से आसन करने से महिला की प्रेगनेंसी पूर्ण रूप से सुरक्षित रहती है। गर्भवती महिला गर्भावस्‍था में के अंतिम दिनों में जब आसन करें तो ये ध्‍यान रखना चाहिए कि उनके सपोर्ट के लिए उसके साथ कोई हो। ताकि आसन में उनको सपोर्ट कर सके।

    अर्पिता अंजन प्रोफाइल

    अर्पिता अंजन प्रोफाइल

    अर्पिता अंजन पिछले 12 सालों से योगा ट्रेनर हैं और बेंगलुरू के रेनबो अस्‍पताल में गर्भवती महिलाओं को योगा ट्रेनिंग दे रही हैं।

    सर्टीफाइड योगा ट्रेनर, प्रीनेटल योगा ट्रेनर (यूएसए)
    सर्टीफाइड इन गर्भ मंत्र-संस्‍कार (इंटनेशनल अकाडमी ऑफ आर्युवेद)
    इंटरनेशल सर्टीफाइड चाइल्‍ड बर्थ एजुकेटर
    इंटरनेशल सर्टीफाइड लेक्‍टेसन एजुकेटर
    सर्टीफाइड इन चाइल्‍ड सायकोलॉजी एंड डेवेलेपमेंटल सायकोलॉजी (मलेसिया)
    सर्टीफाइड हैंडराइटिंग एनालिस्‍ट (कैलिफोर्निया यूएसए)

    अर्पिता अंजन से आप इस नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।

    मोबाइल नंबर- 9141277777

    https://hindi.oneindia.com/photos/read-big-news-of-21-june-in-one-click-oi63148.html

    English summary
    yoga day: Learn simple asanas and pranayama for pregnant women from yoga experts, watch video
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X