• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पीएम मोदी की विपक्ष को खुली चुनौती, हिम्मत है तो घोषणा पत्र में लिखो- 370 वापस लाएंगे

|
    PM Modi की विपक्ष को खुला challenge, हिम्मत है तो लिखो- 370 वापस लाएंगे

    नई दिल्ली। महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है, इस चुनाव के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है, कांग्रेस और भाजपा दोनों ने कमर कसके इन चुनावों की तैयारी कर ली है,आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के जलगांव में लोगों को संबोधित किया और जमकर कांग्रेस और एनसीपी पर निशाना साधा, पीएम ने कहा कि सबसे पहले दोबारा से मोदी सरकार पर भरोसा जताने के लिए आप सभी का दिल से आभार व्यक्त करता हूं।

    जो काम करेगा उसी को जनता का वोट मिलेगा: पीएम मोदी

    जो काम करेगा उसी को जनता का वोट मिलेगा: पीएम मोदी

    उसके बाद मोदी ने कहा कि जो काम करेगा, उसको ही आपका विश्वास मिलेगा। यह अब सिद्ध हो चुका है, इसको लेकर देश में कोई शंका नहीं है, नए भारत का नया जोश दुनिया को भी दिखने लगा है जबकि पहले ऐसा नहीं होता था, नया भारत अपने वर्तमान को मजबूत तो कर ही रहा है, साथ ही भविष्य के लिए भी तैयारी कर रहा है।

    यह पढ़ें: MaharashtraAssemblyPolls: 370 को लेकर जो कसक थी उसे हमने उखाड़ फेंका: अमित शाह

    जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत का मस्तक है: पीएम मोदी

    5 अगस्त को आपकी भावनाओं के अनुरूप बीजेपी और एनडीए सरकार ने एक अभूतपूर्व फैसला लिया। इसके बारे में सोचना तक पहले असंभव लगता था, एक ऐसी स्थिति थी जिसमें जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के गरीबों, बहन-बेटियों, दलितों, शोषितों के विकास की संभावनाएं नहीं के बराबर थी, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख जमीन का टुकड़ा भर नहीं है, भारत का मस्तक है। आस-पड़ोस की नापाक शक्तियों की गिद्ध दृष्टि वहां शांति भंग करने की थी। तमाम सावधानियां बरतते हुए वहां की स्थिति को सामान्य बनाने का प्रयास किया गया है।

     राष्ट्रहित के फैसले पर भी राजनीति हो रही है: पीएम मोदी

    राष्ट्रहित के फैसले पर भी राजनीति हो रही है: पीएम मोदी

    आज दुर्भाग्य के साथ कहना पड़ रहा है कि हमारे देश के कुछ राजनीतिक दल, कुछ राजनेता, राष्ट्रहित में लिए गए इस निर्णय पर राजनीति करने में जुटे हैं। और ये राजनीतिक दल यहां महाराष्ट्र में भी आपके वोट लेने के लिए, आपके बीच में आ रहे हैं, आप बीते कुछ महीनों में कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं के बयान देख लीजिए, इनके नेताओं की मेल-मुलाकातें देख लीजिए। जम्मू कश्मीर और लद्दाख को लेकर जो देश सोचता है, उससे एकदम उल्टा इनकी सोच दिखती है।

    'हिम्मत है तो घोषणा पत्र में लिखो- 370 वापस लाएंगे'

    'हिम्मत है तो घोषणा पत्र में लिखो- 370 वापस लाएंगे'

    अनुच्छेद 370, 35A, तीन तलाक जैसे मुद्दों पर विपक्षी दलों को घेरते हुए पीएम ने चुनौती दी कि अगर कांग्रेस समेत विरोधियों में हिम्मत है तो वे अपने चुनावी घोषणापत्र में यह लिखकर दिखाएं कि वे इस ऐतिहासिक फैसले को पलट देंगे। मोदी ने कहा कि ये विपक्ष के घड़ियाली आंसू हैं। पाकिस्तान का नाम लिए बगैर उन्होंने कांग्रेस पर पड़ोसी देश की भाषा बोलने का भी आरोप लगाया। PM ने भाषण की शुरुआत में ही कहा कि नए भारत का नया जोश दुनिया देख रही है और मजबूती से सुन भी रही है।

    यह पढ़ें: मोहन भागवत का बड़ा बयान, कहा-विश्व में सबसे ज्यादा सुखी मुसलमान भारत में क्योंकि हम हिंदू हैं

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    PM Modi: I challenge my opponents to come with clear stand (on Article 370). If you have courage, then announce it in your election manifesto to bring back #Article370.They are shedding crocodile tears everyday.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more