• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना को लेकर आवश्यक कदम उठाने के हमारे अनुरोध को केंद्र ने कूड़ेदान में डाल दिया और आज हालात ये हैं - आईएमए

|

नई दिल्ली, 8 मई। इंडियन मेडिकल असोसिएशन (आईएमए) ने शुक्रवार को कोरोना वायरस को नियंत्रित करने में अत्यधिक सुस्ती दिखाने के लिए केंद्र सरकार की कड़ी निंदा की। आईएमए ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा महामारी से लड़ने में दिखाई जा रही अत्यधिक सुस्ती देखकर आश्चर्य हो रहा है। आईएमए ने अपने आधिकारिक बयान में कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा कोई भी आवश्यक कदम न उठाए जाने और कोरोना से लड़ने में दिखाई जा रही अत्यधिक सुस्ती देखकर आश्चर्य हो रहा है।

Corona

आईएमए ने आगे कहा कि , 'हमारे और अन्य पेशेवर सहयोगियों द्वारा इसे कम करने के लिए आवश्यक कदम उठाने के अनुरोध को केंद्र ने कूड़ेदान में डाल दिया और जमीनी हकीकत को जाने बिना निर्णय लिये।' संस्था ने आगे कहा कि हम इस बात पर लगातार जोर देते रहे कुछ राज्यों में लगाए गए लॉकडाउन से ज्यादा योजनाबद्ध तरीके से पूरे देश में 10 से 15 दिनों का लॉकडाउन लगाया जाए। ताकि देश के स्वास्थ्य ढांचे सांस लेने, जनशक्ति और संसाधन की पूर्ति करने के लिए थोड़ा समय मिल जाए। लेकिन केंद्र सरकार ने हमारी एक न सुनी और आलम यह है कि आज हर दिन लगभग 4 लाख केस सामने आ रहे हैं और गंभीर रोगियों की संख्या भी 40% तक पहुंच गई है। आईएमएन ने कहा कि छिटपट रात्रि कर्फ्यू ने कुछ नहीं किया। अर्थव्यवस्था से ज्यादा जिंदगी कीमती है। संस्था ने आगे कहा कि ऑक्सीजन की कमी का संकट दिनोंदिन गहरा रहा है। इसकी कमी से बड़ी संख्या में लोग मर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: बिहारः कोरोना के चलते परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, पहले पिता की हुई मौत फिर मां ने तोड़ा दम

आईएमए ने आगे कहा कि ऑक्सीजन का उत्पादन पर्याप्त मात्रा में हो रहा है, लेकिन उसका वितरण सही नहीं हो रहा। संस्था ने नाराजगी जताते हुए मांग की कि पूरे स्वास्थ्य देखभाल प्रशासन को भारतीय चिकित्सा सेवा कैडेटों के साथ फिर से जोड़ा जाए, जो स्वास्थ्य देखभाल के प्रभावी निष्पादन के लिए तकनीकी और प्रशासनिक कौशल से अच्छी तरह वाकिफ हैं और साथ ही इस महामारी से निपटने के लिए एक नया एकीकृत मंत्रालय स्थापित किया जाए और एक ऐसा मंत्री बनाया जाए जो काम के प्रति समर्पित, सक्रिय, परोपकारी हो और आगे आकर लोगों के डर को कम करने की कोशिश करे। गौरतलब है कि पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 4,01,078 नए मामले सामने आए हैं।

English summary
IMA slams center for showing excessive lethargy in fighting Corona
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X