• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Lockdown: मुझे खेद है कि लोग घरों में बंद है, लेकिन बचाव का कोई और तरीका नहीं: उद्धव

|

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी से सर्वाधिक त्रस्त राज्य महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे राज्य में तेजी से फैल रही महामारी से प्रदेशों के लोगों को घरों में रहने की नसीहत दी है। उन्होंने चीन के वुहान शहर का उदाहरण देते हुए लोगों को समझाया है कि वहां चीजें तेजी से सामान्य हुई हैं और प्रतिबंध हटाए जा रहे हैं, जो कि एक अच्छी खबर है। उन्होंने कहा कि जल्द ही महाराष्ट्र में भी चीजें सामान्य होंगी, तब तक के लिए वायरस से सुरक्षा के लिए अपने घरों में रहें।

दिल्ली: 10 दिन में तैयार हुई दुनिया की सबसे बड़ी Covid-19 केयर फैसिलिटी के बारे में सबकुछ जानिए

maharashta

बुधवार दोपहर एक के बाद एक किए दो ट्वीट में मुख्यमंत्री महाराष्ट्र ने घरों में बंद लोगों का दर्द को साझा करते हुए कहा, मैं समझता हूं कि लोग घर पर रहते हुए विभिन्न प्रकार के मुद्दों का सामना कर रहे हैं। यही नहीं, लोग घरों में बैठे-बैठे तंग हो रहे हैं। मुझे इस पर खेद है, लेकिन COVID19 को हराने के लिए घर पर रहने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

maharashtra

दूसरे ट्वीट में सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, मुझे समाचार चैनलों के माध्यम से दुनिया भर से खबर मिल रही है कि वुहान (चीन) में चीजें सामान्य स्थिति में लौट आई हैं और प्रतिबंध हटाए जा रहे हैं। यह अच्छी खबर है। इसका मतलब समय के साथ चीजें बेहतर हो सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि वायरस से सुरक्षा के लिए अभी घरों में रहने के अलावा कोई विकल्प नहीं हैं।

सोशल डिस्टेंसिंग ही एकमात्र उपाय, क्योंकि एक व्यक्ति 406 लोगों में फैला सकता है कोरोना संक्रमण!

maharashtra

गौरतलब है देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है, जो अब बढ़कर 5,375 हो गई है और 165-67 लोगों की मौत हो चुकी है। बुधवार को महराष्ट्र में 60 और नए केस मिले, जिससे अकेले महाराष्ट्र में संक्रमितों की संख्या 1078 हो गई। इनमें 44 मरीज मुंबई और 9 पुणे के हैं।

Salute to Doctors: मरीजों की जान बचाने के लिए लिए जान हथेली पर लेकर खड़े हैं डॉक्टर्स!

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में देशभर में 773 नए संक्रमित मिले है और उनमें से 35 मरीजों की मौत हुई। हालांकि इस दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित 468 मरीज ठीक भी हुए हैं। खबर के मुताबिक मुंबई के बांद्रा वेस्ट स्थित एक अस्पताल में डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ ने घटिया क्वालिटी के पीपीई किट दिए जाने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया है।

Maharashta

covid19india.org वेबसाइट के मुताबिक मंगलवार को देशभर में संक्रमण के 573 नए मामले सामने आए। महाराष्ट्र में मंगलवार को सबसे ज्यादा 150 केस बढ़े थे और गत बुधवार को महाराष्ट्र में 60 और नए मामले सामने आए हैं, जिससे महाराष्ट्र में अब कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1078 पहुंच गई है, जो कि राज्यों में सर्वाधिक है।

भारत में बढ़ सकती है लॉकडाउन की समय-सीमा, दक्षिण एशिया में तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले!

maharashtra

उल्लेखनीय है देश में महाराष्ट्र में सर्वाधिक कोरोना वायरस प्रभावित मरीज हैं। दूसरे नंबर पर दक्षिणी राज्य तमिलनाडु हैं, जहां संक्रमित मरीजों की संख्या कुल 690 पाई गई है। तीसरे नंबर है राजधानी दिल्ली है, जहां 576 मामले पाए गए हैं जबकि चौथे नंबर पर तेलंगाना हैं, जहां अब तक 404 पाए जा चुके हैं। पांचवे और छठवे नंबर पर राजस्थान और मध्य प्रदेश हैं, जहां अब तक क्रमशः 348 और 336 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई हैं।

Good News: कोरोना वैक्सीन का 14 लोगों पर सफल रहा ट्रायल, जगी उम्मीद!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In a series of tweets on Wednesday afternoon, Chief Minister Maharashtra shared the pain of people locked in their homes, saying, "I understand that people are facing different kinds of issues while staying at home." Not only this, people are getting fed up sitting in homes. I regret this, but have no choice but to stay at home to defeat COVID19.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more