• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वेतन वृद्धि पर मैनेजमेंट से बातचीत बेनतीजा, एचएएल के 10,000 से ज्यादा कर्मचारी बेमियादी हड़ताल पर

|

नई दिल्ली। हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के 10,000 ज्यादा कर्मचारी सोमवार (14 अक्टूबर) से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठ गए हैं। वेतन बढोत्तरी की मांग पर हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स इम्पलॉयी एसोसिएशन के बैनर तले कर्मचारी हड़ताल पर हैं। कर्मचारियों ने कई दिन पहले इस हड़ताल का ऐलान कर दिया था, जिसके बाद एचएएल प्रबंधन और यूनियन के बीच मामले को खत्म करने के लिए बैठकें भी हुई लेकिन इसमें कोई नतीजा नहीं निकल सका। जिसके बाद रक्षा क्षेत्र की सार्वजनिक कंपनी एचएएल के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं।

वेतन वृद्धि पर प्रबंधन और यूनियन की बातचीत नाकाम, एचएएल के 10,000 से ज्यादा कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

कर्मचारियों का कहना है कि एचएएल के प्रबंधकर्ताओं का वेतन, कर्मचारियों के मुकाबले कई गुना ज्यादा बढ़ाया है। हम समानता की मांग कर रहे हैं और इसी को लेकर हड़ताल पर हैं। एचएएल ने कैफेटेरिया-एलाउंस बढ़ाकर 22 प्रतिशत और फिटमेंट एलाउंस 11 प्रतिशत तक करने की पेशकश की लेकिन कर्मचारी अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। यूनियनों का कहना है कि अधिकारियों की बेसिक सैलरी में 15 प्रतिशत और भत्ते में 35 प्रतिशत बढ़ोतरी की जाती है, लेकिन कर्मचारियों को बेसिक सैलरी में सिर्फ 10 प्रतिशत और भत्ते में 18 प्रतिशत बढ़ोतरी दी जाती है।

एचएएल की ओर से कहा गया है कि यूनियनों ने हठी रवैया अपनाते हुए ऑफर को स्वीकार नहीं किया और बेमियादी हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। जबकि प्रबंधन ने उनसे इस मुद्दे को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाने की अपील की थी।

ऑल इंडिया एचएएल ट्रेड यूनियन्स कोऑर्डिनेशन कमेटी और एचएएल प्रबंधन के बीच वेतन संशोधन को लेकर 2017 से विवाद चल रहा है। उस समय हुई वेतन वृद्धि पर एचएएल कर्मचारियों ने आपत्ति जताई थी। कर्मचारी 2017 में वतन को लेकर हुए समझौते को लागू करने की मांग कर रहे हैं। जिसको लेकर कर्मचारी संगठनों ने एचएएल के सभी केंद्रों को नोटिस भेजकर एक जनवरी 2017 से भत्तों के पुनर्निर्धारण की मांग के समर्थन में 14 अक्टूबर से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है।

सेनाओं के लिए लड़ाकू विमानों से लेकर हेलीकॉप्टर्स और एयरोनॉटिकल इंजन तैयार करने वाली कंपनी एचएएल की रक्षा क्षेत्र में अपनी पहचान है। देश में एचएएल के 16 मैन्युफैक्चिरिंग प्लांट और नौ रिसर्च एंड डेवलेपमेंट सेंटर्स हैं। जिनमें 30 हजार से ज्यादा कर्मचारी कार्यरत हैं। एचएएल की कॉरपोरेट हेडक्वार्टर भी बंगलुरु में है।

पीएमसी घोटाला: पूर्व एमडी जॉय पीए से शादी करने को बना था जुनैद

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hindustan Aeronautics Ltd hal employee indefinite strike demanding wage settlement 2017
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X