• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

राज्यसभा में सरकार ने कहा, 'पाकिस्तान के साथ भारत सामान्य पड़ोसी देश जैसा संबंध चाहता है'

|

नई दिल्ली। विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को राज्यसभा में कहा कि भारत-पाकिस्तान के साथ सामान्य पड़ोसी जैसा संबंध चाहता है और सभी मामलों को शांति से हल करने के लिए हमेशा तैयार है। विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने यह बयान आतंकवाद पर पाकिस्तान का मुकाबला करने के लिए उठाए गए कदम के सवाल पर दिया। उन्होंने सदन को बताया कि भारत पाकिस्तान के साथ सामान्य पड़ोसी जैसे संबंधों की इच्छा रखता है।

Pakistan

जन्मदिन विशेषः पीएम मोदी द्वारा 6 वर्षों के कार्यकाल में लिए गए इन 18 बड़े फैसलों ने रचा कीर्तिमान

मुद्दों को द्विपक्षीय और शांतिपूर्ण तरीके से हल किया जाना चाहिए

मुद्दों को द्विपक्षीय और शांतिपूर्ण तरीके से हल किया जाना चाहिए

सरकार ने कहा कि हमारी सुसंगत स्थिति यह है कि भारत-पाकिस्तान के बीच किसी भी तरह के मुद्दों को द्विपक्षीय और शांतिपूर्ण तरीके से हल किया जाना चाहिए ताकि आतंक, शत्रुता और हिंसा से मुक्त वातावरण बनी रहे। यह पाकिस्तान पर है कि वह भारत के खिलाफ सीमा पार आतंकवाद के लिए किसी भी क्षेत्र का उपयोग करने की अनुमति नहीं देने के लिए एक विश्वसनीय, अपरिवर्तनीय और अपरिवर्तनीय कार्रवाई करने समेत एक अनुकूल माहौल बनाए।

भारत ने आतंकवाद पर पाक का मुकाबला करने के लिए क्या कदम उठाए?

भारत ने आतंकवाद पर पाक का मुकाबला करने के लिए क्या कदम उठाए?

भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर राज्यसभा में जारी किया गया यह बयान पाकिस्तान के प्रति भारत की वर्तमान विदेश नीति पर उठाए गए एक प्रश्न के उत्तर में दिया गया था कि भारत ने आतंकवाद पर पाकिस्तान का मुकाबला करने के लिए क्या कदम उठाए हैं।

भारत ने बहुपक्षीय मंचों पर पाकिस्तान के खिलाफ निरंतर मुद्दा उठाया है

भारत ने बहुपक्षीय मंचों पर पाकिस्तान के खिलाफ निरंतर मुद्दा उठाया है

गौरतलब है सरकार ने बहुपक्षीय मंचों पर सीमा पार आतंकवाद, द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और आतंकवादी घुसपैठ के लिए पाकिस्तान के निरंतर समर्थन का मुद्दा उठाया है। सरकार के लगातार प्रयासों के परिणामस्वरूप अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान से आने वाले आतंकवाद और आतंकवादी संस्थाओं और व्यक्तियों की सतत गतिविधियों पर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में चिंता बढ़ी है, जिसमें जमात-उद-दावा (JuD), लश्कर-ए-तैयबा (LeT), जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन आदि शामिल हैं।

कई देशों ने पाकिस्तान के खिलाफ भारत के रुख का समर्थन किया है

कई देशों ने पाकिस्तान के खिलाफ भारत के रुख का समर्थन किया है

गुरुवार को राज्यसभा में सरकार ने कहा कि यह भी देखा है कि कई देशों ने पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के खिलाफ भारत के रुख का समर्थन किया है। सदन को बताया गया कि प्रमुख साझेदार देशों ने पाकिस्तान से अपने क्षेत्र को आतंकवाद के लिए किसी भी तरह से इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देने का आह्वान किया है। कई आतंकवादी इकाइयां और व्यक्ति, जो पाकिस्तान में पनाह पाते हैं और भारत के खिलाफ आतंकवाद में भी लिप्त हैं, उन पर संयुक्त राष्ट्र (यूएन), यूरोपीय संघ और अन्य देशों द्वारा मुकदमा चलाया गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The Foreign Ministry said in the Rajya Sabha on Thursday that India wants a normal neighborly relationship with Pakistan and is always ready to resolve all matters peacefully. Minister of State for External Affairs V. Muralitharan made this statement on the question of the steps taken to counter Pakistan on terrorism. He told the House that India aspired for normal neighborly relations with Pakistan.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X