• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

केरल ही नहीं, यूपी-MP समेत देश के इन 16 राज्यों में 19 oct तक हो सकती है भारी बारिश

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, अक्टूबर 16: भले ही भारत के कई हिस्सों से मानसून वापस जा चुका है, लेकिन देश के कुछ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) में इन दिनों झमाझम बारिश हो रही है। केरल के पांच जिले में शनिवार को रेड अलर्ट जारी किया गया है, जबकि कम से कम सात अन्य जिलों में भी ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इस बीच, केरल के इडुक्की में भारी बारिश के चलते कई लोगों की जान चली गई, जबकि कोट्टायम में भूस्खलन की कई घटनाओं में कई लोग लापता हैं। केरल के अलावा अन्य 16 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में बारिश की भविष्यवाणी की है।

इन 16 राज्यों में बारिश का अनुमान

इन 16 राज्यों में बारिश का अनुमान

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बचाव अभियान में भारतीय वायु सेना की मदद मांगी है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने अपने नवीनतम बुलेटिन में न केवल केरल के लिए बल्कि मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख सहित 16 अतिरिक्त राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में और बारिश की भविष्यवाणी की है। वहीं केरल के इडुक्की में तेज़ बारिश की वजह से कई जगह बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। मौसम विभाग ने केरल के पठानमथिट्टा, कोट्टायम,एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर और पलक्कड़ जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है।

इन राज्यों में बन रहा है कम दवाब वाला क्षेत्र

इन राज्यों में बन रहा है कम दवाब वाला क्षेत्र

मौसम विभाग की ओऱ से जारी बयान के मुताबिक, कम दबाव के क्षेत्र के कारण उपरोक्त सभी क्षेत्रों में बारिश होगी। आईएमडी के नवीनतम बुलेटिन के अनुसार, एक कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण-पूर्व अरब सागर और उससे सटे केरल के ऊपर स्थित है। एक और कम दबाव का क्षेत्र उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और उसके आसपास के इलाकों में बना हुआ है। यह कम दबाव का क्षेत्र/अवशेष चक्रवाती परिसंचरण आमतौर पर उत्तर-पश्चिम की ओर पश्चिम उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ने की संभावना है। भारत में इन निम्न दबाव वाले क्षेत्रों के अलावा, एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान और उसके पड़ोस के दक्षिणी हिस्सों पर एक चक्रवाती परिसंचरण के रूप में स्थित है।

ये हैं सभी 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए प्रमुख आईएमडी अलर्ट

ये हैं सभी 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए प्रमुख आईएमडी अलर्ट

  • अरब सागर और केरल के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र होने के कारण दक्षिणी राज्य और पुडुचेरी में माहे में बाकी दिनों में बहुत भारी बारिश हो सकती है। दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तेलंगाना, तमिलनाडु और पुडुचेरी में भी भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।
  • आईएमडी बुलेटिन में कहा गया है कि आंध्र प्रदेश और उसके आस-पास के क्षेत्रों में कम दबाव का क्षेत्र होने के कारण, दक्षिणी राज्य के तटीय हिस्सों और छत्तीसगढ़ के बाकी हिस्सों में एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। 16 से 18 अक्टूबर के बीच ओडिशा में भी यही मौसम अलर्ट जारी किया गया है। 17 अक्टूबर को महाराष्ट्र के विदर्भ में और 17 और 18 अक्टूबर को मध्य प्रदेश में बारिश का अनुमान है।

केरल में बारिश का कहर: 3 की मौत, 10 लापता, सीएम ने मांगी वायुसेना की मददकेरल में बारिश का कहर: 3 की मौत, 10 लापता, सीएम ने मांगी वायुसेना की मदद

उत्तर प्रदेश में 17 और 18 अक्टूबर को बारिश का अनुमान

उत्तर प्रदेश में 17 और 18 अक्टूबर को बारिश का अनुमान

  • इस बीच, अफगानिस्तान में बन रहे पश्चिमी विक्षोभ के कारण 17 से 19 अक्टूबर के बीच उत्तराखंड में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होगी। आईएमडी ने हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश के लिए 17 और 18 अक्टूबर के लिए ऐसा ही मौसम अलर्ट जारी किया है। हरियाणा, चंडीगढ़ और पूर्वी राजस्थान में 17 अक्टूबर को बारिश होने की संभावना है।
  • उत्तर पश्चिम भारत के कुछ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में, 17 और 18 अक्टूबर को गरज -चमक के साथ बारिश होगी। आईएमडी बुलेटिन में कहा गया है कि 17 अक्टूबर को जम्मू और कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में और 17 और 18 अक्टूबर को उत्तराखंड में ओलावृष्टि की संभावना है।
  • उत्तर प्रदेश में, 17 और 18 अक्टूबर को 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने का अनुमान है।

English summary
heavy rain with lightning and hailstorm forecasted in 16 states/UTs till Oct 19
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X