• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

देशभर में आज IMA के डॉक्टर्स का विरोध-प्रदर्शन, केंद्र से कर रहे हैं इस कानून की मांग

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, जून 18। देशभर में आज इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के लाखों डॉक्टर्स विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उत्तर भारत से लेकर दक्षिण भारत के राज्यों से भी डॉक्टर के प्रदर्शनों के तस्वीर सामने आ रही है। आपको बता दें कि आज इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने देशव्यापी प्रदर्शन का आह्वान किया था। एसोसिएशन की मांग है कि देशभर में डॉक्टरों और नर्सों के प्रति होने वाली हिंसक घटनाओं को देखते हुए केंद्र सरकार एक कानून लेकर आए। इसी मांग को लेकर आज डॉक्टरों का प्रदर्शन हो रहा है।

    IMA के डॉक्टर्स का आज देश भर में प्रदर्शन, केंद्र से कर रहे इस कानून की मांग | वनइंडिया हिंदी

    Doctors

    दिल्ली और तेलंगाना में डॉक्टरों का प्रदर्शन

    IMA के डॉक्टरों के प्रदर्शन का असर राजधानी दिल्ली में स्थित एम्स में भी दिखा। यहां डॉक्टरों ने पोस्टर-बैनकर लेकर अस्पताल परिसर में ही प्रदर्शन किया। वहीं तेलंगाना में भी डॉक्टर्स और नर्सों ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया।

    IMA के अलावा इन संगठनों के डॉक्टर भी हैं शामिल

    आपको बता दें कि देशभर में करीब 3.5 लाख डॉक्टर आज विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। IMA के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. जेए जयालाल ने बताया है कि उनके अलावा एसोसिएशन ऑफ फिजिशियंस ऑफ इंडिया, द एसोसिएशन ऑफ सर्जन्स ऑफ इंडिया, मेडिकल स्टूडेंट्स नेटवर्क और जूनियर डॉक्टर जैसे कई संगठन इस प्रदर्शन में शामिल हुए हैं।

    अस्पतालों में बढ़ाई जाए सुरक्षा- IMA

    आपको बता दें कि विरोध प्रदर्शन करने वाले डॉक्टरों की ये मांग है कि केंद्र सरकार हर अस्पताल में डॉक्टरों की सुरक्षा को पुख्ता करे, इसके लिए सभी अस्पतालों में सुरक्षा की सुविधाएं दी जाएं और अस्पतालों को प्रोटेक्टेड जोन घोषित किया जाए। इस मांग को लेकर आईएम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह समेत वरिष्ठ मंत्रियों को एक ज्ञापन सौंपेगा। IMA के प्रदर्शन में देश की सभी 1700 शाखाएं शामिल हैं, जिसमें अधिकतर स्टूडेंट हैं।

    इंदौर में पिछले साल डॉक्टरों पर हुई थी पत्थरबाजी

    - आपको बता दें कि कोरोना महामारी में डॉक्टरों के प्रति हिंसा की घटनाएं काफी बढ़ गई हैं और इसकी शुरुआत पिछले साल अप्रैल महीने से हुई थी, जब इंदौर के टाटपट्टी बाखल इलाके में कोरोना संक्रमितों की जांच करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पत्थरबाजी हुई थी। दरअसल, यहां सिलावटपुरा इलाके में एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत के बाद यहां जांच के लिए ये टीम पहुंची थी।

    ये भी पढ़ें: कोरोना की दूसरी लहर में अब तक 730 डॉक्टर्स की मौत, बिहार में सबसे ज्यादा डॉक्टरों की गई जानये भी पढ़ें: कोरोना की दूसरी लहर में अब तक 730 डॉक्टर्स की मौत, बिहार में सबसे ज्यादा डॉक्टरों की गई जान

    English summary
    IMA Doctors conduct protest nationwide for demand central law to protect doctors
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X