• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आयकर विभाग ने तमिलनाडु में छापेमारी में 1,000 करोड़ की अघोषित कैश का पता लगाया

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने शनिवार को चेन्नई स्थित एक समूह द्वारा संचालित आईटी इंफ्रा सेक्टर में छापेमारी की और वहां से 1000 करोड़ रुपए की अघोषित नकदी का पता लगाया है। छापेमारी चेन्नई और मदुरै के पांच स्थानों पर अंजाम दिया गया था। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड द्वारा जारी एक बयान के अनुसार गत 6 नवंबर की गई छापेमारी में सिंगापुर में पंजीकृत फर्म में निवेश से संबंधित साक्ष्यों का भी खुलासा हुआ।

    Tamil Nadu: आयकर विभाग की छापेमारी में 1,000 Crore की अघोषित Cash का खुलासा | वनइंडिया हिंदी

    IT

    अल्पसंख्यक हिंदुओं पर हमले के मुद्दे को बाग्लादेश के समक्ष उठाया गयाः विदेश मंत्रालयअल्पसंख्यक हिंदुओं पर हमले के मुद्दे को बाग्लादेश के समक्ष उठाया गयाः विदेश मंत्रालय

    रिपोर्ट के मुताबकि चेन्नई बेस्ड आईटी इन्फ्रा की शेयरहोल्डिंग दो कंपनियों द्वारा की जाती है, जिसमें से समूह की एक कंपनी में छापेमारी की गई, जबकि दूसरी कंपनी एक प्रमुख इंफ्रास्ट्रक्चर डवलेपमेंट एंड फाइनेंसिंग ग्रुप की सहायक कंपनी है। जारी बयान के अनुसार यह पाया गया है कि छापेमारी समूह से संबंधित कंपनी ने मामूली रकम के निवेश से ही कंपनी का 72 फीसदी का हिस्सेदार है, जबकि 28 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाली दूसरी कंपनी ने उसमें लगभग पूरा पैसा लगाया है।

    IT

    ओडिशा यूनिट में कोरोना समेत 10 अलग-अलग टीकों का निर्माण करेगी भारत बायोटेकओडिशा यूनिट में कोरोना समेत 10 अलग-अलग टीकों का निर्माण करेगी भारत बायोटेक

    सीबीडीटी ने बताया कि इससे लगभग 7 करोड़ सिंगापुर डॉलर का लाभ हुआ है, जो लगभग 200 करोड़ है वह छापेमारी समूह से संबंधित फर्म के हाथों में गया है, जिसे कंपनी द्वारा न ही उसके आईटी रिटर्न और न ही एफए अनुसूची में दर्शाया गया है। इस तरह 200 करोड़ के बराबर शेयर सदस्यता के रूप में प्राप्त विदेशी आय का छुपाया गया है, जो भारत में टैक्सेबल है। समूह के खिलाफ विदेशी संपत्ति/लाभकारी हित का खुलासा आयकर रिटर्न की एफए अनुसूची में नहीं करने के लिएकाला धन अधिनियम, 2015 के लिए कार्यवाही शुरू की जाएगी।

    IT

    महामारीः यहां 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे सभी स्कूल, 2021 में ही अब खुलेंगे विद्यालयमहामारीः यहां 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे सभी स्कूल, 2021 में ही अब खुलेंगे विद्यालय

    कहा गया है कि निवेश का वर्तमान मूल्य 354 करोड़ से अधिक है। छापेमारी के दौरान अधिकारियों ने बताया कि यह भी पाया गया है कि समूह ने हाल ही में पांच शेल कंपनियों का अधिग्रहण किया था, जिनका इस्तेमाल मुख्य समूह की कंपनी से 337 करोड़ की उगाही लिए किया गया था। पाया गया कि उगाही गई धन को विदेश में स्थानांतरित किया गया था और मुख्य असेसी के बेटे के नाम पर शेयरों की खरीद के लिए उसका उपयोग किया गया था। निदेशकों में से एक ने स्वीकार किया है कि उन्होंने इन कंपनियों के माध्यम से धन को डायवर्ट किया है।

    अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर शिवसेना की दो टूक, 'मुंबई पुलिस सिर्फ कानून का पालन कर रही है'अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर शिवसेना की दो टूक, 'मुंबई पुलिस सिर्फ कानून का पालन कर रही है'

    English summary
    The Income Tax Department on Saturday conducted raids in a group-run IT infra sector in Chennai and unearthed undisclosed cash worth Rs 1,000 crore from there. The raids were carried out at five locations in Chennai and Madurai. According to a statement issued by the Central Board of Direct Taxes, the evidence related to investment in a Singapore-registered firm has also been revealed in the last November raid.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X