• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दिल्ली की गर्भवती महिला का दिल दहला देने वाला आखिरी वीडियो वायरल, प्‍लीज कोरोना को हल्‍के में न लें....

|

नई दिल्‍ली, 11 मई: कोरोना वायरस की दूसरी लहर में हर दिन सैकड़ों पॉजिटिव मरीज बेमौत मर रहे हैं। सोशल मीडिया पर एक ऐसा ही वीडियो वायरल हो रहा है ये एक वीडियो दिल्‍ली की एक गर्भवती महिला का है। ये वीडियो उसकी महिला की मौत से पहले का है। जिसे उसके पति ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है। पतिरवीश चावला ने ट्विटर पर अपनी पत्नी डिंपल अरोड़ा का लास्‍ट वीडियो पोस्ट किया है वीडियो में, गर्भवती महिला लोगों को वायरस के खिलाफ चेतावनी देती नजर आ रही है और अनुरोध करती है कि वे इसे हल्के में न लें।

woman

मैं नहीं चाहती किसी की भी ऐसी कंडीशन हो

इस वीडियो में डिंपल अरोड़ा जो सांस ठीक से नहीं ले पा रही है कहती हुई सुनाई दे रही है कि "कोरोना को हल्के में मत लो ... बुरे लक्षण ... मैं बोलने में सक्षम नहीं हूं। कृपया अपने मास्क पहनें जब आप अपने निकट और प्रिय लोगों की सुरक्षा के लिए लोगों के साथ बातचीत करते हैं तो अवश्‍व मास्‍क पहने। मैं उम्मीद करती हूं कि ऐसी हालत किसी की भी न हो। खासतौर से प्रेग्नेंसी के दौरान। मैं नहीं चाहती किसी की भी ऐसी कंडीशन हो। प्लीज अपने परिवार को बताइए । मैं वास्तव में प्रार्थना करती हूं कि कोई भी इस बीमारी की चपेट में न आए। कृपया बेपरवाह न बनें क्योंकि आपके घर पर बुजुर्ग , गर्भवती महिलाएं, बच्चे हैं। मैं हमेशा काम करना चाहती हूं। डिम्पल कहती है मैं इतना सक्रिय थी लेकिन मेरा शरीर अब साथ नहीं दे रहा है।

मदर्स डे पर पति ने पत्‍नी का ये आखिरी वीडियो किया शेयर

डिंपल ने अपनी गर्भावस्था के सातवें महीने में वायरस की चपेट में और अपने अजन्मे बच्चे को खोने के एक दिन बाद 26 अप्रैल को हालत बिगड़न के कारण मौत हो गई। उसके गर्भ में बच्चे की मृत्यु हो गई, जिसके बाद डॉक्टरों को उसका ऑपरेशन करना पड़ा दीपिका के पति रवीश ने ये वीडियो 9 मई को ट्विटर पर शेयर किया था. 9 मई को ही मदर्स डे भी था! रवीश ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, "वो पूरी तरह से मदरहुड को समर्पित थी इसलिए वो अपने अजन्‍में बच्‍चे के साथ भगवान के पास चली गई और मेरे पास मेरा साढ़े तीन साल का बेटा छोड़ गई। हैप्‍पी मदर्स डे।

साढ़े तीन साल का बेटा मां की याद में हुआ चुप

रवीश चावला ने बताया मां की मौत के बाद मेरा बेटा शांत हो गया है। मेरे बेटे की कोरोना पॉजिटिव आई है। मेरे पिता हार्ट पेसेन्‍ट हैं इसलिए मैं दूसरे घर में बेटे के साथ शिफ्ट हो गया था। चावला ने लिखा मेरा बेटा उसकी माँ अस्पताल में भर्ती थी, तो वह लोगों को भगवान से प्रार्थना करते हुए देखती थी और कहती थी, 'भगवान, प्‍लीज मेरी मम्मा का इलाज करें'। वो अब टूट चुका है उसने हमसे पूछना भी बंद कर दिया है कि वह कब वापस आएगी। ऐसा लगता है जैसे वह जानता है। कभी-कभी, वह उसके बारे में पूछता है लेकिन ज्यादातर समय चुप रहता है जब वह हमारे परिवार की तस्वीर देखता है।

डिंपल ने कोरोना से बचाव के लिए किए सारे उपाय

डिंपल पब्लिक हेल्थ डेंटिस्ट्री में एमडीएस थीं और उन्होंने कोरोनोवायरस के खिलाफ हर संभव सावधानी बरती, चावला ने कहा, वह दो या तीन मास्क पहनती हैं और कभी-कभी पीपीई किट भी जब वह गर्भावस्था के दौरान बाहर निकलती हैं।चावला ने कहा, "वह हमेशा कहती है, 'मैं अपनी गर्भावस्था के दौरान वायरस की चपेट में नहीं चाहती थी। डिंपल ने 11 अप्रैल को रैपिड एंटीजन टेस्ट के माध्यम से सकारात्मक परीक्षण किया। कुछ दिनों के बाद, यहां तक ​​कि उनका आरटीपीसीआर परीक्षण भी सकारात्मक आया। मेरा बेटा तो दवा लेने के एक सप्ताह के भीतर ठीक हो गया लेकिन डिंपल को तेज बुखार और खांसी थी, जो घरघराह भी हो रही थी। पति ने कहा कि उन्होंने बहुत अधिक दवा नहीं ली और यहां तक ​​कि सीटी स्कैन और एक्स-रे कराने से भी परहेज किया क्योंकि उन्हें लगा कि इससे बच्चे को नुकसान हो सकता है।

अजन्‍में बच्‍चे को लेकर बहुत चिंतित थी डिंपल

"हम बहुत निश्चित थे कि उसकी सेहत और इच्छाशक्ति को देखते हुए, हम आसानी से वायरस को हरा देंगे। लेकिन यह नहीं हुआ। । वह बच्चे को लेकर बहुत चिंतित थी और उसने कुछ दवाएँ नहीं लेने का फैसला किया। हम भी नहीं मिल सके। चावला ने कहा कि उसके सीने का सीटी स्कैन होने से उसे डर था कि विकिरण से बच्चे को नुकसान हो सकता है। उसे लगातार बुखार था और कुछ दिनों बाद उसका ऑक्सीजन स्तर अचानक गिर गया और हम उसे फरीदाबाद के एक अस्पताल ले गएअस्पताल में, उसे रेमेडीसविर और प्लाज्मा थेरेपी दी गई, लेकिन 25 अप्रैल को उसके पेट में दर्द हुआ और अल्ट्रासाउंड में पता चला कि उसने अपना बच्चा खो दिया है।

नवजात की मौत का सदमा बर्दास्‍त नहीं कर पाई डिंपल, कोरोना ने लील ली जान

ऑपरेशन के बाद, वह बच्चे के बारे में पूछती रही। शुरुआत में, मैंने उसे बताया कि बच्चा आईसीयू में था और मुझे बच्चे की स्थिति के बारे में नहीं पता था, लेकिन उसके ऑक्सीजन का स्तर गिरना शुरू हो गया। फिर मुझे उससे झूठ बोलना पड़ा। मैंने उससे कहा कि उसने एक बच्चे को जन्म दिया था, और वह एनआईसीयू में थी, "चावला ने कहा, उसने कहा कि वह इस बार एक बच्ची चाहती थी लेकिन फिर भी खुश थी" तुरंत उसका O2 के स्तर में वृद्धि हुई लेकिन अगले दिन, हमने उसे खो दिया। वह मरना नहीं चाहती थी। रवीश चावला ने कहा कि वह चाहते थे कि उनका बेटा यह जान सके कि उसकी माँ एक बहादुर महिला थी। तब भी उसने बहादुरी दिखाई तब भी जब वह दर्द में थी, वायरस के खिलाफ सभी को सावधान करना चाहती थी।

English summary
heartbreaking video of a pregnant woman of Delhi goes viral, please don't lightly corona, do not be careless
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X