• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

गोवा में खुला भारत का पहला शराब संग्रहालय 'All About Alcohol', जानिए क्या है इसमें खास

|
Google Oneindia News

पणजी, 17 अक्टूबर। गोवा में भारत का पहला शराब संग्रहालय खोला गया है। इसमें आपको शराब का सदियों पुराना इतिहास मिलेगा। संग्रहालय में शराब कि सदियों पुरानी बोतलें, गिलास और बोतलों को बनाने वाले औजार आकर्षण का केंद्र होंगे। इस संग्रहालय को स्थानीय व्यवसाई नंदन कुडचडकर ने उत्तरी गोवा के कैंडोलिम गांव में बनवाया है।

एक ही जगह पर मिलेगा शराब का सदियों पुराना इतिहास

एक ही जगह पर मिलेगा शराब का सदियों पुराना इतिहास

इस संग्रहालय में गोवा की स्थानीय काजू से निर्मित शराब फेनी के कई कहे अनकहे तथ्य आपको मिलेंगे, कि कैसे सदियों से इस शराब को सदियों पहले स्टोर किया जाता था। संग्रहालय में फेनी से जुड़ी सैकड़ों कलाकृतियां हैं, जिनमें बड़े, पारंपरिक कांच के वत्स शामिल हैं, जिसमें सदियों पहले स्थानीय काजू-आधारित शराब का भंडारण किया जाता था। कुडचडकर ने का कि इस संग्रहालय को शुरू करने का उद्देश्य दुनिया को गोवा की विरासत, मुख्य रूप से गोवा की कड़ाकेदार फेनी शराब से दुनिया को अवगत कराना है।

गोवा की लोकल स्वादिष्ट फेनी को समर्पित यह म्यूजियम

गोवा की लोकल स्वादिष्ट फेनी को समर्पित यह म्यूजियम

कुडचडकर कहते हैं कि उन्हें दुनियाभर की एंटीक शराब इकट्टा करने का शौक है। कुडचडकर ने कहा कि जब मैं इस तरह का कॉन्सेप्ट बना रहा था, तो मेरे दिमाग में सबसे पहला विचार यही आया कि क्या दुनिया में कोई शराब संग्रहालय है या नहीं और वास्तव में ऐसा दुनिया में कोई दूसरा संग्रहालय नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि आप स्कॉटलैंड जाते हो तो वहां के लोग अपने यहां की शराब को लेकर काफी खुश होते हैं। इसी प्रकार रूस के लोग भी अपने यहां की शराब को लेकर खासे उत्साही हैं। उन्होंने कहा, 'जब हम भारत आते हैं, तो हम शराब को अलग तरह से पेश करते हैं। अपनी प्रवृत्ति का पालन करते हुए, मैंने शराब को समर्पित भारत का पहला संग्रहालय स्थापित करने का फैसला किया।'

गोवा की फेनी शराब न चखी तो क्या चखा

गोवा की फेनी शराब न चखी तो क्या चखा

शराब संग्रहालय के सीईओ अरमांडो डुटर्टे ने कहा कि, 'हमारे प्रमुख पेय में से एक काजू फेनी है और इसे यहां प्रदर्शित किया गया है। यह पेय प्राकृतिक रूप से फ्रेगमेंट किया जाता है। गोवावासियों के लिए, शराब का सेवन आतिथ्य का प्रतीक था।' वहीं एक पर्यटक ने कहा, 'यहां शराब के बारे में दी गई जानकारी अद्भुत है। मैं इस जगह से चकित और अचंभित हूं। आगंतुकों को देखने के लिए उन्होंने यहां जितनी जानकारी रखी है वह बहुत ही अद्भुत है।' बता दें कि गोवा की फेनी शराब को काली मिर्च, लौंग, जायफल, दालचीनी जैसे मसालों के साथ मिलाकर बनाया जाता है। इसे GI टैग भी हासिल है। काजू फेनी भारत की पहली स्वदेशी शराब भी है।

English summary
India's first liquor museum 'All About Alcohol' opens in Goa
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X