• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

LAC पर चीनी युद्धाभ्यास के बीच पहुंचे एयरफोर्स चीफ, तैयारियों की समीक्षा की

|
Google Oneindia News

लेह, मई 28: पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना अपने इलाके में इन दिनों अभ्यास कर रही है। चीनी सेना के युद्धाभ्यास के बीच आज भारतीय वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया लेह पहुंचे। एयरफोर्स चीफ ने लेह में तैनात बल की परिचालन तैयारियों की समीक्षा की। सूत्रों ने कहा कि लेह हवाई अड्डे पर अधिकारियों ने प्रमुख को परिचालन तैयारियों और चीन सीमा पर चल रहे अभियानों के बारे में जानकारी दी।

IAF chief visits Ladakh to review operational preparedness
    Ranbankure: Ladakh में जल्द ही Israeli Heron Drone तैनात करेगा India | वनइंडिया हिंदी

    सूत्रों ने बताया कि, वायुसेना प्रमुख को भारतीय सेना और वहां अर्धसैनिक बलों के समर्थन में हवाई रखरखाव अभियानों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी गई। वायु सेना के लेह और थोइस में दो प्रमुख ठिकाने हैं जो इसे चीन और पाकिस्तान दोनों सीमा की देखभाल करने में मदद करते हैं। इसने न्योमा एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड और दौलत बेग ओल्डी में हवाई क्षेत्र सहित पूर्वी लद्दाख सेक्टर में अग्रिम स्थानों पर भी सैनिकों को तैनात किया है।

    इन्हीं इलाकों में चीनी सेना अभ्यास कर रही है, जिसमें उसकी वायु सेना और सेना शामिल है। इस क्षेत्र में मिग-29 लड़ाकू विमानों के साथ राफेल लड़ाकू विमान भी नियमित रूप से तैनात किए गए हैं जो लंबे समय से वहां मौजूद हैं। वायु सेना ने भी पिछले साल से सेना की मदद के लिए टैंक और पैदल सेना के लड़ाकू वाहनों को तेज गति से पहुंचाने में बड़े पैमाने पर उड़ानें भरी हैं। आईएएफ के चिनूक ने लेह और अन्य स्थानों से आगे के क्षेत्रों में सैनिकों को तेजी से पहुंचाने में मदद की।

    Aadhaar कार्डधारकों के लिए बड़ी खबर, UIDAI ने बंद कर दी ये सर्विस, जानें कैसे बनेगा आधार PVC कार्डAadhaar कार्डधारकों के लिए बड़ी खबर, UIDAI ने बंद कर दी ये सर्विस, जानें कैसे बनेगा आधार PVC कार्ड

    इस साल भी, एयरफोर्स ने सुनिश्चित किया है कि कोरोना राहत कार्य में लगे रहने के कारण उत्तरी क्षेत्रों में संचालन प्रभावित न हो। भारतीय वायुसेना मुख्यालय से ग्रुप कैप्टन मनीष कुमार ने बताया कि, संचालन का पैमाना इस बार अभूतपूर्व है। हमने लगभग 1600 उड़ानें भरी हैं, जो लगभग 3200 घंटे की उड़ान है। हमने लगभग 14,000 टन भार और लगभग 800 विषम तरल चिकित्सा ऑक्सीजन कंटेनरों को एयरलिफ्ट किया है।

    English summary
    IAF chief visits Ladakh to review operational preparedness
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X