• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पाकिस्तानी ड्रोन तबाह करने के लिए भारत ने पहली बार इस्तेमाल किया इजरायली 'स्पाइडर'

|

नई दिल्ली। भारत द्वारा मंगलवार को पाकिस्तान पर की गई एयर स्ट्राइक के बाद वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान की ओर से गुजरात के कच्छ में ड्रोन भेजकर जासूसी करने की कोशिश की गई है। भारतीय सेना ने भारत-पाकिस्तान सीमा पर जासूसी कर रहे एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया है। भारत की ओर से इस ड्रोन को गिराने के लिए पहली बार इजरायली एयर डिफेंस सिस्टम 'स्पाइडर' का इस्तेमाल किया गया। जिसे भारत ने 2017 में इजराइल से लिया था।

एक तेज धमाका हुआ, जिससे पूरा गांव हिल गया

एक तेज धमाका हुआ, जिससे पूरा गांव हिल गया

सेना के अधिकारियों ने बताया कि, मंगलवार सुबह करीब 6 बजे अबडासा तहसील के नुंधातड गांव के पास मिलिट्री केम्प के करीब किसी उड़ती चीज देखी गई थी। उन्हें समझ आ गया कि वह ड्रोन था, जिसे पाकिस्तान से जाजूसी के लिए भारत की सीमा पर भेजा गया था। जवानों ने बिना कोई देर किए डर्बी मिसाइल ने हमला कर दिया और ड्रोन ध्वस्त होकर जमीन पर आ गिरा। एक तेज धमाका हुआ, जिससे पूरा गांव हिल गया। बाद में पता चला कि यह पाकिस्तान से जासूसी के लिए आया ड्रोन था, जिसे भारतीय वायुसेना ने मार गिराया।

जानिए कैसे काम करता है स्पाइडर सिस्टम

जानिए कैसे काम करता है स्पाइडर सिस्टम

भारत ने इस ड्रोन को इजराइल द्वारा दिए गए एयर डिफेंस सिस्टम 'स्पाइडर' से मार गिराया है। 'स्पाइडर' कम समय में हवा में दुश्मन पर हमला करने के लिए बनाई गई सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल है। यह इजराइल से ली गई मिसाइल प्रणाली है। कम ऊंचाई में इसकी मारक क्षमता 15 किलोमीटर तक है। हालांकि ये भारत में निर्मित जमीन से हवा में मार करने में सक्षम 'आकाश' मिसाइल से छोटी है। यह मिसाइल डिफेंस सिस्टम 2017 में ऑपरेशन रोल के लिए तैयार किया गया था।

2017 में सेना की सेवा में आया था स्पाइडर सिस्टम

2017 में सेना की सेवा में आया था स्पाइडर सिस्टम

मई 2017 में चांदीपुर के एकीकत परीक्षण रेंज के लांच कॉम्प्लेक्स तीन से मोबाइल लांचर के जरिए स्पाइडर का परीक्षण किया गया था । इस परीक्षण में स्पाइडर ने चालक रहित विमान(ड्रोन) को मार गिराने में सफलता प्राप्त की थी। बता दें कि भारतीय वायु सेना के लड़ाकू जेट विमानों ने मंगलवार को तड़के नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर, पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) और पाकिस्तान में कई आतंकी शिविरों पर बम गिराए।

जैश-ए-मोहम्मद का कंट्रोल रूम भी नष्ट

जैश-ए-मोहम्मद का कंट्रोल रूम भी नष्ट

पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। उन्होंने बताया कि मिराज-2000 लड़ाकू जेट विमानों ने बालाकोट, मुजफ्फराबाद और चकोटी में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविरों पर सुनियोजित हमला कर बम गिराए और उन्हें नष्ट किया। अभियान के बारे में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अवगत कराया। कुछ घंटे बाद प्रधानमंत्री मोदी ने सुरक्षा संबंधी कैबिनेट समिति की एक बैठक की अध्यक्षता की। वायु सेना के सूत्रों अनुसार, कैंपों को पूरी तरह नष्ट कर दिया गया। सूत्रों का कहना है कि वायुसेना के हवाई हमलों में एलओसी के पार बालाकोट, चाकोटी और मुजफ्फराबाद में आतंकी लॉन्च पैड्स पूरी तरह से नष्ट हो गए। जैश-ए-मोहम्मद का कंट्रोल रूम भी नष्ट कर दिया गया है।

भारत की एयर स्ट्राइक के बाद बोले इमरान खान- सेना और जनता हर परिस्थिति के लिए रहे तैयार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
indian army used israeli spyder to shoot down pakistani drone in kutch gujarat
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X