• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सीएम कमलनाथ से अपील- IIFA में फिल्मी सितारों को परोसा जाए 'कड़कनाथ मुर्गा', जानिए क्या है खासियत

|

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के इंदौर में अगले महीने होने वाले आईफा अवार्ड समारोह की तैयारियां जोरों पर हैं, आम से लेकर खास तक इस मनोरंजन से भरे कार्यक्रम का बेसब्री से इंतजार कर रहा है, ऐसे में खबर है कि कृषि विज्ञान केंद्र झाबुआ (कड़कनाथ रिसर्च सेंटर) के वैज्ञानिक आई एस तोमर ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से निवेदन किया है कि आईफा अवॉर्ड में आने वाले फिल्मी सितारों को झाबुआ की पहचान बन चुका 'कड़कनाथ मुर्गा' और 'दाल-पानिया' परोसा जाए जिससे आदिवासी अंचल के इन दो मशहूर व्यंजनों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिल सके।

 इंदौर में आईफा समारोह

इंदौर में आईफा समारोह

मालूम हो कि इंदौर में आईफा समारोह 27-29 मार्च को होने वाला है, तोमर की ओर से सीएम से विनम्रता पूर्वक अपील की गई है, इस बार के अवार्ड फंक्शन में आप बॉलीवुड सितारों को कड़कनाथ मुर्गे को परोसें क्योंकि इस चिकन में कम मात्रा में फैट और भरपूर मात्रा में प्रोटीन और आयरन होता है। इसका सीधा फायदा यहां के आदिवासियों को होगा और क्षेत्र में नये रोजगार के साधन खुलेंगे।

यह पढ़ें: Indian Idol 11: दरगाह से शुरू हुआ था सनी हिंदुस्तानी की गायकी का सफर, कंगना की फिल्म में गा चुके हैं गाना

 क्या है कड़कनाथ मुर्गे की खासियत

क्या है कड़कनाथ मुर्गे की खासियत

कड़कनाथ मुर्गों के लिए मध्यप्रदेश को जीआई टैग (भौगोलिक संकेतक) पिछले साल ही मिला है और प्रदेश में कड़कनाथ मुर्गे सबसे ज्यादा झाबुआ में ही पाये जाते हैं, कड़कनाथ मुर्गा पूरी तरह से काला होता है, भारत में ही पाए जाने वाले इस मुर्गे की मांग काफी है, इसका स्वाद से लेकर रेट तक सब कड़क है।

काले मांस वाला चिकन

कड़कनाथ भारत का एकमात्र काले मांस वाला चिकन है। रिसर्च के अनुसान सफेद चिकन के मुकाबले इसमें कोलेस्‍ट्राल का स्‍तर कम होता है। तो वहीं अमीनो एसिड का स्‍तर ज्‍यादा होता है। इसका स्‍वाद भी बायलर और देशी मुर्गे से अलग होता है।

'कालीमासी' के नाम से पुकाराते हैं कड़कनाथ मुर्गे को

'कालीमासी' के नाम से पुकाराते हैं कड़कनाथ मुर्गे को

आपको बता दें के झाबुआ जिले के आदिवासी कड़कनाथ मुर्गे को 'कालीमासी' के नाम से पुकाराते हैं। इसका मांस, खून, चोंच, अण्‍डे, जुबान और स्‍किन सबकुछ काला ही होता है। इसमें प्रोटीन की भरपूर मात्रा पायी जाती है। इसमें फैट बहुत कम होता है इसलिए हृदय और डायबिटीज रोगियों के लिए यह चिकन बहुत ही फायदेमंद माना जाता है।

कड़कनाथ मुर्गे का एक अंडा 50 रुपए का मिलता है ...

कड़कनाथ मुर्गे का एक अंडा 50 रुपए का मिलता है ...

आपको बता दें कि कड़कनाथ मुर्गे का एक अंडा जहां 50 रुपए का मिलता है तो वहीं एक मुर्गा आपको 500 रुपए में मिलेगा। तो वहीं एक दिन की चूजे की कीमत आपको 70 रुपए चुकानी होगी।

यह पढ़ें: Coronavirus: चीनी फैंस के लिए आमिर खान ने जारी किया ये Video संदेश, जानिए क्या कहा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kamal Nath authorities of Madhya Pradesh has been urged by a scientist of Krishi Vigyan Kendra Jhabua (Kadaknath Research Center) to serve the meat of Kadaknath rooster to the movie stars who attend the IIFA Awards ceremony.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more
X