• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

127 लोगों को नोटिस भेजने पर UIDAI ने दी सफाई, कहा- नागरिकता से कोई लेना-देना नहीं

|
Google Oneindia News

अहमदाबाद। UIDAI ने के हैदराबाद ऑफिस ने कथित तौर पर गलत तरीका अपनाकर आधार नंबर प्राप्त करने वाले 127 लोगों को नोटिस भेजा है। जिन लोगों को नोटिस जारी किया गया है, उनमें ज्यादातर मुस्लिम समुदाय से हैं। शुरुआत में बताया गया UIDAI ने इन लोगों को वास्तविक दस्तावेज दिखाकर नागरिकता साबित करने को कहा है। हालांकि, अब UIDAI ने साफ किया कि इसका नागरिकता से कोई संबंध नहीं है। UIDAI पुलिस से रिपोर्ट मिलने के बाद नोटिस जारी किए हैं।

    Aadhaar: UIDAI ने 127 लोगों को जारी किया Notice, अब UIDAI ने दी सफाई | वनइंडिया हिंदी

    127 लोगों को नोटिस भेजने पर UIDAI ने दी सफाई, कहा- नागरिकता से कोई लेना-देना नहीं

    UIDAI ने 3 फरवरी को जारी नोटिस में लिखा है- 'हैदराबाद में रिजनल ऑफिस को शिकायत मिली है कि आप भारत के नागरिक नहीं थे। आपने गलत जानकारी देकर और फर्जी दस्तावेज दिखाकर आधार नंबर हासिल किया है। इसलिए वास्तविक दस्तावेज के साथ रिजनल ऑफिस में पेश हों।' वहीं यूआईडीएआई की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि आधार नागरिकता का दस्तावेज नहीं है और आधार अधिनियम के तहत यूआईडीएआई को यह सुनिश्चित करना होता है कि आधार के लिए आवेदन करने से पहले कोई व्यक्ति भारत में कम से कम 182 दिनों से रह रहा है। उच्चतम न्यायालय ने अपने एक ऐतिहासिक फैसले में यूआईडीएआई को अवैध प्रवासियों को आधार नहीं जारी करने का निर्देश दिया था।

    बेटी को प्‍लेब्‍वॉय वाला ड्रेस पहना दोस्‍तों के सामने परोस देती थी मां, खुद हाथ-पैर पकड़ करवाती थी रेपबेटी को प्‍लेब्‍वॉय वाला ड्रेस पहना दोस्‍तों के सामने परोस देती थी मां, खुद हाथ-पैर पकड़ करवाती थी रेप

    नोटिस में यह दावा किया गया है कि हैदराबाद रिजनल ऑफिस काफी पहले से इस मामले की जांच कर रही है। इस संबंध में सभी 127 लोगों को 20 फरवरी को इन्क्वॉयरी ऑफिसर अमिता बिंदरू के दफ्तर में पेश होकर अपनी नागरिकता साबित करने के लिए सभी ओरिजनल डॉक्यूमेंट्स दिखाने को कहा गया है। अगर वो अपनी नागरिकता साबित नहीं कर पाए, तो ऐसी स्थिति में उनका आधार नंबर डिएक्टिवेट कर दिया जाएगा। हालांकि, नोटिस में ये नहीं कहा गया कि नागरिकता साबित करने के लिए इन लोगों को कौन से दस्तावेज दिखाने होंगे। आपको बता दें कि एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस पूरे मामले को लेकर सवाल उठाए हैं। ओवैसी ने ट्वीट कर पूछा है कि क्या यूआईडीएआई को नागरिकता का सबूत मांगने का अधिकार है?

    English summary
    Hyderabad: UIDAI clarifies, Notice sends to 127 people not on citizenship.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X