• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लद्दाख में चीन के साथ तो बंगाल की खाड़ी में रूस और भारत की नौसेनाएं परख रही हैं ताकत

|

नई दिल्‍ली। चीन के साथ तनाव के बीच ही आज बंगाल की खाड़ी में रूस और भारत की नौंसेनाएं युद्धाभ्‍यास कर रही हैं। इंद्रा नेवी नाम की यह वॉर एक्‍सरसाइज चार सितंबर से शुरू होकर पांच सितंबर तक चलेगी। इस एक्‍सरसाइज की शुरुआत साल 2003 में हुई थी और इस वर्ष इसका यह 11वां संस्‍करण है। यह युद्धाभ्‍यास ऐसे समय में हो रहा है जब पिछले दिनों भारत ने रूस में आयोजित होने वाली मिलिट्री एक्‍सरसाइज कावकाज 2020 से अपना नाम वापस ले लिया है। इस एक्‍सरसाइज में चीन और पाकिस्‍तान भी हिस्‍सा ले रहे हैं और इसी वजह से भारत ने अपना नाम वापस ले लिया था।

indian-navy-russia.jpg

यह भी पढ़ें-मॉस्‍को में आज राजनाथ और चीनी रक्षा मंत्री की मीटिंग

    India China Tension: South Pangong में Chinese Tank और PLA की बढ़ी हलचल | वनइंडिया हिंदी

    बहुत अहम है यह वॉर एक्‍सरसाइज

    चीन के साथ तनाव के बीच ही भारत और रूस की नौसेनाओं के बीच आज से शुरू हो रही बंगाल की खाड़ी में वॉर एक्‍सरसाइज काफी अहम मानी जा रही है। इस एक्‍सरसाइज का मकसद सुरक्षा के क्षेत्र में उभरती हुई चुनौतियों से निपटने के लिए दोनों देशों की नौसेनाओं की क्षमता को और विकसित करना है। साल 2018 में इस एक्‍सरसाइज का का आयोजन किया गया था। एक्‍सरसाइज में दोनों नौसेनों के बीच एंटी-एयरक्राफ्ट ड्रिल के अलावा फायरिंग एक्‍सरसाइज, हेलीकॉप्‍टर ऑपरेशंस और दूसरे अहम पहलुओं को परखा जाएगा। गुरुवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने रूसी समकक्ष जनरल सर्गेई शोइगू के साथ मुलाकात की है। राजनाथ सिंह ने मुलाकात को बेहतरीन मीटिंग करार दिया है। उन्‍होंने बताया कि रूस की तरफ से देश की सुरक्षा और रक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए तेजी से मदद मुहैया कराने का वादा किया है।

    मॉस्‍को में हैं रक्षा मंत्री राजनाथ

    राजनाथ सिंह, बुधवार को मॉस्‍को पहुंचे हैं। तीन दिन के इस दौरे पर उन्‍होंने रूस से कई हथियारों की सप्‍लाई को तेज करने के साथ ही कॉन्‍ट्रैक्‍ट के तहत गोला-बारूद और स्‍पेयर पार्ट्स सप्‍लाई तुरंत करने पर जोर दिया है। लद्दाख में लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर पिछले चार माह से चले आ रहे टकराव के बीच आज रूस की राजधानी मॉस्‍को में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने चीनी समकक्ष जनरल वेई फेंगे से मुलाकात करेंगे। चार से छह सितंबर तक रक्षा मंत्री राजनाथ, मॉस्‍को में शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) सम्‍मेलन के लिए मॉस्‍को में हैं। गौरतलब है कि पहले राजनाथ सिंह और चीनी रक्षा मंत्री की अलग से कोई भी मुलाकात नहीं होनी थी। लेकिन चीनी रक्षा मंत्री की तरफ से इस मीटिंग की रिक्‍वेस्‍ट की गई थी। इसके बाद आज शाम दोनों नेताओं की मुलाकात तय हुई है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Indian Navy conducts a military exercise with Russia in the Bay of Bengal amid tension with China.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X